• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

'भारत विदेशों में T20 लीग खेल ले, खिलाड़ियों का डरपोकपन तब भी खत्म नहीं होगा'- लेहमान

Google Oneindia News

भारतीय क्रिकेट टीम को टी20 वर्ल्ड कप में कई मौकों पर धीमी बैटिंग करते हुए देखा गया। खासकर विराट कोहली ने लगातार रन बनाने के बावजूद धीमी रफ्तार दिखाई है और बताया है कि यह धीमापन अब परमानेंट उनके गेम का हिस्सा बन चुका है। ये टी20 क्रिकेट की डिमांड के विपरीत है। कई बार बाबर और रिजवान को धीमा खेल दिखाते हुए पाया गया है। कोहली समेत ये बड़े बल्लेबाज धीमापन इसलिए दिखाते हैं ताकि बाद में जमने के बाद बड़े शॉट्स के जरिए स्ट्राइक रेट कवर कर लिया जाए लेकिन ऐसा बहुत कम बार हो पाता है कि धीमी पारी का अंत बाद में भला हो गया। इसलिए ऑस्ट्रेलिया के पूर्व विश्व कप विजेता डैरेन लेहमैन ने इंग्लैंड के खिलाफ सेमीफाइनल में भारतीय टीम को बहुत डरपोक बताया है।

भारत के पास टी 20 विश्व कप 2022 को जीतने का मौका था

भारत के पास टी 20 विश्व कप 2022 को जीतने का मौका था

उन्होंने मेन इन ब्लू को दोषी ठहराते हुए कहा है कि भारत के पास टी 20 विश्व कप 2022 को जीतने का मौका था।

उन्होंने कहा कि इंग्लैंड के खिलाफ रोहित शर्मा और केएल राहुल को शुरुआत में ज्यादा जोखिम लेने की जरूरत थी, लेकिन इसके बजाय उन्होंने काफी सुरक्षित खेल दिखाया। नतीजतन, डेथ ओवरों में बल्लेबाजों के पास करने के लिए बहुत कुछ था।

विदेशी टी20 लीग खेलने की जरूरत नहीं है

विदेशी टी20 लीग खेलने की जरूरत नहीं है

भारत पावरप्ले में केवल 38-1 और फिर पहले दस ओवरों में 62-2 रन ही बना पाया था। राहुल ने पांच गेंदों में पांच रन बनाए, शर्मा 28 गेंदों में 27 रन बनाकर आउट हो गए। विराट कोहली ने 40 गेंदों पर 50 किए। ऐसे में हार्दिक पांड्या, सूर्यकुमार यादव और ऋषभ पंत के लिए करने के लिए बहुत कुछ बचा था। कप्तानी और कोचिंग स्टाफ में बदलाव के बावजूद, टीम इंडिया सेमीफाइनल से आगे बढ़ने में विफल रही।

लेहमान ने बताया कि भारत को टी20 में अपने प्रदर्शन में सुधार के लिए विदेशी टी20 लीग खेलने की जरूरत नहीं है। उनको विदेशी टी20 लीग ना खेलने का नुकसान नहीं मिला है बल्कि ये उनकी सोच और टीम मैनेजमेंट में कमी है।

अंग्रेज इस समय सफेद गेंद क्रिकेट में बाकी टीमों से आगे

अंग्रेज इस समय सफेद गेंद क्रिकेट में बाकी टीमों से आगे

बाए हाथ के बल्लेबाज रह चुके लेहमान का मानना था कि भारत को 180 या 190-200 रन करने चाहिए थे तभी इस मजबूत इंग्लिश टीम से बचा जा सकता था।

लेहमान ने ऐसे में इंग्लैंड जैसी गेंद और बल्ले दोनों से तूफानी अंदाज दिखाने वाली टीम की तारीफ की और बताया कि अंग्रेज लोग इस समय सफेद गेंद क्रिकेट में बाकी टीमों से आगे हैं। लेहमान इस बात से भी निराश हैं कि भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच सेमीफाइनल या फाइनल मुकाबला भी नहीं हो सका।

महेंद्र सिंह धोनी को टीम इंडिया के T20 सेट-अप में मिल सकता है बड़ा रोल, स्थाई नियुक्ति के चांसमहेंद्र सिंह धोनी को टीम इंडिया के T20 सेट-अप में मिल सकता है बड़ा रोल, स्थाई नियुक्ति के चांस

Comments
English summary
Team India played with Timid approach against England in T20 World Cup Semifinal
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X