• search
मेरठ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

अंगूठे का क्लोन बनाकर खाली करते थे लोगों का बैंक अकाउंट, Meerut पुलिस ने कुछ यूं पकडे ठग

अंगूठे का क्लोन बनाकर खाली करते थे लोगों का बैंक अकाउंट, Meerut पुलिस ने कुछ यूं पकडे ठग
Google Oneindia News

Meerut News: अंगूठे का क्लोन बनाकर लोगों के बैंक अकाउंट से पैसे निकालने वाले गिरोह का मेरठ (Meeurt) जिले की हस्तिनापुर पुलिस ने खुलासा कर दिया है। हस्तिनापुर पुलिस (Hastinapur Police) ने गिरोह के तीन सदस्यों को गिरफ्तार करते हुए उनके पास से कंप्यूटर, फिंगर प्रिंट डिवाइस बरामद की है। पुलिस गिरफ्त में आए तीनों अभियुक्तों को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया है।

Meerut News: Hastinapur police caught three thugs

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, 27 अक्टूबर को Hastinapur Police को सूचना मिली थी कि कुछ लोगों के खाते से धोखाधड़ी कर रुपए निकाले जा रहे हैं। शिकायत में बताया गया कि ठग गिरोह के सदस्यों ने बैंक से लोन दिलाने और ई-श्रम कार्ड बनाने के बहाने से उनके आधार कार्ड नंबर, अंगूठे का क्लोन और अन्य कागजात ले लेते है। फिर उन्हीं कागजातों की मदद से गिरोह के सदस्य लोगों के खाते से पैंस निकाल लेते हैं।

20 से ज्यादा लोगों को बना चुके शिकार
पुलिस जांच में पता चला है कि इस गिरोह के सदस्य अभी तक अलग-अलग स्थानों पर 20 से ज्यादा लोगों को ठगी का शिकार बना चुके है। साइब सेल और हस्तिनापुर पुलिस इन ठगों की तलाश में जुट गई। थाना प्रभारी केपी सिंह राठौर ने बताया कि छानबीन में जनसेवा केंद्र चलाने वाले गणेश निवासी भीमनगर का नाम सामने आया। जिसके बाद उसे हिरासत में लेकर सख्ती से पूछताछ की गई तो उसने पूरे खेल से पर्दा उठा दिया।

पूछताछ में उठाया पूरे खेल से पर्दा
पुलिस हिरासत में आए गणेश ने पूछताछ के दौरान बताया कि प्रभातनगर में वो जनसेवा केंद्र चलाता है। फिंगर प्रिंट व आधार कार्य से रुपए निकालकर देने की व्यवस्था उसके पास है। कुछ दिन पहले उसकी मुलाकात कॉलेज में काम करने वाले मोहनलाला से हुई थी। उसने फिंगर प्रिंट से क्लोन तैयार कर प्रयोग किया जो सफल हो गया। इसके बाद उन्होंने एक अन्य जनसेवा केंद्र संचालक हरिओम कश्यप को अपने साथ मिल लिया था।

ये भी पढ़ें:- Chhath Puja के प्रसाद को Yamuna में विसर्जित करने की अनुमति नहीं, एनजीटी ने जारी किया आदेशये भी पढ़ें:- Chhath Puja के प्रसाद को Yamuna में विसर्जित करने की अनुमति नहीं, एनजीटी ने जारी किया आदेश

ऐसे करते थे क्लोन एकत्र
गणेश ने बताया कि ई-श्रम कार्ड अपडेट करने के बहाने गांव-गांव जाकर लोगों से संपर्क उसके फिंगर प्रिंट जुटाने शुरू किए। जिसके बाद धीरे-धीरे उन लोगों के बैंक खातों से रुपए निकालने लगे। पुलिस को इनके पास से 50 से ज्यादा आधार कार्ड और फिंगर प्रिंट क्लोन मिले है। वहीं, 2 लैपटॉप, 1 सीपीयू, एक प्रिंटर, एक आई रिटेना डिवाइस, दो फिंगर प्रिंट डिवाइस भी बरामद की है।

Comments
English summary
Meerut News: Hastinapur police caught three thugs
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X