India
  • search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

ईरान को अमेरिका की चेतावनी,प्रदर्शनकारियों को न मारने की हिदायत,कहा-बातचीत के दरवाजे अभी भी खुले

|
Google Oneindia News
Iran-US Tension : Iran के हमले के बाद America ने जताई नाराजगी, Iraq से कार्रवाई की अपील | वनइंडिया

नई दिल्ली। अमेरिका और ईरान के बीच तनाव पर दुनियाभर की निगाहें टिकी हुई है। ईरान में अमेरिका के खिलाफ एक बार फिर से कदम उठाया और रविवार को फिर अमेरिका पर बड़ा हमला किया है। एएनआई के मुताबिक ईरान ने इराक के अल बलाद एयरबेस पर अमेरिकी ठिकानों पर 6 रॉकेट दागे हैं, जिसमें दो इराकी अफसर समेत 4 लोग घायल हो गए। ईराक की कर्रवाई के बाद अमेरिका ने चेतावनी दी है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरानी नेताओं को चेतावनी देते हुए कहा है कि वो अपने प्रदर्शनकारियों को नहीं मारे। वहीं इराक के अल बलाद एयरबेस पर ईरान द्वारा किए गए हमले को लेकर अमेरिका ने नाराजगी जताई है और इराक स कार्रवाई की अपील की है। इस हमले में दो इराकी ऑफिसर भी घायल हो गए।

 US-Iran Tension: US President Donald Trump another warning to Iranian leaders said Do not kill your Protesters

वहीं राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इशारा किया है कि ईरान से अभी भी बातचीत के दरवाजे खोले हुए हैं। अमेरिकी रक्षा मंत्री मार्क एस्पर ने कहा कि ट्रंप ने अभी भी ईरान के नेताओं के साथ बातचीत की इच्छा जताई हुई है।

ट्रंप ने कहा कि ईरानी सरकार प्रदर्शनकारियों की सामूहिक हत्‍या की हिमाकत नहीं करे। डोनाल्ट ट्रंप ने कहा कि हमारे राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने कहा है कि प्रतिबंध और प्रदर्शन ईरान को बातचीत के लिए विवश करेंगे। उन्होंने बाचतीच के संकेत देते हुए कहा कि यदि ईरान पहल करता है तो इसकी अनदेखी नहीं की जा सकती है। हालांकि उन्होंने कहा कि बातचीत की पहलकदमी पूरी तरह ईरान के रवैये पर निर्भर करेगी। इसके लिए ईरान को परमाणु हथियार हासिल करने की कोशिशों से बाज आना होगा।

वहीं अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने एयरबेस पर हुए हमले पर नाराजगी जताई और कहा कि इराकी एयरबेस पर एक और रॉकेट हमले की रिपोर्ट से नाराज हूं। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि मैं घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की प्रार्थना करता हूं। उन्होंने कहा कि मैं इराकी सरकार से इस हमले के लिए जिम्मेदार लोगों को पकड़ने की अपील करता हूं।

वहीं ईरान में लोग अपने ही सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन पर उतर आए हैं। ईरानी सरकार ने दावा किया है कि उन्होंने गलती से तेहरान में यूक्रेन के एयरलाइन को मार गिराया, जिसमें 176 लोगों की मौत हो गई। ईरान सरकार के कबूलनामे के बाद अब लोग सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

जहां एक ओर अमेरिकी ने बातचीत के लिए इशारा किया तो वहीं रविवार को ईरान ने इराक में अमेरिकी एयरबेस पर हमला किया। अमेरिकी के रवैये को देखकर साफ है कि वो कभी चुप नहीं रहेगा और ईरान के हमले का जबाव जरूर देगा। गौरतलब है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के निर्देश पर ईरानी सेना के जनरल कमांडर कासिम सुलेमानी की हत्या के बाद अमेरिकी और ईरान में तनाव जारी है।

<strong>BJP नेता का विवादित बयान, सार्वजनिक संपत्ति तोड़ने वाले दीदी के वोटर, यूपी-असम में हमने इन्हें कुत्तों की तरह पीटा</strong>BJP नेता का विवादित बयान, सार्वजनिक संपत्ति तोड़ने वाले दीदी के वोटर, यूपी-असम में हमने इन्हें कुत्तों की तरह पीटा

https://publish.twitter.com/?query=https%3A%2F%2Ftwitter.com%2FANI%2Fstatus%2F1216517416290639873&widget=Tweet
Comments
English summary
US President Donald Trump: National Security Adviser suggested today that sanctions&protests have Iran "choked off", will force them to negotiate. Actually,I couldn't care less if they negotiate. Will be totally up to them but, no nuclear weapons and "don't kill your protesters."
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X