• search
मध्य प्रदेश न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

Viral Video: जिपं चुनाव में खरीद-फरोख्त का खुलासा, लाखों में बिके सदस्य, रुपए वापस लेने बुलाई पंचायत

Google Oneindia News

Viral Video: दमोह में जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में सदस्यों की खूब खरीद-फरोख्त की गई। एक-एक सदस्य को लाखों रुपए दिए गए। जिन्होंने पैसे दिए, वोट नहीं मिला अब वे पैसे वापस लेने समाज की पंचायत बुला रहे हैं। एक वीडियो जमकर वायरल हो रहा है, इसमें सदस्य खुलेआम 20-20 लाख रुपए वापस मांगते दिख रहे हैं।

Recommended Video

    मप्र के दमोह जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में लाखों के लेनदेन कर सदस्यों की खरीद-फरोख्त का खुलासा, पैसे वापस लेने पंचायत बैठाई
    Viral Video चुनाव में लाखों में बिके सदस्य, पैसे वापस लेने जोड़ी पंचायत

    मप्र के दमोह में नाटकीय घटनाक्रम के तहत संपन्न हुए जिला पंचायत व जिपं अध्यक्ष पद के चुनाव के दौरान एक-एक सदस्य के वोट के लिए लाखों रुपए दाम लगाए गए थे। सदस्यों को रकम भी दी गई, लेकिन जब वोट नहीं मिला तो अब रुपए वापस मांगे जा रहे हैं। लोधी समाज की बीते रोज एक गांव में पंचायत बुलाई गई थी। इसमें वरिष्ठों के सामने खुलकर चर्चाएं हुईं तो किसी ने सदस्यों व पूर्व विधायक की बातचीत का चोरीछिपे वीडियो बनाकर वायरल कर दिया।

    Viral Video जिपं चुनाव में खरीद-फरोख्त का खुलासा

    दमोह जिले का बताया जाने वाला एक वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। इसमें जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए सदस्यों को 20-20 लाख रुपए में खरीदने, पैसे लेकर वोट न देने का खुलासा हुआ है। वीडियो जिले के दतला गांव का बताया जा रहा है। इसमें जिला पंचायत सदस्य ऋषि लोधी ने टेंट लगाकर पंचायत बुलाई थी। ऋषि लोधी चुनाव में खरीदी हुई वोट के पैसे वापस मांगने दतला गांव पहुंचे, जिसमें 3 घंटे तक हाई वोल्टेज ड्रामा चलता रहा। इस दौरान दमोह के पूर्व विधायक राहुल सिंह जो वर्तमान में कैबीनेट मंत्री दर्जा प्राप्त हैं, वे भी नजर आ रहे हैं। यह पंचायत लोधी समाज के लोगों व वरिष्ठों को बुलाकर जोड़ी गई थी। बैठक में दृगपाल सिह लोधी और ़ऋषि लोधी के बीच खुलकर रुपयों के लेनदेन को लेकर बातचीत हो रही है। दृगपाल सिंह पैसे लेने की बात भी स्वीकार कर रहे हैं। दृगपाल ने 40 लाख रुपए लिए थे। यह बात वे स्वीकार भी कर रहे हैं। ऋषि कह रहे हैं कि पैसे लेने के बाद भी दृगपाल ने उन्हें वोट नहीं दिया और क्रॉस वोटिंग करके मुझे हरवा दिया था।

    जिपं चुनाव में खरीद-फरोख्त का खुलासा

    हॉस्टल के बाथरुम में झांकता था, सिंघम बनी छात्राएं, ऑफिस में घुसकर जड़े लात-घूंसे हॉस्टल के बाथरुम में झांकता था, सिंघम बनी छात्राएं, ऑफिस में घुसकर जड़े लात-घूंसे

    ऋषि लोधी हाथ जोड़कर कर रहे, मैंने भी पैसा कहीं से उठाकर लगाया था
    वीडियो में ़ऋषि लोधी कहते दिख रहे हैं कि मैं हाथजोड़कर कहता हूं, दो-पांच लाख जो चुनाव में खर्च हुआ है, उसे काटकर मेरे बाकी के पैसे वापस कर दो। मैंने भी कहीं से उठाकर पैसा लगाया था, मुझे उन लोगों का पैसा भी वापस करना है। मैं चुनाव के कारण कर्ज में डूब गया हूं। ़ऋषि पंचों के सामने हाथ जोड़कर कर रहे हैं कि मैंने कई दफा इनसे अपने पैसे वापस मांगे, लेकिन दृगपाल देने को तैयार नहीं हैं, इसलिए पंचायत बुलाई है। वीडियो में दृगपाल सिंह यह स्वीकार करता दिख रहा है कि उसने 20 लाख रुपए लिए थे। उसने वोट भी ऋषि को ही दी थी, इसलिए मैं कोई पैसा वापस नहीं करुंगा।

    Comments
    English summary
    In Damoh, there was a lot of horse-trading in the election of the District Panchayat President. Lakhs of rupees were given to each member. Those who gave money, did not get votes, now they are calling the panchayat of the society to get back the money.
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X