देश के लिए जान देने वाला हर शख्‍स है शहीद: दिल्‍ली हाईकोर्ट

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्‍ली। दिल्ली हाईकोर्ट ने मंगलवार को एक अहम टिप्पणी करते हुए साफ किया कि देश के लिए जान देने वाला हर एक शख्स शहीद है। ऐसे नेक काम करने वाले को पूरा देश याद करता है और इसलिए वह सरकार की तरफ से शहीद का सर्टिफिकेट दिए जाने या किसी पहचान का मोहताज नहीं है।

who lays down life for country is a martyr

जम्‍मू-कश्‍मीर में संदिग्‍ध आतंकवादियों के ठिकानों से मिले चीनी झंडे, 44 अरेस्‍ट

कोर्ट ने यह टिप्पणी पुलिस जवानों और सैनिकों की ड्यूटी पर मौत होने पर शहीद का दर्जा दिए जाने की मांग वाली जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए ​की।

हालांकि, अदालत ने सातवें वेतन आयोग के सुझावों का हवाला देते हुए अर्धसैनिक बलों और पुलिसकर्मियां को शहीद का दर्जा दिए जाने पर विचार करने को कहा है।

मुंबई एयरपोर्ट के पास उड़ता दिखा संदिग्‍ध ड्राेन, हाई अलर्ट पर शहर

कोर्ट के मुताबिक, 'शहीद' जैसा कोई शब्द नहीं है और न ही रक्षा मंत्रालय ने ड्यूटी के दौरान जान गंवाने वाले जवानों को 'शहीद' करार देने का आदेश या अधिसूचना है।

इस तर्क के साथ जनहित याचिका को खारिज करते हुए कोर्ट ने कहा कि केंद्र सरकार इस संबंध में कोई निर्देश जारी करे, यह जरूरी नहीं है।

Kabaddi WC 2016: भारत ने इंग्लैण्ड को बुरी तरह हराया, सेमीफाइनल में हुई एंट्री

कोर्ट ने कहा कि देश के लिए जान गंवाने वाले को हर कोई याद करता है। उसके लिए यह पहचान गर्व की बात है और इससे ज्यादा कुछ भी जरूरी नहीं है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Those Who Die For Their Country Do Not Need An Official Tag Of 'Martyr', Says Delhi High Court
Please Wait while comments are loading...