• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Hong Kong: चीन के काले कानून के खिलाफ उग्र हुए प्रदर्शन, अमेरिकी झंडे भी थे हाथ में

|

हांगकांग। हांगकांग में चीन के सुरक्षा कानून के खिलाफ प्रदर्शन और ज्‍यादा उग्र हो गए हैं। यहां हुए प्रदर्शनों में हजारों लोग इकट्ठा हैं और इन पर पुलिस ने आंसू गैस का प्रयोग करना पड़ा है। अब तक 180 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। खास बात है कि हांगकांग में प्रदर्शन के दौरान लोगों ने हाथ में अमेरिका के झंडे लिए हुए थे। रविवार के बाद सोमवार को भी शहर में चीन के राष्‍ट्रीय सुरक्षा कानून के खिलाफ बड़े स्‍तर पर प्रदर्शन हुआ।

यह भी पढ़ें-कोरोना वायरस: पाकिस्‍तान को अमेरिका की तरफ से मिले 6 मिलियन डॉलर

चीन चाहता है जल्‍द लागू हो राष्‍ट्रीय कानून

चीन चाहता है जल्‍द लागू हो राष्‍ट्रीय कानून

चीन जल्‍द ही इस कानून को हांगकांग पर लागू करना चाहता है। प्रदर्शनकारियों को काबू में करने के लिए पुलिस को कोई राउंड टीयर गैस का प्रयोग करना पड़ा है। रविवार को पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प भी हुई और पुलिस ने लोगों को नीले झंडों के साथ वॉर्निंग दी है। ये सभी प्रदर्शनकारी एक डिपार्टमेंट स्‍टोर के बाहर इकट्ठा थे। साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्‍ट के मुताबिक हेनेसी रोड और परसाइवल स्‍ट्रीट के बीच जंक्‍शन के करीब प्रदर्शन ने उस समय हिंसक रूप ले लिया जब पुलिस ने लोगों को हटाने के लिए आंसू गैस का प्रयोग किया।

प्रदर्शनकारी कर रहे आजादी की बात

प्रदर्शनकारी कर रहे आजादी की बात

प्रदर्शनकारी यहां से निकल ग्‍लूसेस्‍टर रोड पर पहुंच गए। कुछ प्रदर्शनकारियों के हाथ में बैनर्स थे जिस पर लिखा था, 'स्‍वर्ग चाइनीज कम्‍युनिस्‍ट पार्टी को बर्बाद कर देगा।' इसके बाद प्रोटेस्‍ट कर रहे लोग वान चाइ की तरफ मार्च करने लगे। कुछ प्रदर्शनकारियों के हाथ में अमेरिकी झंडे भी थे। कुछ पुलिस को गालियां दे रहे थे। कुछ ऐसे भी थे हांगकांग की आजादी की बात कर रहे थे। कुछ कह रहे थे कि 'हांगकांग की आजादी ही अब एकमात्र रास्‍ता है। चीन ने कहा है कि वह हांगकांग में

विवादित राष्‍ट्रीय सुरक्षा कानून को लेकर आएगा और वह भी बिना किसी देरी के।

प्रदर्शनकारियों पर लगेगा देशद्रोह कानून

प्रदर्शनकारियों पर लगेगा देशद्रोह कानून

प्रदर्शनकारियों के खिलाफ चीनी सरकार ने देशद्रोह कानून लगाने की तैयारी कर ली है। चीन के विदेश मंत्री वांग वाई ने कहा है कि पिछले एक वर्ष से प्रदर्शन जारी हैं और अब यह कानून लगाना बाध्‍यता हो गई है। 28 मई को माना जा रहा है कि नेशनल पीपुल्‍स कांग्रेस की स्‍टैंडिंग कमेटी की तरफ से राष्‍ट्रीय सुरक्षा कानून को पास कर दिया जाएगा। हांगकांग की सरकार ने दंगाईयों की निंदा की है और कहा है कि वो जो कुछ भी कर रहे हैं वह गैरकानूनी है।

चीनी राष्‍ट्रगान के विरोध में तीन साल की सजा

चीनी राष्‍ट्रगान के विरोध में तीन साल की सजा

हांगकांग में जो प्रदर्शन हो रहे हैं वह चीन के उस राष्‍ट्रीय गान के विरोध में भी है जिसका अपमान हांगकांग में अपराध माना जाएगा। इस बिल को हांगकांग के सिटी लीडर कैरी लाम ने सर्वोच्‍च प्राथमिकता करार दिया है। इस बिल के बाद चीनी राष्‍ट्रगान का अपमान अपराध माना जाएगा जिसके लिए तीन साल की सजा तय की गई है। अब बुधवार को इस बिल पर हांगकांग की काउंसिल में बहस होगी। सन् 1997 में यूनाइटेड किंगडम (यूके) ने हांगकांग को आजाद कर इसकी सत्‍ता चीन के हाथों में सौंप दी थी।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Protest against China in Hong Kong gets violent, 180 people have been arrested.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X