• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की प्रक्रिया शुरू, यूक्रेन के नेता से की थी बात

|
    America में Donald Trump के खिलाफ Impeachment की प्रक्रिया शुरू, जानें क्यों ? | वनइंडिया हिंदी

    अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की स्पीकर नैन्सी पेलोसी ने मंगलवार को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की प्रक्रिया शुरू करने की घोषणा कर दी है। ऐसा कई डेमोक्रेटिक नेताओं के दबाव के बाद किया जा रहा है।

    इस महाभियोग प्रक्रिया में इस बात की जांच की जाएगी कि क्या ट्रंप ने 2020 के राष्ट्रपति चुनाव में जीत हासिल करने के लिए अपनी शक्तियों का गलत इस्तेमाल किया था।

    Trump

    क्या उन्होंने दोबारा राष्ट्रपति चुने जाने के लिए विदेशी सरकार से सहायता मांगी थी। पेलोसी का कहना है कि अगर ट्रंप पर लगे आरोप सही साबित होते हैं, तो उन्होंने अमेरिकी संविधान का उल्लंघन किया है। उन्होंने कहा कि "राष्ट्रपति की जवाबदेही तय होनी चाहिए, कोई भी कानून से ऊपर नहीं है।"

    वॉचडॉग से शिकायत की

    वॉचडॉग से शिकायत की

    बात बीते हफ्ते की है, तब कहा गया कि अमेरिका के खुफिया अधिकारियों ने सरकार के एक वॉचडॉग से इस बात की शिकायत की थी कि ट्रंप ने एक विदेशी नेता से बातचीत की है। बाद में इस बात की जानकारी मिली कि वो विदेशी नेता कोई और नहीं बल्कि यूक्रेन के राष्ट्रपति व्लोदीमीर जेलेंस्की हैं।

    सैन्य सहायता पर रोक की धमकी

    सैन्य सहायता पर रोक की धमकी

    बाद में इस शिकायत को खुफिया इंस्पेक्टर ने ध्यान में लाने योग्य बताया। इस शिकायत की कॉपी की डेमोक्रेटिक नेताओं ने मांग भी की थी, लेकिन ना तो व्हाइट हाउस और ना ही अमेरिकी न्याय विभाग ने इसे मुहैया कराया। हालांकि दोनों नेताओं के बीच क्या बातचीत हुई, ये अभी साफ नहीं हो पाया है।

    लेकिन डेमोक्रेटिक पार्टी आरोप लगा रही है कि ट्रंप ने यूक्रेन के राष्ट्रपति से ड्रेमोक्रेटिक प्रतिद्विंद्वी जो बाईडन और उनके बेटे के खिलाफ भ्रष्टाचार के दावों की जांच शुरू करने को कहा था। केवल इतना ही ट्रंप ने उनपर इस बात का भी दबाव बनाया कि अगर वह ऐसा नहीं करते तो उन्हें दी जा रही सैन्य सहायता पर रोक लगा दी जाएगी।

    "प्रैसिडेंशियल हरैसमैंट"

    ट्रंप ने उन आरोपों से इनकार कर दिया है जिनमें कहा गया है कि उन्होंने बाईडन और उनके बेटे के खिलाफ भ्रष्टाचार के दावों की जांच करने के लिए दबाव बनाया था। जबकि उन्होंने इस बात को स्वीकार किया है कि उन्होंने जेलेंस्की से बाईडन को लेकर बातचीत की थी। ट्रंप का कहना है कि उन्होंने सैन्य मदद रोकने की धमकी इसलिए दी ताकि यूरोप भी मदद के लिए आगे आए।

    वहीं बाईडन ने भी इस प्रक्रया को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है, लेकिन कहा है कि ये खुद ट्रंप की वजह से ही हो रहा है। पूर्व उप राष्ट्रपति बाईडन ट्रंप को 2020 के राष्ट्रपति चुनाव में टक्कर दे सकते हैं। ट्रंप ने संयुक्त राष्ट्र में विश्व नेताओं से मुलाकात के बीच अपना बचाव किया है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, "प्रैसिडेंशियल हरैसमैंट।"

    अमेरिकी फिटनेस विशेषज्ञ ने अपने प्रतिद्वंद्वियों को परेशान करने के लिए बनाए 300 से अधिक फेक अकाउंट

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    US President Donald Trump faces impeachment probe over call to Ukraine leader
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X