• search
लखनऊ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

लखनऊ: विधानसभा के सामने महिला के आत्मदाह की कोशिश के मामले में पूर्व राज्यपाल का बेटा हिरासत में, घटना से पहले संपर्क में था

|

लखनऊ। राजधानी लखनऊ के हजरतगंज स्थित विधानसभा के पास में स्थित भारतीय जनता पार्टी के कार्यालय के गेट के सामने मंगलवार को एक महिला ने अपने ऊपर तेल डालकर खुद को आग लगा ली थी। आग बुझाकर पुलिस कंबल से ढककर महिला को सिविल अस्पताल ले गई। यहां महिला की हालत गंभीर बनी हुई है। इस मामले में लखनऊ पुलिस ने पूर्व राज्यपाल सुखदेव प्रसाद के बेटे आलोक को हिरासत में लिया है। आलोक को कांग्रेस पार्टी से जुड़ा बताया जा रहा है। पुलिस को मामले में साजिश की आशंका है। महाराजगंज पुलिस के इनपुट पर लखनऊ पुलिस ने आलोक को हिरासत में लिया है। सूत्रों के मुताबिक, घटनास्थल पर आलोक की लोकेशन मिल रही थी। ये भी कहा जा रहा है कि आलोक महिला के संपर्क में भी था। वहीं, महिला की सिविल अस्पताल में हालत नाजुक बनी हुई है उसका डॉक्टरों की निगरानी में इलाज चल रहा है।

    Lucknow में BJP कार्यालय के सामने आत्मदाह, पूर्व राज्यपाल का बेटा हिरासत में | वनइंडिया हिंदी

    Former governor Sukhdev Prasad son detained in woman immolation case in lucknow

    क्या है पूरा मामला

    महराजगंज की एक महिला मंगलवार को न्याय की आस में लखनऊ पहुंची। हजरतगंज स्थित विधान भवन के सामने उसने खुद को आग लगा ली। डीसीपी मध्य सोमेन वर्मा ने बताया कि अंजली तिवारी ने दो वर्ष पहले महराजगंज जिले के घुघली थाना क्षेत्र के पचरूखिया निवासी अखिलेश तिवारी से शादी की थी। इस दौरान दोनों में विवाद हुआ और अंजली अलग रहने लगी। इस दौरान अखिलेश ने उसे फोन पर तलाक दे दिया। इसके कुछ दिन बाद अंजली ने महराजगंज में ही राजघराना साड़ी सेंटर पर कार्य शुरू कर दिया।

    धर्म परिवर्तन कर किया था निकाह

    दुकान पर काम करने के दौरान ही अंजलि का वीरबहादुर नगर निवासी आशिक रजा से संबंध हो गया। अंजली का दावा है कि उन दोनों ने निकाह कर लिया था। अंजली ने अपना धर्म परिवर्तन कराकर नाम भी आयशा कर लिया। इस निकाह के कुछ दिन बाद में आशिक रजा सऊदी अरब भाग गया। आशिक के जाने के बाद अंजली उसके घर में रहने की जिद करने लगी। चार अक्टूबर को वह अपने कथित पति के घर के सामने धरने पर बैठ गई। वहां पर मौके पर पहुंची महाराजगंज पुलिस उसे लेकर महिला थाने गई थी, लेकिन मामले का हल नहीं निकल पाया।

    90 प्रतिशत झुलस गई है महिला, उपचारी जारी

    अंजलि ने 13 अक्टूबर को आत्मदाह की बात को लेकर नोटिस दिया था। उसकी तलाश में महिला एसओ मनीषा सिंह को लखनऊ भेजा गया था। इंस्पेक्टर हजरतगंज अंजनी कुमार पांडेय ने बताया कि महिला ने ये खौफनाक कदम परेशानी के चलते उठाया है। फिलहाल, महिला के परिजनों से संपर्क कर आगे की कार्रवाई की जा रही है। सिविल अस्पताल के सीएमएस डॉ. एसके नंदा के मुताबिक, महिला 90 प्रतिशत झुलस गई है। डॉक्टरों की निगरानी में उसका उपचार चल रहा है।

    यूपी विधानसभा के सामने महिला ने खुद को लगाई आग, जानिए क्या है वजह?

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Former governor Sukhdev Prasad son detained in woman immolation case in lucknow
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X