• search
राजकोट न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

कोरोना से जीता 22 सदस्यों वाला परिवार, पोते से लेकर दादी भी संक्रमित हो गई थीं, ऐसे हुए ठीक

|

राजकोट। कोरोना महामारी से चहुंओर कोहराम मचा हुआ है। खासकर बड़े शहरों में लोग ज्यादा संक्रमित मिल रहे हैं। गुजरात का राजकोट शहर भी रोज सैकड़ों नए मरीजों का गवाह बन रहा है। यहां के एक 22 सदस्यीय वैद्य परिवार की कहानी सामने आई है, जिसके 15 सदस्य संक्रमित हो गए थे। उनमें सालभर के पोते से लेकर 68 साल की दादी भी शामिल है।

22 सदस्यीय परिवार कोरोना की चेपट में आया

22 सदस्यीय परिवार कोरोना की चेपट में आया

बहरहाल, परिवार के सभी सदस्यों की तबियत ठीक है। सभी ने एक-दूसरे की मदद करके वायरस को मात दी। परिवार के एक सदस्य ने बताया कि, 15 दिन में ही परिवार के 15 लोग एक साथ संक्रमित निकले। 68 साल की दादी चंद्रिकाबेन भी महामारी की चपेट में आ गई थी। और, सालभर का पोता दीवाक्ष भी पीड़ित हो गया था। उन्होंने कहा कि, हमारे इतने बड़े परिवार में कुछ सदस्य तो डायबिटीज और अस्थमा से भी पीड़ित थे। मगर, संकट में सभी एक-दूजे का सहारा बने।

ह​रियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज बोले- हमारे राज्य में जो मरीज बढ़ रहे हैं उनमें 70% से ज्यादा दिल्ली और पड़ोसी राज्यों से हैं, फिर भी सुविधा देंगेह​रियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज बोले- हमारे राज्य में जो मरीज बढ़ रहे हैं उनमें 70% से ज्यादा दिल्ली और पड़ोसी राज्यों से हैं, फिर भी सुविधा देंगे

कोविड सेंटर से लेकर किराए के रूम में भर्ती

कोविड सेंटर से लेकर किराए के रूम में भर्ती

परिवार के मुखिया के मुताबिक, 22 सदस्यीय वैद्य परिवार के 3 सदस्य कोविड सेंटर ले जाए गए और तीन अन्य किराए का मकान लेकर आइसोलेशन में रहे। बाकी अपने घर पर ही रहकर इलाज करवाते रहे।"

सूरत में बढ़कर अब हो गए 22 हजार से ज्यादा कोरोना मरीज, कलेक्टर बोले- आप जहां से ऑक्सीजन ले रहे, वहीं से लें, हम कुछ नहीं कर सकतेसूरत में बढ़कर अब हो गए 22 हजार से ज्यादा कोरोना मरीज, कलेक्टर बोले- आप जहां से ऑक्सीजन ले रहे, वहीं से लें, हम कुछ नहीं कर सकते

अंत में महामारी को हरा दिया

अंत में महामारी को हरा दिया

उन्होंने कहा, "बच्चे की तबियत काफी नाजुक हो गई थी, हालांकि डॉक्टर समेत सभी पूरी तल्लीनता से जुटे थे और अंत में महामारी को हरा दिया।"

बहरहाल, परिवार के सभी सदस्यों की तबियत ठीक है। सभी ने एक-दूसरे की मदद करके वायरस को मात दी। परिवार के एक सदस्य ने बताया कि, 15 दिन में ही परिवार के 15 लोग एक साथ संक्रमित निकले। 68 साल की दादी चंद्रिकाबेन भी महामारी की चपेट में आ गई थी। और, सालभर का पोता दीवाक्ष भी पीड़ित हो गया था। उन्होंने कहा कि, हमारे इतने बड़े परिवार में कुछ सदस्य तो डायबिटीज और अस्थमा से भी पीड़ित थे। मगर, संकट में सभी एक-दूजे का सहारा बने।

ह​रियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज बोले- हमारे राज्य में जो मरीज बढ़ रहे हैं उनमें 70% से ज्यादा दिल्ली और पड़ोसी राज्यों से हैं, फिर भी सुविधा देंगेह​रियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज बोले- हमारे राज्य में जो मरीज बढ़ रहे हैं उनमें 70% से ज्यादा दिल्ली और पड़ोसी राज्यों से हैं, फिर भी सुविधा देंगे

परिवार के मुखिया के मुताबिक, 22 सदस्यीय वैद्य परिवार के 3 सदस्य कोविड सेंटर ले जाए गए और तीन अन्य किराए का मकान लेकर आइसोलेशन में रहे। बाकी अपने घर पर ही रहकर इलाज करवाते रहे।"

A Family Of 22 Members In Rajkot, Infected with coronavirus, and then recover in few days

सूरत में बढ़कर अब हो गए 22 हजार से ज्यादा कोरोना मरीज, कलेक्टर बोले- आप जहां से ऑक्सीजन ले रहे, वहीं से लें, हम कुछ नहीं कर सकतेसूरत में बढ़कर अब हो गए 22 हजार से ज्यादा कोरोना मरीज, कलेक्टर बोले- आप जहां से ऑक्सीजन ले रहे, वहीं से लें, हम कुछ नहीं कर सकते

उन्होंने कहा, "बच्चे की तबियत काफी नाजुक हो गई थी, हालांकि डॉक्टर समेत सभी पूरी तल्लीनता से जुटे थे और अंत में महामारी को हरा दिया।"

English summary
A Family Of 22 Members In Rajkot, Infected with coronavirus, and then recover in few days
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X