• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

Fifa World Cup 2022 :ईरान के खिलाफ इंग्लैंड का दे दनादन, शुरू से हावी रहे अंग्रेज

Google Oneindia News

21 नवम्बर 2022, कतर। विश्व कप फुटबॉल में इंग्लैंड का ईरान से मैच। मैच के 35वें मिनट में इंग्लैंड के जूड वेलिंघम ने हेडर से शानदार गोल किया। 19 साल के इस उभरते खिलाड़ी ने शानदार खेल दिखाया। विश्वकप के अपने डेब्यू मैच में ही वेलिंघम ने गोल करने का कारनामा किया। 43वें मिनट में ईरान के गोलपोस्ट के आगे बुकायो साका को गेंद मिली। उनके सामने इरान के कई डिफेंडर मौजूद थे। लेकिन साका ने बेहद सधा हुआ ऊंचा किक लगाया। गेंद हवा में तैरती हुई गोलपोस्ट में समा गयी। तीन मिनट बाद ही इंग्लैंड ने फिर एक मूव बनाया। 46वें मिनट में कप्तान हैरी केन ने एक क्रॉस पास दिया जिसे रहीम स्टर्लिंग ने आसानी से गोल में तब्दील कर दिया। पहले हाफ में 14 मिनट का अतिरिक्त समय जोड़ा गया। (जब खिलाड़ी के घायल होने पर या अन्य कारण से जितना समय बर्बाद होता है तो उसे मैच में जोड़ा जाता है) हाफ टाइम तक इंग्लैंड ईरान पर 3-0 की बढ़त बना चुका था।

England vs FIFA

इंग्लैंड ने लगायी गोल की झड़ी

हाफ टाइम के बाद 62 वें मिनट में बुकायो साका ने अपना दूसरा और टीम के लिए चौथा गोल किया। इंग्लैंड ने मुकाबला बिल्कुल एकतरफा बना दिया था। लेकिन तीन मिनट बाद ही ईरान के स्ट्राइकर मेहदी तरेमी अपनी टीम के लिए पहला गोल किया। इंग्लैंड के रैशफोर्ड बदलाव के रूप में मैदान पर आये। उन्होंने साका को रिप्लेस किया। आने के दो मिनट बाद ही उन्होंने बेहतरीन ड्रिब्लिंग करते हुए टीम के लिए पांचवां गोल किया। इंग्लैंड का पांचवां गोल 71वें मिनट में आया। हाफ टाइम के बाद भी इंग्लैंड पूरी तरह मैच पर छाया रहा। 75वें मिनट ने इंग्लैंड के कप्तान हैरी केन मैदान से बाहर चले गये। उनकी जगह विल्सन मैदान पर उतरे। ग्रेलिस ने स्टर्लिंग को रिप्लेस किया। इंग्लैंड ने कई अहम बदलाव किये ताकि उसके प्रमुख खिलाड़ी अगले मैचों के लिए फिट रहें।

6-2 से जीता इंग्लैंड

दूसरी तरफ मैच के आखिरी लम्हों में ईरान ने अपने पांच खिलाड़ी बदले। इंग्लैंड की तरफ से स्थानापन्न खिलाड़ी ग्रिलिश ने 90वें मिनट में टीम के लिए छठा गोल किया। छह गोल करने के साथ ही इंग्लैंड ने 2018 के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली। चार साल पहले उसने पनामा के खिलाफ भी 6 गोल किये थे जो कि विश्वकप में किसी टीम के खिलाफ उसका सर्वाधिक गोल है। 90 मिनट का खेल पूरा होने के बाद 13 मिनट का इंजुरी टाइम और जोड़ा गया। मैच खत्म होन से कुछ क्षण पहले ईरान को पेनल्टी मिला जिस पर मेहदी तरेमी ने गोल कर दिया। इस तरह इंग्लैंड ने इस मैच को 6-2 से जीत लिया और उसे तीन अंक मिले।

