• search
राजस्थान न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

अंधविश्वास : 3 साल पहले मरे भाई की आत्मा लेने एक्सीडेंट वाली जगह पहुंची बहन, फिर ये सब किया

By अनन्त दाधीच
|

बूंदी। तीन साल पहले भाई की मौत हो गई। फिर उसकी बहन की तबीयत खराब रहने लगी। ऐसे में भाई की आत्मा को लेने और उसे मनाने के लिए बहन परिवार के साथ नेशनल हाईवे पर उसी जगह पहुंची, जहां भाई का एक्सीडेंट हुआ था। अंधविश्वास से जुड़ा यह मामला राजस्थान के बूंदी जिले का है।

Superstition: Sister arrived at NH 52 bundi for to take soul of three year ago dead brother

हुआ यूं कि बूंदी के गांव सथूर निवासी सुरेश माली की एनएच 52 पर गांव तालाब के पास तीन साल पहले सड़क हादसे में मौत हो गई थी। इत्तेफाक से सुरेश की मौत के बाद उसकी शादीशुदा बहन संजू देवी की तबीयत खराब रहने लगी। परिजन संजू देवी का चिकित्सकों से उपचार करवाने की बजाय उसे एक तांत्रिक के पास ले गए। संजू देवी के अनुसार तांत्रिक ने बताया कि उसके मरे हुए भाई सुरेश की आत्मा उसमें प्रवेश कर गई और वह उसे परेशान कर रही है। इसलिए सुरेश की आत्मा को लाना होगा। ताकि उसे मनाया जा सके। उसके बाद ही परिवार में सुख शांति होगी।

Superstition: Sister arrived at NH 52 bundi for to take soul of three year ago dead brother

तांत्रिक की इस अंधविश्वास भरी बात पर संजू व उसके परिजन घटनास्थल पर पहुंचे। बहन ने सड़क पर शीश झुकाकर पहले अपने भाई को नमन किया और फिर महिलाओं ने मंगलगीत शुरू कर दिए। साथ ही तांत्रिक ने पूजा अर्चना करवाई और बांस की बनी टोकरी में फूल और मिठाई भरकर एक बच्ची के सिर पर रख दिया। इसी दौरान वहां ज्योत जलाई और उसी दीपक की ज्योत को सुरेश माली की आत्मा मानकर अपने साथ घर ले गए। बूंदी के एनएच 52 पर अंधविश्वास का यह खेल चलता रहा और वाहन सरपट दौड़ते रहे। कई लोगों के तो माजरा ही समझ नहीं आया।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Superstition: Sister arrived at NH 52 bundi for to take soul of three year ago dead brother
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X