• search
राजस्थान न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

राजस्थान में दोनों समुदाय को साधने की कोशिश, राहुल ने पहले चिश्ती की दरगाह पर की जियारत फिर ब्रह्मा के आगे हुए नतमस्तक

|

अजमेर। पिछले लंबे समय से राजस्थान में सत्ता विरोधी रुझान दिख रहा है। 2019 लोकसभा चुनावों से पहले कांग्रेस को अपना रिपोर्ट कार्ड राजस्थान की जनता से मिल जाएगा। कांग्रेस हिंदू मुस्लिम वोट बैंक को साधने की जुगत में लगी है। इसी बीच राहुल गांधी मंदिर, मस्जिद गुरुद्वारे जाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। राहुल गांधी ने सोमवार को अजमेर की ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह पर अकीदत के फूल और चादर पेश कर जियारत की। इसके बाद राहुल गांधी अजमेर से पुष्कर रवाना हो गए। पुष्कर में उन्होंने ब्रह्मा मंदिर में पूजा अर्चना की। इस मौके पर राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सचिन पायलट और पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत मौजूद रहे।

राहुल को जियारत करवाकर तबर्रुख किया भेंट

राहुल को जियारत करवाकर तबर्रुख किया भेंट

राहुल गांधी सुबह लगभग साढे़ 8 बजे किशनगढ़ एयरपोर्ट पहुंचे जहां से उन्हें हेलीकॉप्टर के जरिए अजमेर के मेयो कॉलेज स्थित हेलीपैड लाया गया। यहां से कड़ी सुरक्षा के बीच सड़क मार्ग से ख्वाजा साहब की दरगाह ले जाया गया। राहुल ने दरगाह में अपनी अकीदत का नजराना पेश किया। खादिम गनी गुर्दे जी ने राहुल को जियारत करवाकर तबर्रुख भेंट किया। वहीं दरगाह की अंजुमन कमेटी की ओर से भी राहुल गांधी का इस्तकबाल किया गया। राहुल की जियारत के दौरान पीसीसी चीफ सचिन पायलट, कांग्रेस महासचिव अशोक गहलोत, सांसद रघु शर्मा सहित अन्य कांग्रेसी पदाधिकारी मौजूद रहे। आपको बता दें राहुल गांधी अध्यक्ष बनने के बाद पहली बार अजमेर आए हैं। वहीं इससे पहले वह वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में सभा को संबोधित करने आए थे। उस समय भी राहुल ने ख्वाजा साहब की चौखट चूमी थी।

सरोवर में की पूजा अर्चना

सरोवर में की पूजा अर्चना

राहुल गांधी का काफिला जियारत के बाद वापस मेयो कॉलेज पहुंचा। जहां से हैलीकॉप्टर के जरिए वह पुष्कर पहुंचे। यहां से उनको काफिले के रूप में पुष्कर सरोवर लाया गया। मंदिर पहुंतकर तीर्थ पुरोहित ने उन्हें विधि विधान से पूजा अर्चना करवाई। राहुल ने पूर्वजों की बही भी देखी जिसमें वन्दे मातरम लिखा। वहीं सोनिया गांधी के साथ की फोटो का एलबम भी उन्होंने देखा। सरोवर की पूजा के बाद काफिला ब्रह्मा मंदिर पहुंचा जहां पर उन्होंने विधि विधान से ब्रह्माजी और गायत्री माता की आरती उतारी।

ब्रह्मा मंदिर में की पूजा अर्चना

ब्रह्मा मंदिर में की पूजा अर्चना

महंत प्रज्ञान पुरी जी ने राहुल को मंदिर का महत्व बताया और कथा भी सुनाई साथ ही माला और साफा पहनाकर उनका स्वागत किया। महंत प्रज्ञान पुरी ने राहुल गांधी की मनोकामना पूर्ति के लिए ब्रह्माजी से प्रार्थना भी की। बता दें, रविवार को पीएम मोदी ने राजस्थान के अलवर में रैली को संबोधित किया था। मोदी ने रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस पर निशाना साधा था।

26 नवंबर: जानिए आज ही क्यों मनाया जाता है संविधान दिवस?

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
congress president rahul gandhi visited ajmer sharif dargah then pushkar
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X