शुरू से इंग्लैंड हावी

मैच शुरू होते ही इंग्लैंड ने ईरान पर दबदबा बना लिया। पहले तीन मिनट तक गेंद पूरी तरह इंग्लैंड के नियंत्रण में रही। दूसरी मिनट में इंग्लैंड को कॉर्नर मिल गया। लेकिन ये कॉर्नर किक बेकार चली गयी। करीब पांच मिनट के खेल के बाद इंग्लैंड ने दूसरा हमला बोला। कप्तान हेरी केन के क्रॉस पास को ईरान के गोलकीपर ने शानदार बचाव किया। गेंद उनकी उंगलियों से से छू गयी जिससे उसकी दिशा बदल गयी। इसकी वजह से इंग्लैंड के खिलाड़ी समय पर हेड नहीं ले सके और ईरान के गोल पोस्ट से खतरा टल गया। लेकिन इस कोशिश में ईरान के गोलकीपर अली रजा घायल हो गये और उन्हें मैदान छोड़ना पड़ा। करीब पांच मिनट तक खेल बाधित रहा। खेल शुरू हुआ तो ईरान ने 20 वें मिनट में काउंटर अटैक किया। लेकिन इसके बाद पहले हाफ में ईरान तीन-चार मूव ही बनाये। हाफ टाइम तक इंग्लैंड को चार कॉर्नर मिल चुके थे। इससे मैच पर उसकी पकड़ का अंदाजा लगाया जा सकता है।

इंग्लैंड है कप का दावेदार

इंग्लैंड दुनिया में पांचवें नम्बर की फुटबॉल टीम है जब कि ईरान की टीम 20वें पायदान पर खड़ी है। वरियता के हिसाब दोनों के खेल में बहुत अंतर है। इंग्लैंड को 2022 के विश्वकप को जीतने का एक प्रमुख दावेदार है। वह 1966 में एक बार विश्वकप जीत चुका है। 1990 और 2018 में इंग्लैंड सेमीफाइनल तक पहुंचा था। 1990 में तीसरे स्थान के लिए हुए मैच में इटली ने उसे 2-1 से हरा दिय़ा था। 2018 के सेमीफाइनल में वह क्रोएशिया से 2-0 से हार गया था। फिर तीसरे स्थान के लिए हुए मैच में बेल्जियम ने भी उसे 2-0 से हरा दिया था। यानी दोनों ही बार उसे चौथा स्थान मिला था। दूसरी तरफ ईरान ने अब तक पांच बार विश्वकप खेला है और हर बार वह पहले राउंड के बाद प्रतियोगिता से बाहर हो गया है। पांच विश्वकप खेलने के बाद उसके खाते में केवल 2 जीत ही दर्ज है।

पिछले पांच मैचों में इंग्लैंड एक भी नहीं जीता था

विश्व कप फुटबॉल प्रतियोगिता में पहली बार इंग्लैंड और ईरान के बीच भिड़ंत हुई थी। इस मैच के पहले इंग्लैंड के पिछले पांच मैच अच्छे नहीं रहे थे। इन पांच मैचों में उसे तीन ड्रॉ खेलना पड़ा था और दो में हार मिली थी। यानी इंग्लैंड पिछले पांच मुकाबलोंमें कोई मैच नहीं जीत पाया था। इस साल यूईएफए नेशनंस लीग प्रतियोगिता में इंग्लैंड ने बहुत निराशाजनक प्रदर्शन किया था। उसे छह मैचों में से एक में भी जीत नहीं मिली थी। उसे हंगरी ने दो मैच और इटली ने एक मैच में हराया था। बाकी तीन मैच ड्रॉ रहे थे। इंग्लैंड की उम्मीद उसके स्टार स्ट्राइकर हैरी केन थे। 2021 में उन्होंने 16 मैचों में 16 गोल किये थे।

पिछले पांच मैचों में ईरान की दो में जीत

दूसरी तरफ ईरान पिछले पांच मैचों में दो जीत, दो हार और एक ड्रॉ के साथ विश्वकप खेलने पहुंचा था। विश्वकप क्वालिफाई करने के लिए ईरान ने 10 मैच खेले थे जिसमें से वह 8 जीतने में सफल रहा था। ईरान अपने तेज-तर्रार स्ट्राइकर मेहदी तरेमी पर आश्रित था। इस मैच के पहले मौजूदा सीजन में उनके नाम पर 11 गोल दर्ज हैं। दो महीना पहले ही ईरान ने पूर्व वर्ल्ड चैंपियन उरुग्वे को 1-0 से हराया था। यह विजयी गोल मेहदी तरेमी ने किया था। तरेमी पुर्तगाल के पोर्टो क्लब से खेलते हैं। उनकी गिनती अभी दुनिया के 8 सर्वश्रेष्ठ स्ट्राइकरों में होती है। इंग्लैंड के खिलाफ भी उन्होंने 2 गोल किये।

फीफा विश्व कप 2022: कतर के नाम जुड़ा एक शर्मनाक रिकॉर्ड, इतिहास में पहली बार ओपनिंग मैच में हारा मेजबान देशफीफा विश्व कप 2022: कतर के नाम जुड़ा एक शर्मनाक रिकॉर्ड, इतिहास में पहली बार ओपनिंग मैच में हारा मेजबान देश

Comments
English summary
FIFA World Cup 2022: England beat Iran by 6-2 in world cup
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X