• search
महाराष्ट्र न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

महाराष्ट्र: पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख की बढ़ी मुश्किलें, सचिन वाजे बने सरकारी गवाह

Google Oneindia News

मुंबई, 01 जून: भ्रष्टाचार के मामले में महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख की अब और भी मुश्किलें बढ़ सकती हैं। पिछले साल मार्च में मुकेश अंबानी के घर के पास विस्फोटकों से लदे एक वाहन और ठाणे के व्यवसायी मनसुख हिरन की हत्या के मामले में गिरफ्तार किए गए और अनिल देशमुख का भरोसेमंद बताए जाने वाले मुंबई पुलिस के पूर्व इंस्पेक्टर सचिन वाजे को सीबीआई ने बड़ी राहत दी है। कोर्ट ने सचिन वाजे को सरकारी गवाह बनने की अनुमति दे दी है।

SACHIN WAZE

सीबीआई के स्पेशल कोर्ट ने बुधवार को मुंबई पुलिस के बर्खास्त अधिकारी सचिन वाजे को महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख से जुड़े भ्रष्टाचार मामले में सरकारी गवाह बनने और अभियोजन पक्ष के गवाह के रूप में पेश होने की अनुमति दे दी। वाजे ने विशेष सीबीआई अदालत के समक्ष एक आवेदन दायर किया था, जिसमें दावा किया गया था कि उन्होंने अपनी गिरफ्तारी से पहले और बाद में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के साथ सहयोग किया था, जिसके बाद आपराधिक प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) के प्रावधानों के तहत एक मजिस्ट्रेट के समक्ष उनका इकबालिया बयान दर्ज किया गया था।

अपने जवाब में सीबीआई ने कुछ शर्तों के अधीन वाजे की याचिका को स्वीकृति दे दी है। विशेष न्यायाधीश डीपी शिंगडे ने वाजे की याचिका को स्वीकार कर लिया है। न्यायाधीश ने कहा, "आपका आवेदन आपको दिया गया है, लेकिन कुछ शर्तों के अधीन है। कोर्ट के आदेश के बाद वाजे अब मामले में अभियोजन पक्ष के गवाह के रूप में पेश हो सकते हैं।

सचिन वाजे फिलहाल न्यायिक हिरासत में है। हाल ही में एक विशेष अदालत ने वाजे की जमानत खारिज कर दी थी। इसने वाजे को अत्यधिक प्रभावशाली बताया और कहा कि सबूतों के साथ छेड़छाड़ की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है।

Mansukh Hiren Case: बॉम्बे HC में NIA का दावा, प्रदीप शर्मा को दिए सचिन वाजे ने हत्या के लिए 45 लाखMansukh Hiren Case: बॉम्बे HC में NIA का दावा, प्रदीप शर्मा को दिए सचिन वाजे ने हत्या के लिए 45 लाख

आपको बता दें कि मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह ने महाराष्ट्र के तत्कालीन गृह मंत्री अनिल देशमुख पर आरोप लगाया था कि उन्होंने पुलिस अफसरों को होटल और बार से हर महीने 100 करोड़ रुपए वसूली करने का टारगेट दिया था। सीबीआई ने पिछले साल अप्रैल में बॉम्बे हाईकोर्ट के आदेश के बाद अनिल देशमुख, सचिन वाजे और अन्य के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी।

Comments
English summary
ex minister Anil Deshmukh corruption case Sachin Waze turns approver
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X