• search
जबलपुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

जबलपुर से भागा कोरोना पॉजिटिव बंदी नरसिंहपुर में गिरफ्तार, डीजीपी ने रखा था 50 हजार का इनाम

|

भोपाल। मध्य प्रदेश के जबलपुर से फरार कोरोना संक्रमित मरीज जावेद खान नरसिंहपुर के मदनपुर चेक पोस्ट पर पकड़ा गया। जावेद का इलाज जबलपुर के नेताजी सुभाष चंद्र बोस मेडिकल कॉलेज में चल रहा था। जानकारी के मुताबिक, अस्पताल से भागने के बाद वो ट्रक से हाईवे तक गया और वहां से बाइक चोरी करके इंदौर की तरफ भाग रहा था, तभी चेकिंग कर रही पुलिस ने उसे पकड़ा और गिरफ्तार कर लिया। बता दें, जावेद की गिरफ्तारी एनएसए के तहत हुई थी, जिसके बाद उसे जबलपुर के सेंट्रल जेल में भेजा गया था।

कोरोना वैक्सीन: ऑक्सफोर्ड ही नहीं, ये 6 वैक्सीन भी पहुंच चुकी हैं थर्ड फेज के ट्रायल में

रासुका के तहत की गई थी कार्रवाई

रासुका के तहत की गई थी कार्रवाई

कोरोना संक्रमित जावेद खान को एक अन्य आरोपित के साथ 9 अप्रैल को इंदौर से सेंट्रल जेल जबलपुर लाया गया था। जेल अधीक्षक गोपाल ताम्रकार ने जेल के भीतर प्रवेश न देकर उसे मेडिकल परीक्षण के लिए विक्टोरिया अस्पताल भेज दिया था। विक्टोरिया में भर्ती कर 10 अप्रैल को उसके थ्रोट स्वाब के नमूने जांच के लिए एनआईआरटीएच आईसीएमआर भेजे गए थे। 11 अप्रैल को कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद उसे विक्टोरिया से मेडिकल के आइसोलेशन वार्ड में शिफ्ट किया गया था। जावेद के अलावा तीन अन्य बंदियों को भी इंदौर से भेजा गया है, जो केंद्रीय जेल में बंद हैं। इंदौर में चंदननगर क्षेत्र में पुलिसकर्मियों पर हमले के मामले में जावेद पर रासुका के तहत कार्रवाई की गई थी और उसे जबलपुर भेजा गया था।

सुरक्षा में लगे चार आरक्षक सस्पेंड

सुरक्षा में लगे चार आरक्षक सस्पेंड

जावेद रविवार शाम 4 बजे भागा था, सुरक्षा में तैनात पुलिस के चार जवान इससे बेखबर रहे।जावेद खान की सुरक्षा ड्यूटी में लगे आरक्षक सूरज शर्मा, आरक्षक राहुल देवड़ा, आरक्षक मुकेश कुमार, आरक्षक अखिलेश को एसपी अमित सिंह ने निलंबित कर केस दर्ज करने के निर्देश दिए। वहीं, फरार आरोपित पर भी मामला दर्ज किया गया। एसपी अमित सिंह ने जावेद की गिरफ्तारी पर 10 हजार का इनाम घोषित किया था। इसके बाद आईजी भगवत सिंह चौहान ने 25 हजार का इनाम घोषित किया। लेकिन आरोपित के देर रात तक नहीं मिलने पर डीजीपी ने आरोपित की सूचना देने वाले को 50 हजार का इनाम देने की घोषणा की थी। माना जा रहा है कि देश में पहली बार किसी कोरोना संक्रमित मरीज की जानकारी देने पर इनाम घोषित किया गया।

मध्य प्रदेश में कोरोना का खतरा

मध्य प्रदेश में कोरोना का खतरा

बता दें, मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है। रविवार को राजधानी भोपाल में मरीजों की संख्या 200 के पार हो चुकी है। इस लिस्ट में छोटे बच्चे भी शामिल हो चुके हैं। शनिवार को भोपाल में संक्रमण का कोई भी मामला सामने नहीं आया था। इस संक्रमण की चपेट से 30 लोग बाहर भी आ चुके हैं। इन लोगों को इलाज के बाद अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है। रविवार को आई एक रिपोर्ट में 27 नए लोगों के कोरोना पॉजिटिव होने की बात सामने आई है।

इंदौर में सर्वे करने गई मेडिकल टीम पर अब चाकू से हमला, बीच-बचाव करने आए युवक के लगा चाकू

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
corona positive patient who escaped from Jabalpur caught in Narsinghpur
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X