• search
उत्तर प्रदेश न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

चुनाव से पहले कांग्रेस ने चला महिलाओं को 40 फीसदी टिकट देने का सियासी दांव, जानिए क्या है इसके मायने

|
Google Oneindia News

लखनऊ, 19 अक्टूबर: उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस ने बड़ा दांव खेला है। कांग्रेस ने वादा किया है कि वह आने वाले विधानसभा चुनाव में महिलाओं को 40 फीसदी टिकट देगी। इसका मतलब यह है कि यूपी की 403 विधानसभा सीटों में से करीब 160 सीटें महिलाओं के खाते में जाएंगी लेकिन क्या कांग्रेस को इतनी बड़ी संख्या में योग्य महिलाएं चुनाव में उतरने के लिए मिल पाएंगी या कांग्रेस का यह दांव पूरी तरह से सियासी है। इसका रिजल्ट तो बाद में देखने को मिलेगा लेकिन एक बात तो तय है कि इससे विरोधियों की नींद तो उड़ ही गई है। हालांकि बसपा सुप्रीमो मायावती ने एक चुनावी स्टंट करार दिया है।

प्रियंका गांधी

दरअसल, प्रियंका ने मंगलवार को लखनऊ पहुंची थीं। बताया जा रहा है कि वह पांच दिनों तक लखनऊ रहेंगी और कांग्रेस की प्रतिज्ञा यात्रा को लेकर रोडमैप तैयार किया जाएगा क्योंकि पहले ही दो बार उनकी यह यात्राएं टल चुकी हैं। हालांकि यहां आते ही प्रियंका ने बड़ा धमाका किया। प्रियंका ने साफतौर पर ऐलान किया कि कांग्रेस 40 फीसदी महिलाओं को टिकट देगी। हालांकि उन्होंने यह स्पष्ट किया कि ये अन्य राज्यों में भी लागू होगा या नहीं इसका फैसला आलाकमान करेगा।

    UP Election 2022: Priyanka Gandhi का ऐलान- 40% टिकट women को देगी Congress | वनइंडिया हिंदी

    मुख्यमंत्री चेहरे के सवाल को टाल गईं प्रियंका
    उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार और क्या वह चुनाव लड़ेंगी, इस बारे में सवालों को टाल दिया। प्रियंका ने कहा कि "इन मुद्दों पर बाद में फैसला किया जाएगा और हम आपको बताएंगे," उसने कहा। अपने ऊपर विपक्ष के हमले के बारे में बात करते हुए, प्रियंका ने कहा, "जब वे मुझ पर हमला करते हैं तो अन्य दलों को और अधिक रचनात्मक होना चाहिए। राजनीतिक पर्यटक और ट्विटर नेता बासी हो गए हैं।"

    प्रियंका

    वरिष्ठ राजनीतिक विश्लेषक मनीष हिन्दवी कहते हैं कि,

    '' कांग्रेस के पास खोने के लिए कुछ नहीं बचा है। वह विपक्ष पर दबाव बनाना चाहती है और इस लिहजा से प्रियंका का यह मास्टर स्ट्रोक ही है। हालांकि खुद प्रियंका को भी पता होगा कि इससे कुछ ज्यादा होने वाला नहीं हैं। यूपी में 40 फीसदी टिकट यानी 160 सीटों पर महिलाओं को टिकट देने की बात हजम नहीं हो पाएगा। हालांकि पिछली बार का इलकेक्शन में वोटिंग प्रतिश पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं का डेढ प्रतिशत ज्यादा था। महिलाओं का वोटिंग पैटर्न अलग है। आप ये भी कह सकते हैं कि ये महिलाओं में पैठ बनाने की कोशिश है। कांग्रेस यूपी में 100 मजबूत प्रत्याशी लड़ा दे वही बहुत है। उनको तो केवल खेल खेलना है और मजबूत खेल खेला है। इससे दूसरी पार्टियों पर दबाव बढ़ेगा। ''

