यूपी में आतंक मचानेवाला डी 9 गैंग के सरगना को पुलिस ने किया ढेर

Subscribe to Oneindia Hindi

आजमगढ़। उत्तर प्रदेश में आजमगढ़ जनपद में डीजीपी के दौरे के ठीक पहले पुलिस के हाथ बड़ी कामयाबी लगी। विभिन्न जनपदों में आतंक का पर्याय बन चुका डी-9 गैंग का वर्तमान सरगना व भाडे़ का हत्यारा सुजीत सिंह उर्फ बुढ़वा को पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया है। उसके ऊपर 50 हजार रुपये का इनाम घोषित था। इस घटना में मुबारकपुर थानाध्यक्ष अनूप शुक्ला भी गोली लगने से घायल हुए। मुठभेड़ में घायल एसओ और सिपाही को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। आरोपी पर 3 दर्जन से अधिक मुकदमे दर्ज थे।

Read Also: शाहजहांपुर में एक और रेल हादसा, वाहन से हुई टक्कर, 1 की मौत

पुलिस अभिरक्षा से चल रहा था फरार

पुलिस अभिरक्षा से चल रहा था फरार

सुजीत सिंह उर्फ बुढ़वा को गिरफ्तार कर जनपद-रामपुर कारागार में रखा गया था। 11 अगस्त को रामपुर पुलिस द्वारा उसे जनपद-मउ से पेशी कराकर वापस जनपद-रामपुर ले जाया जा रहा था कि आजमगढ़ जिले के अतरौलिया थाना क्षेत्र के बुढ़नपुर कस्बे से पुलिस को झांसा देकर भाग निकला। सुजीत सिंह उर्फ बुढ़वा के ऊपर विभिन्न जनपदों में तीन दर्जन से अधिक मुकदमें पंजीकृत थे और जेल में रहते हुए भी यह व्यवसायियों से रंगदारी मांगता था जिसके कारण इसका कई बार प्रशासनिक आधार पर विभिन्न जेलों में स्थानान्तरण भी किया जाता रहा है। इसका मउ, आजमगढ़, जौनपुर, बलिया, गाजीपुर आदि जनपदों के व्यापारियों एवं आम व्यक्तियों में काफी भय व्याप्त था। इसकी गिरफ्तारी के लिए एसटीएफ सहित कई जनपदों की पुलिस तलाश में लगी हुयी थी। पुलिस अभिरक्षा से फरार होने के बाद पुलिस अधीक्षक आजमगढ़ अजय कुमार साहनी द्वारा जनपद से थाना प्रभारियों, स्वॉट व सर्विलांस की कई टीमें बनाकर उसकी गिरफ्तारी का लगातार प्रयास किया जा रहा था। साथ ही पड़ोसी जनपदों की पुलिस भी सक्रिय थी।

पुलिस पर फायरिंग कर भाग रहा था बदमाश

पुलिस पर फायरिंग कर भाग रहा था बदमाश

पुलिस द्वारा वाहन चेकिंग का सघन अभियान चलाया जा रहा था। चेकिंग के दौरान एक मोटरसाइकिल पर दो व्यक्ति दिखे जिसमें एक व्यक्ति हेलमेट पहने हुए था, उनको रोका गया तो उसने अचानक पुलिस पर फायर कर दिया जो गोली आरक्षी आनन्द कुमार सिंह को जा लगी। मोटरसाइकिल सवार दोनों व्यक्ति पुल से शंकर तिराहा सिधारी होते हुए सठियांव की तरफ भागने लगे। प्रभारी कोतवाली ने जनपद नियंत्रण कक्ष को अवगत कराते हुए उसका पीछा किया। घायल आरक्षी को चौकी प्रभारी रोडवेज द्वारा तत्काल इलाज हेतु अस्पताल ले जाया गया। नियंत्रण कक्ष द्वारा प्राप्त सूचना पर थानाध्यक्ष जहानागंज, प्रभारी निरीक्षक सिधारी, थानाध्यक्ष मुबारकपुर, स्वॉट टीम आदि को अर्लट करते हुए जगह-जगह घेराबंदी कर चेकिंग प्रारम्भ कर दी गई। इसी दौरान भागते हुए दोनों अभियुक्तों की प्रभारी निरीक्षक कोतवाली, प्रभारी थाना मुबारकपुर, थानाध्यक्ष जहानागंज व स्वॉट टीम ने घेराबंदी की तो वे मुबारकपुर के ग्राम-गजहरा स्थित नव निर्मित कांशीराम आवास में घुस गये। वहीं से लगातार पुलिस पर फायर करते रहे। मुठभेड़ में प्रभारी थाना मुबारकपुर अनूप शुक्ला एवं स्वॉट टीम के आरक्षी अवधेश कुमार सिंह गोली लगने से घायल हो गये।

इलाज के दौरान हुई मौत

इलाज के दौरान हुई मौत

इसके बावजूद पुलिस बल ने लगातार एनकाउंटर जारी रखा जिससे एक बदमाश दो गोली लगने से घायल हो गिर पड़ा जबकि दूसरा बदमाश भागने में सफल रहा। घायल अभियुक्त की पहचान सुजीत सिंह उर्फ बुढ़वा पुत्र कमलेश सिंह, निवासी- अल्देमऊ, थाना- चिरैयाकोट, जनपद- मऊ के रूप में हुयी। घायल अवस्था में जिला अस्पताल ले जाते समय उसने बताया कि थाना-अतरौलिया के बुढ़नपुर से भागने के बाद अपने साथी लालजीत यादव पुत्र शिवचन्द यादव, निवासी-छत्तरपुर, थाना-सिधारी, आजमगढ़ के साथ तरवा में मोटरसाईकिल लूट, जनपद-मउ के सराय लखन्सी में एसबीआई ग्राहक सेवा केन्द्र में लूट, जनपद-जौनपुर के गौराबादशाहपुर में अपाची लूट व मडियाहूं में बैंक लूटने का प्रयास तथा जनपद-आजमगढ़ के रौनापार में मोटरसाइकिल लूट की बात बताई। इलाज के दौरान सुजीत उर्फ बुढ़वा को जिला चिकित्सकों द्वारा मृत घोषित कर दिया गया।

पूर्वांचल में डी 9 का बना हुआ था आतंक

पूर्वांचल में डी 9 का बना हुआ था आतंक

आजमगढ़ पुलिस द्वारा इस शातिर बदमाश को मुठभेड़ में ढेर किए जाने से उत्तर प्रदेश के विशेषकर पूर्वांचल के व्यापारियों व आम जनता ने राहत की सांस ली है। एसपी अजय साहनी ने बताया कि डी 9 गैंग के सरगना धमेंद्र के मारे जाने के बाद से इसी ने अपने गैंग की कमान संभाल रखी थी। लगातार लूट, छिनैती, हत्या व रंगदारी की कई घटनाओं को अंजाम देकर यह पुलिस की नाक में दम किए हुए था। इसके मारे जाने के बाद से पुलिस ने राहत की सांस ली है।

Read Also: गुड और बैड टच के बारे में बता देती है यह 4 साल की बच्ची

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Chief of D 9 gang in UP killed in police encounter in Azamgarh, Uttar Pradesh.
Please Wait while comments are loading...