• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

दुनिया के प्रसिद्ध 'हैकर' आखिर क्यों बन गया 'व्हिसलब्लोअर, जानें पीटर की दास्तान

इस साल जनवरी में Zatko को कंपनी से निकाल दिया गया था। उन्होंने आरोप लगाया था कि उन्हें ट्विटर (Twitter) की खामियां बताने की वजह से निकाला गया था।
Google Oneindia News

न्यूयॉर्क, 24 अगस्त : कंप्यूटर हैकिंग की दुनिया में इस 'बेताज बादशाह' को लोग 'मुज'के नाम से जानते हैं। हम बात कर रहें हैं पीटर ज़टको की, जो कभी ट्विटर के पूर्व सिक्योरिटी चीफ हुआ करते थे। इस साल जनवरी में Zatko को कंपनी से निकाल दिया गया था। उन्होंने आरोप लगाया था कि उन्हें ट्विटर (Twitter की खामियां बताने की वजह से निकाला गया था।

ट्विटर और उनके बॉट्स चर्चा में, जटको ने आरोप लगाए

ट्विटर और उनके बॉट्स चर्चा में, जटको ने आरोप लगाए

ट्विटर के नाम एक फिर बॉट्स को लेकर चर्चा में हैं। कंपनी के पूर्व सुरक्षा प्रमुख पीटर ज़टको ने ट्विटर पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। उनका आरोप है कि, ट्विटर ने बॉट्स और सेफ्टी पर कई झूठ बोले हैं। अभी हाल ही में एलन मस्क ने जो ट्विटर की डील कैंसिल की है उसकी बड़ी वजह भी प्लेटफॉर्म्स पर मौजूद बॉट्स ही थे।

जटको को झटके में निकाला गया था

जटको को झटके में निकाला गया था

इस साल जनवरी में Zatko को कंपनी से निकाल दिया गया था। उन्होंने आरोप लगाया था कि उन्हें Twitter की खामियां बताने की वजह से निकाला गया था. पिछले महीने उन्होंने SEC (सिक्योरिटी एंड एक्सचेंज कमीशन) से ट्विटर की शिकायती भी की थी।

पीटर ज़टको कौन है?

पीटर ज़टको कौन है?

पीटर जटको दुनिया के प्रसिद्ध हैकर हैं। उन्हें अमेरिका के शीर्ष साइबर सुरक्षा विशेषज्ञों में से एक माना जाता है। जब ट्विटर पर बड़े पैमाने पर साइबर हमला हो रहा था, उस वक्त ट्विटर के पूर्व प्रमुख जैक डोरसी ने उन पर भरोसा कर काम पर रखा था। वह नवंबर 2020 से जनवरी 2022 तक ट्विटर के सुरक्षा प्रमुख के पद पर कार्य किया।

पीटर जटको का सफर

पीटर जटको का सफर

ट्विटर से पहले जटको ने अपना मुकाम बनाने के लिए काफी संघर्ष किया। इस दौरान उन्होंने इलेक्ट्रॉनिक भुगतान कंपनी स्ट्राइप में सुरक्षा निगरानी का काम किया। उन्होंने काफी संघर्ष के बाद गूगल में विशेष परियोजनाओं पर भी काम किया। इस दौरान उन्होंने यूएस पेंटागन की रक्षा उन्नत अनुसंधान और परियोजना एजेंसी (DARPA) में साइबर सुरक्षा से संबंधित परियोजनाओं पर काम किया।

1990 में करियर शुरू हुआ था

1990 में करियर शुरू हुआ था

ज़टको का करियर 1990 के दशक में शुरू हुआ। उन्होंने इस दौरान सरकारी ठेकेदार के लिए एक साथ वर्गीकृत कार्य किए। वे 'कल्ट ऑफ द डेड काउ'नामक हैकिंग ग्रुप के प्रमुख लोगों में से एक थे। उन्हें हैकिंग के क्षेत्र का शहंशाह कहा जाता था। बता दें कि, Microsoft को सुरक्षा में सुधार के लिए बाध्य करने, विंडोज हैकिंग टूल जारी करने के लिए समूह कुख्यात था।

ट्विटर ने क्यों निकाला?

ट्विटर ने क्यों निकाला?

ट्विटर में कार्य करते वक्त एक समय उन पर खराब प्रदर्शन के आरोप लगाए गए। जनवरी में कंपनी के सीईओ पराग अग्रवाल ने उन पर खराब प्रदर्शन और अप्रभावी नेतृत्व के लिए बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। हालांकि, उन्होंने आरोप लगाया था कि उन्हें Twitter की खामियां बताने की वजह से निकाला गया था। वहीं, टाइम की एक रिपोर्ट के अनुसार जटको को उनके दावे के आधार पर शुरू की गई औपचारिक जांच के लिए बार-बार सुरक्षा उल्लंघनों का दस्तावेजीकरण शुरू करने के बाद निकाल दिया गया था।

(Photo Credit: Twitter & other Social Media)

ये भी पढ़ें : भारत सरकार ने पेरोल पर Twitter एजेंट रखने का बनाया दबाव? ट्विटर के पूर्व सिक्योरिटी चीफ का आरोपये भी पढ़ें : भारत सरकार ने पेरोल पर Twitter एजेंट रखने का बनाया दबाव? ट्विटर के पूर्व सिक्योरिटी चीफ का आरोप

Comments
English summary
Zatko is a famous hacker and one of USA's top cybersecurity experts. He was hired by former Twitter head Jack Dorsey in 2020 after Twitter suffered a massive cyberattack, Zatko said in an interview with CNN. He was Twitter’s security lead from November 2020 to January 2022.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X