• search
मिर्जापुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

Mirzapur News: मधुमक्खियां डंक मारती रहीं और किसान भागता रहा, तमाशबीन बने रहे लोग, हो गई मौत

|
Google Oneindia News

Mirzapur से एक दर्दनाक घटना सामने आई है। खेत देख कर लौट रहे एक किसान पर मधुमक्खियों के झुंड ने हमला कर दिया। मधुमक्खियों के हमले से घायल हुए किसान को उसके परिजन अस्पताल में लेकर पहुंचे जहां से चिकित्सकों ने उसे बीएचयू ट्रामा सेंटर वाराणसी के लिए रेफर कर दिया। ट्रामा सेंटर पहुंचने से पहले ही किसान की मौत हो गई। किसान की मौत से परिवार में मातम का माहौल है।

बगीचे में था मधुमक्खियों का छत्ता

बगीचे में था मधुमक्खियों का छत्ता

दरअसल मिर्जापुर जिले के लालगंज थाना अंतर्गत मढेरा गांव निवासी 57 वर्षीय किसान राम आसरे पांडेय अपने घर से गुरुवार की सुबह में खेत देखने के लिए गए थे। वे सिवान में अपने खेत में गए और खेत देखने के बाद करीब 9:00 बजे वह अपने घर वापस लौट रहे थे। घर लौटते समय वे बगीचे की तरफ से वापस आ रहे थे। बगीचे में स्थित पेड़ों में काफी समय से मधुमक्खियों ने छत्ता लगा रखा था। बगीचे में पहुंचे राम आसरे पांडेय कुछ समझ पाते इससे पहले मधुमक्खियों ने उनके ऊपर हमला कर दिया। राम आसरे चिल्लाते हुए बगीचे से भागने लगे तो मधुमक्खियों के झुंड ने उनको दौड़ा दिया।

तमाशबीन बने रहे लोग

तमाशबीन बने रहे लोग

राम आसरे चिल्लाते हुए गांव की तरफ भागने लगे इस दौरान कुछ लोगों ने उन्हें देखा लेकिन काफी संख्या में मधुमक्खी उनके पीछे पीछे आ रही थी और उन्हें डंक मार रही थी। मधुमक्खियों की संख्या अधिक होने के चलते कोई भी व्यक्ति उन्हें बचाने की हिम्मत नहीं जुटा पाया। बृद्ध किसान भागते-भागते एक जगह गिर गए उसके बाद भी मधुमक्खियों ने उनको नहीं छोड़ा। बाद में ग्रामीण पहुंचे और धुआं करके मधुमक्खियों को वहां से भगाए। लोगों ने देखा कि राम आसरे के चेहरे हाथ और शरीर में कई जगह मधुमक्खियों के डंक धंसे हुए थे।

ट्रामा सेंटर ले जाते समय रास्ते में हुई मौत

ट्रामा सेंटर ले जाते समय रास्ते में हुई मौत

मधुमक्खियों के हमले में गंभीर रूप से घायल हुए राम आसरे को लेकर उनके परिवार के सदस्य मिर्जापुर मंडलीय अस्पताल में पहुंचे। मंडलीय अस्पताल में उनका प्राथमिक उपचार किया गया उसके बाद उनकी गंभीर अवस्था को देखते हुए चिकित्सकों ने वाराणसी के बीएचयू में स्थित ट्रामा सेंटर के लिए रेफर कर दिया। परिजन उनको बीएचयू ट्रामा सेंटर लेकर जा रहे थे लेकिन रास्ते में ही उनकी मौत हो गई। मौत की सूचना मिलने के बाद किसान के परिवार में कोहराम मच गया।

एक्सपर्ट ने बताया इसलिए हो गई मौत

एक्सपर्ट ने बताया इसलिए हो गई मौत

इस बारे में वाराणसी जिले के हरहुआ ब्लाक के चिकित्सक डॉ अब्दुल जावेद से बात किया गया तो उन्होंने बताया कि आमतौर पर मधुमक्खियों के हमले से व्यक्तियों के शरीर में सूजन हो जाती है लेकिन मौत जैसी कम घटनाएं होती है। उन्होंने यह भी बताया कि यदि 1-2 मधुमक्खी डंक मारते हैं तो उनका असर नहीं होता है हालांकि एक साथ कई मधुमक्खियां हमलावर हो जाए तो ऐसी स्थिति में व्यक्ति का ब्लड प्रेशर कम होने लगता है और हृदयाघात के चलते मौत हो जाती है। उन्होंने यह भी कहा कि डंक मारने के बाद डंक मारने वाली मधुमक्खी भी जिंदा नहीं रह पाती है।

रेलवे ट्रैक से दूर रहें हाथी, इसके लिए काम आएगी मधुमक्खियों की आवाजरेलवे ट्रैक से दूर रहें हाथी, इसके लिए काम आएगी मधुमक्खियों की आवाज

Comments
English summary
Mirzapur News bees attacked farmer kept running
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X