    ब्लॉक और बूथ स्तर की कमेटियों को मजबूत करने पर जोर
    प्रियंका पिछले कुछ महीनों से लगातार राज्य का दौरा कर रही हैं और पार्टी कार्यकर्ताओं से मुलाकात कर रही हैं. अब वह चुनाव होने तक स्थायी रूप से अपना आधार लखनऊ स्थानांतरित करने के लिए तैयार हैं। प्रियंका कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संदेश देना चाहती हैं कि पार्टी नेतृत्व अपनी पुनरुद्धार योजनाओं के बारे में गंभीर है और अगला विधानसभा चुनाव पूरी ताकत से लड़ना चाहता है। प्रियंका ने पार्टी कार्यकर्ताओं से ब्लॉक स्तर पर पार्टी को मजबूत करने, कमेटियां बनाने और जनता तक पहुंचने को कहा है।

    प्रियंका

    यूपी प्रभारी के नाते लिया है यह फैसला
    यह पूछे जाने पर कि क्या महिलाओं के लिए 40 फीसदी आरक्षण का यही फॉर्मूला पंजाब समेत कांग्रेस शासित राज्यों में भी लागू किया जाएगा, प्रियंका ने कहा, 'मैं यूपी की प्रभारी हूं और हमने यहां यह फैसला लिया है। अगर वे (पंजाब) सूत्र को लागू करने के लिए आपका स्वागत है।" उन्होंने कहा कि महिलाओं को जाति के आधार पर विभाजित किया जा रहा है जिससे न्याय के लिए उनकी लड़ाई कमजोर हो गई है।

    नेताओं की पत्नियां भी लड़ सकती हैं चुनाव
    प्रियंका ने कहा कि, "एक महिला का संघर्ष केवल गैस सिलेंडर या 2,000 रुपये तक सीमित नहीं है। यह उससे भी आगे जाता है। हमें जातिवाद और सांप्रदायिकता की बेड़ियों से ऊपर उठकर एक समूह के रूप में एक साथ आना होगा। प्रियंका से जब पूछा गया कि क्या नेताओं की पत्नियां और बेटियां इस आरक्षण का लाभ नहीं उठाएंगी, तो उन्होंने कहा कि इसमें गलत क्या है अगर इससे सशक्तिकरण होता है। अमेठी में, एक गांव प्रधान की पत्नी ने चुनाव लड़ा और चुनाव जीता। कुछ महीनों के बाद, वह मिले मैंने और कहा कि उनकी पत्नी ने भी घर में निर्णय लेना शुरू कर दिया है। यह सशक्तिकरण है।

    कांग्रेस के चुनाव प्रचार अभियान में निभा रही हैं अहम भूमिका
    वह चुनावों और संभावित गठबंधनों और रणनीतियों के लिए उम्मीदवार के चयन में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगी। लखीमपुर खीरी हिंसा के बाद जनता की राय के बाद, प्रियंका जमीन पर लोगों से जुड़ना चाहती हैं। इससे पहले शनिवार को, कांग्रेस कार्य समिति, हिस्से में सर्वोच्च निर्णय लेने वाली संस्था, ने घटना पर प्रियंका के रुख की सराहना की। 2017 के विधानसभा चुनावों में, कांग्रेस ने समाजवादी पार्टी के साथ चुनावी मैदान में प्रवेश किया था। हालांकि पार्टी को महज 7 सीटों पर जीत मिली थी।

    यह भी पढ़ें-पूर्वांचल एक्सप्रेस वे की यह भी पढ़ें-पूर्वांचल एक्सप्रेस वे की "चुनावी ब्रांडिंग" में जुटी सरकार, जानिए क्या है 40 विधानसभा सीटों को साधने की गणित

    Comments
    English summary
    Before the elections, the Congress played a political bet to give 40 percent tickets to women, know what it means
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X