• search

अमरीकी राजनयिकों के साथ चीन में ये क्या हो रहा है?

Subscribe to Oneindia Hindi
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts
    अमरीका
    Getty Images
    अमरीका

    अमरीकी विदेश मंत्रालय ने चीन में अपने लोगों से आग्रह किया है कि वो असामान्य आवाज़ या दृश्य को लेकर सतर्क रहें.

    एक कर्मचारी की रहस्यमय स्थिति के बाद विदेश मंत्रालय ने यह चेतावनी जारी की है. एक व्यक्ति ने तेज़ और संदिग्ध, लेकिन असामान्य, सनसनीखेज आवाज़ और दबाव की शिकायत की थी.

    अमरीकी विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने कहा कि मेडिकल की कसौटी पर देखें तो ये वैसा ही मामला है जैसा क्यूबा में अमरीकी दूतावास के लोगों को सामना करना पड़ा था.

    'ट्रेड वॉर' के बीच चीन अमरीका से ज़्यादा आयात को तैयार

    ट्रंप
    Getty Images
    ट्रंप

    चीन और अमरीका के संबंध हाल के दिनों में ख़राब हुए हैं और दोनों देशों के बीच एक ट्रेड वॉर की आशंका है. विदेश मंत्रालय का कहना है कि वो इस वाक़ये को गंभीरता से ले रहा है. हालांकि अमरीका ने इसके लिए चीन पर कोई आरोप नहीं लगाया है.

    चीन में क्या हुआ?

    अमरीकी दूतावास की प्रवक्ता जिनी ली ने कहा कि कर्मचारियों को ग्वांगजोऊ शहर में साल 2017 के आख़िरी और अप्रैल 2018 के बीच कई तरह की शारीरिक विकृतियों का सामना करना पड़ा. इसके बाद कर्मचारियों को वापस अमरीका भेजा गया. 18 मई को अमरीकी दूतावास को पता चला कि कर्मचारी दिमाग़ी चोट से पीड़ित थे.

    ली का कहना है कि अभी तक इसकी वजहों का पता नहीं चल पाया है. उन्होंने कहा कि राजनयिक घेरे के बाहर चीन में कहीं और ऐसी स्थिति के बारे में अब तक उन्हें कुछ पता नहीं है. ली ने कहा कि अमरीकी सरकार ने इन वाक़यों को गंभीरता से लिया है. चीन के अधिकारियों को इस बारे में सूचित किया गया है.

    ली ने कहा, ''हमने अपने लोगों को सतर्क किया है कि संदिग्ध आवाज़ या रौशनी से सामना करना पड़े तो उसकी ओर जाने की कोशिश नहीं करें बल्कि उस तरफ़ जाएं जहां आवाज़ नहीं है.'' ली ने कहा कि चीन ने आश्वस्त किया है कि वो इसकी जांच करेगा.

    क्या है मामला

    इसी तरह का संदिग्ध वाक़या क्यूबा की राजधानी हवाना में अमरीकी राजनयिकों के साथ हुआ था. तब इसे सोनिक हमला कहा गया था.

    पॉम्पियो ने हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स में विदेशी मामलों की समिति के सामने कहा है कि मेडिकल जांच से पता चला है कि यह क्यूबा के सोनिक हमले की तरह ही है.

    उन्होंने कहा एक मेडिकल टीम जांच के लिए भेजी गई है. पॉम्पियो ने कहा, ''हम क्यूबा और चीन दोनों जगहों पर सच तक पहुंचने की कोशिश कर रहे हैं.''

    अमरीका-क्यूबा में तनाव, वापस बुलाए राजनयिक

    अमरीका और चीन की इस जंग में कौन पिसेगा?

    जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

    BBC Hindi
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    What is happening in China with American diplomats

    Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
    पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

    X