• search
जयपुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

छात्रसंघ चुनाव लड़ने से अयोग्य हुआ तो कॉलेज की छात्रा से कर ली सगाई, चुनाव लड़वाकर करेगा विरोधियों को पराजित

Google Oneindia News

जयपुर, 21 अगस्त। राजस्थान के दौसा में पीजी कॉलेज के छात्र राजनीति से जुड़ा अजीबोगरीब मामला सामने आया है। कॉलेज के छात्र नेता को चुनाव लड़ने के लिए अयोग्य करार दे दिया गया। छात्र नेता ने विरोधी धड़े को सबक सिखाने के लिए कॉलेज की छात्रा से सगाई कर उम्मीदवार बना दिया। अचानक लिए गए इस फैसले से चुनावी माहौल बदल गया है। राजस्थान में छात्रसंघ चुनाव का प्रचार परवान पर है। कॉलेज का अध्यक्ष बनने के लिए नित नए जतन किए जा रहे हैं। प्रदेश के दौसा जिले में हैरान करने वाला मामला सामने आया है। दौसा के पीजी कॉलेज के छात्र रत्तीराम को कॉलेज प्रशासन ने चुनाव लड़ने के लिए अयोग्य घोषित कर दिया। लेकिन रत्तीराम ने हार नहीं मानी और रातों-रात खेल बदल दिया। रत्तीराम ने कॉलेज की नियमित छात्रा सपना मीणा से सगाई कर अचानक माहौल बदल दिया। अब रत्तीराम की होने वाली पत्नी सपना मीणा दौसा पीजी कॉलेज के छात्र संघ का चुनाव लड़ेगी। रत्तीराम और सपना मीणा की सगाई रविवार को दोनों परिवारों की मौजूदगी में धूमधाम से संपन्न हुई। राजस्थान में छात्रसंघ चुनाव 26 अगस्त को होने हैं। चुनाव परिणाम 27 अगस्त को आएंगे।

rattiram

Rajasthan : विधानसभा का सत्र 19 सितंबर से होगा, कई अहम विधेयक होंगे पारितRajasthan : विधानसभा का सत्र 19 सितंबर से होगा, कई अहम विधेयक होंगे पारित

एक साल का गैप करने से नहीं लड़ सकता चुनाव

रत्तीराम दौसा पीजी कॉलेज में एमए प्रीवियस का छात्र है। उन्होंने फाइनल ईयर और एमए प्रीवियस के बीच एक साल का गैप कर लिया था। इस वजह से उन्हें अयोग्य करार दिया गया है। सपना मीणा बीएससी द्वितीय वर्ष की छात्रा है। परिवार की मौजूदगी में दोनों छात्रों की सगाई की गई। अब सपना मीणा दौसा पीजी कॉलेज के छात्र संघ का चुनाव लड़ेगी। रत्तीराम बताते हैं सपना का गांव उनके गांव से 4 किलोमीटर दूरी पर है।

rattiram

दो साल बाद होंगे छात्रसंघ चुनाव

राजस्थान में कोरोना के चलते छात्र संघ चुनाव पर रोक लगा दी गई थी। राज्यपाल की ओर से गठित टास्क फोर्स ने भी चुनाव नहीं कराने का फैसला किया था। दौसा में दिग्गज नेता सचिन पायलट और किरोड़ी लाल मीणा पर्दे के पीछे छात्र संघ चुनाव में सक्रिय रहते हैं। हालांकि सचिन पायलट ने कभी खुलकर किसी प्रत्याशी का समर्थन नहीं किया। राजस्थान में 15 विश्वविद्यालयों में छात्र संघ चुनाव होने हैं। छात्र संघ चुनाव में 6 लाख से ज्यादा मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे।

rattiram

Comments
English summary
If student union is disqualified from contesting elections, then get engaged to a college student, will defeat opponents by contesting elections
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X