मध्य प्रदेश: 5 साल बाद भी नहीं बनी स्कूल की बिल्डिंग, टॉयलेट में बैठ पढ़ने को मजबूर मासूम

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नीमच। मध्य प्रदेश के नीमच में एक प्राइमेरी स्कूल में शौचालय में बच्चों को पढ़ाया जा रहा है। स्कूल में कोई बिल्डिंग नहीं होने के चलते इस्तेमाल मे नहीं आ रहे एक टॉयलेट में ही बैठकर बच्चे पढ़ रहे हैं। 2012 में ये स्कूल शुरू किया गया था, जिसमें सिर्फ एक टीचर है।

student force to study in toilet in madhya Pradesh's Neemuch

2012 में स्कूल के लिए एक किराये के कमरे का व्यवस्था की गई थी लेकिन एक साल बाद वो भी वापस ले लिया गया। स्कूल के टीतर कैलाश चंद्र का कहना है कि कोई कमरा ना होने के चलते वो एक बंद पड़े शौचालय में बच्चों को पढ़ाने के लिए मजबूर हैं। उन्होंने कहा कि बरसात में इस जगह पर भी गांव के लोग बकरियां बांध देते हैं, जिससे उनकी परेशानी बढ़ जाती है।

मध्य प्रदेश के शिक्षा मंत्री विजय शाह ने गुरिवार को कहा कि राज्य में 1.25 लाख स्कूल हैं। साधनों के सीमित होने के चलते और स्कूल नहीं बनाए जा सकते हां किराए की इमारत की व्यवस्थाएं की गई हैं। उन्होंने कहा कि इस बात की कोशिश की जाएगी कि स्कूल के लिए किराए की जगह ढूंढ़ने में कोई दिक्कत ना हो।

भोपाल के स्कूल में मुस्लिम छात्राओं से बनवाए गए शिवलिंग

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
student force to study in toilet in madhya Pradesh's Neemuch
Please Wait while comments are loading...