• search

Video: पानी के लिए रोज होता है 'मौत' का ये खेल, दो बूंद पानी के लिए गहरे कुएं में उतरती हैं लड़कियां

By Bavita Jha
Subscribe to Oneindia Hindi
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    भोपाल। पूरा देश गर्मी में बेहाल है। चिलचिलाती गर्मी की वजह से कुएं और तालाब सूख गए हैं। लोगों पानी के लिए तरह रहे हैं। राजस्थान, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र के कई इलाकों का बुरा हाल है। लोगों को दो बूंद पानी के लिए तरस रहे हैं। पानी के लिए लोगों को कई किलोमीटर का सफर करना पड़ा रहा है तो वहीं मध्य प्रदेश में पानी के लिए तरह रहे लोग रोज मौत का खेल खेल रहे हैं। मध्य प्रदेश के डिंडोरी जिले के शाहपुर इलाके की जो तस्वीर सामने आई हैं वो देखकर आपको अंदाजा लगा सकते हैं कि कैसे एक बाल्टी पानी के लिए लोग अपनी जिंदगी को दांव पर लगाते हैं। ये खतरनाक स्टंट उनकी रोजमर्रा की जिदंगी का हिस्सा बन गया। इस स्टंट में हल्की सी चूक उनकी मौत की वजह बन सकती है।

     पानी के लिए मौत का खेल

    पानी के लिए मौत का खेल

    मध्य प्रदेश के डिंडोरी जिले के शाहपुर इलाके में पानी की भारी किल्लत है। इलाके के सारे कुएं और तालाब सूख गए है। पानी के लिए लोगों को कई किलोमीटर तक पैदल चलकर जाना पड़ता है। यहां के लोगों को एक बाल्टी के लिए गहरे कुएं में उतरते हैं। यहां इकलौता कुआं है, जहां थोड़ा बहुत पानी बचा है। पानी इतना कम है कि लोगों को पानी भरने के लिए गहरे कुएं में उतरना पड़ रहा है।

     रोज होता है मौत का ये खेल

    रोज होता है मौत का ये खेल

    वीडियो में साफ तौर पर दिखा जा सकता है कि कुएं में बहुत कम पानी बचा है। पानी कितने दिनों तक चलेगा, अंदाजा लगाया जा सकता है। इस पानी के लिए लड़कियां गहरे कुएं में उतरती है। कुंए की दीवार पर बनी सीढ़ियों की मदद से लड़कियां गहरे कुएं में उतकर कटोरी के सहारे बाल्टी में पानी भरती है और फिर ऊपर खड़े लोग पानी खींच लेते हैं।

     जरा सी चूक मौत की वजह

    जरा सी चूक मौत की वजह

    जिस तरह से लड़कियां गहरे कुएं में उतरती हैं उसे देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि ये काम कितना खतरनाक है। जहां सी चूक उनके लिए बड़े हादसे की वजह बन सकता है। हाथ फिसला या फिर गलत जगह पैर पड़ जाए तो सीधा मौत से सामना होगा, लेकिन इसके बार इस मौत के खेल के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं है। पानी की जरूरत पूरा करने के लिए उन्हें ये खेल खेलना ही पड़ेगा। पानी की इस समस्या और लड़कियों के कुएं में उतरने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद शाहपुर के एसडीएम ने कहा है कि शाहपुरा के लोगों की समस्या को देखते हुए पंचायत को आदेश दिया है कि वह ग्रामीणों को रोजाना 2 टैंकर की सुविधा मुहैया कराए।

     अकेले बुजुर्ग ने बना दिया कुआं

    अकेले बुजुर्ग ने बना दिया कुआं

    मध्य प्रदेश के छतरपुर के हदुआ गांव में पिछले ढाई साल से पानी की गंभीर समस्या से गुजर रहा है। गांव के लोगों को पानी के लिए कई किलोमीटर का सफर करना पड़ रहा था। सरकार से भी मदद मांगी, लेकिन किसी ने कोई मदद नहीं की। ऐसे में 70 साल के सीताराम राजपूत ने गांव में पानी की कमी को दूर करने के लिए खुद अकेले दम पर कुआं खोदकर मिसाल कायम कर दिया।

    जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    WATCH: People in Dindori's Shahpura climb down the well in their area to collect water, as they are unable to fetch it using buckets due to less quantity.

    Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
    पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more