देश में दंगे-फसाद होने लगे तो जिम्मेदार प्रधानमंत्री होंगे: मायावती

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। बसपा सुप्रीमो मायावती ने एक बार फिर नोटबंदी के लिए पीएम मोदी पर निशाना साधा है। मायावती ने कहा कि यूपी चुनाव में फायदा उठाने की गरज से लिया गया ये फैसला अब प्रधानमंत्री को उल्टा पड़ रहा है।

mayawati

मायावती ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर यूपी में सत्तारूढ़ सपा और पीएम मोदी पर जमकर हमला बोला। उन्होंने पीएम पर नोटबंदी को लेकर जबकि सपा पर कानून व्यवस्था और आगरा-लखनऊ का बनने से पहले ही उद्घाटन करने को लेकर आलोचना की है।

मायावती ने कहा कि नोटबंदी ने लोगों को बेहद मुश्किल में डाल दिया है, हालात बहुत खराब हैं। उन्होंने कहा कि देश में हालात ज्यादा बिगड़ते हैं और दंगा-फसाद हो जाता है, तो इसके लिए जिम्मेदार प्रधानमंत्री होंगे।

मायावती ने कहा कि नोटबंदी का फैसला कर भाजपा उत्तर प्रदेश के चुनाव में लाभ लेना चाहती थी लेकिन इस फैसले ने देश में आर्थिक आपातकाल लगा दिया है। उन्होंने कहा कि भाजपा बसपा पर लगातार कई तरह के आरोप लगा रही है क्योंकि भाजपा को बसपा से चुनाव में हार तय दिख रही है।

मायावती ने कहा कि प्रधानमंत्री बार-बार भावुक हो जा रहे हैं, आंसू बहाने लगते हैं, ये जनता को ब्लैकमेल करना नहीं तो और क्या है। मायावती ने कहा कि पीएम जगह-जगह रो रहे हैं जबकि विपक्ष सदन में उनसे जवाब चाहता है, लेकिन वो वहां बोलने को तैयार नहीं हैं।

बसपा मुखिया ने कहा कि पीएम कहते हैं उन्होंने देश के लिए घर-परिवार सबकुछ छोड़ दिया तो ये अच्छी बात है लेकिन इसका ये मतलब तो नहीं कि वो देश के लोगों को परेशान करेंगे।

मायावती ने कहा कि भाजपा इस समय बसपा से घबराई हुई है क्योंकि सपा से लोग उकता चुके हैं और कांग्रेस ऑक्सीजन पर चल रही है। ऐसे में उत्तर प्रदेश चुनाव में बसपा और भाजपा में ही मुकाबला है।

अखिलेश को मायावती ने फिर कहा बबुआ

समाजवादी पार्टी की नीतियों और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर भी मायावती ने जमकर जुबानी तीर चलाए, मायावती ने अखिलेश को एक बार फिर बबुआ कहा। उन्होंने कहा कि बबुआ जल्दीबाजी में गलत फैसले ले रहे हैं।

उन्होंने कहा कि सपा का बबुआ जमीन पर कोई काम नहीं कर रहा है, बस विज्ञापन देकर जनता को गुमराह कर रहा है। उन्होंने कहा कि पूरा बनने से पहले ही आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे का उद्घाटन कर देना सपा के बबुआ की हड़बड़ी को दिखाता है।

मायावती ने उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था ठप होने और गरीब आदमी की कहीं सुनवाई ना होने का आरोप सपा सरकार पर लगाया। मायावती ने कहा कि प्रदेश की जनता अब सिर्फ बसपा की तरफ उम्मीद से देख रही है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Mayawati says DeMonetisation move has brought nothing but economic emergency
Please Wait while comments are loading...