• search
जोधपुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

जोधपुरः कोरोना से बचने के लिए अस्पताल में बनाया रॉबर्ट ट्रॉली, जानिए ये कैसे करता है काम?

|

जोधपुर। राजस्थान जोधपुर शहर में कोविड-19 के बढ़ते प्रकोप और प्रदेशभर में बढ़ती मरीजों की संख्या को देखते हुए जोधपुर के राज इंजीनियरिंग कॉलेज के मैकेनिकल ब्रांच की तैयार की गई रोबोटिक ट्रॉली ने अपना काम शुरू कर दिया।

Robert Trolley built in hospital to escape Corona, know how it works?

राज इंजीनियरिंग कॉलेज के निदेशक डॉ. राजू राम चौधरी ने जिला कलेक्टर डॉ. प्रकाश राजपुरोहित को यह ट्रॉली हैंड ओवर की थी। राज इंजीनियर कॉलेज के निदेशक डॉ. राजूराम चौधरी ने बताया कि यह रोबोटिक ट्रॉली डॉक्टर और बाकी हेल्थ वर्कस को संक्रमित मरीज से दूरी बनाए रखने में कारगर साबित होगी।

बिहार की महिला की बीकानेर में गैंगरेप के बाद हत्या, पति पत्नी और वो के चक्कर में गई जान

इस रोबोट को इस तरह तैयार किया गया है कि कोविड-19 के संक्रमित मरीज के साथ डॉक्टर और नर्सिंग स्टाफ द्वारा अपनाई गई। सभी गतिविधियों को स्वयं करेगा। राजूराम चौधरी ने बताया कि यह रोबोट्रिक ट्रॉली सिर्फ खाना पीना तथा दवाइयों को मरीज तक पहुंचाएगा बल्कि इस पर लगे तापमान मीटर तथा पल्स ऑक्सीमीटर के द्वारा समय-समय पर तापमान तथा रक्त में ऑक्सीजन स्तर और ह्रदय गति की रीडिंग को इसके उपर लगे वायरलेस वाई-फाई कैमरे द्वारा डॉक्टर के मोबाइल एप्प पर देखी जा सकेगी।

जोधपुर जिला कलेक्टर डॉ. प्रकाश राजपुरोहित ने राज इंजीनियर कॉलेज के छात्रों की ओर से तैयार किए गए इस रोबोटिक ट्रॉली को कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोकने में उपयोगी बताया। उन्होंने कहा कि इसके उपयोग से कोरोना संक्रमित मरीज वार्ड में बार-बार जाने की आवश्यकता नहीं होगी, जिससे संक्रमण को फैलने से रोका जा सकेगा।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Robert Trolley built in hospital to escape Corona, know how it works?
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X