• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

भारत-अमेरिका में मानवाधिकार पर नहीं हुई चर्चा, कई मीडिया रिपोर्ट्स में किया गया गलत दावा- सूत्र

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली: अमेरिका के रक्षामंत्री लॉयड ऑस्टिन भारत के दौरे पर हैं और भारत के शीर्ष नेताओं के साथ भारत अमेरिका रक्षा संबंध को नई ऊंचाईयों पर ले जाने की कोशिश दोनों देशों के नेता कर रहे हैं। वहीं, शीर्ष सूत्रों से पता चला है कि अमेरिका ने भारत के सामने मानवाधिकार का मुद्दा नहीं उठाया है। और दोनों देशों के बीच मानवाधिकार के मुद्दे पर कोई बात नहीं हुई है।

LLOYD AUSTIN S JAYSHANKAR
    India-America के रक्षा मंत्रियों के बीच हुई वार्ता, रक्षा सहयोग बढ़ाने पर सहमति | वनइंडिया हिंदी

    मानवाधिकार पर बात नहीं

    दरअसल, कई मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया था कि अमेरिकी रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन भारतीय विदेश मंत्री एस. जयशंकर के सामने मानवाधिकार का मुद्दे को उठाया है। लेकिन भारत के शीर्ष सूत्रों का कहना है कि दोनों देशों के बीच मानवाधिकार के मुद्दे पर कोई बात नहीं हुई है। सूत्रों के मुताबिक, मानवाधिकार और वैल्यूज दोनों देशों के सामूहिक प्रकृति के तौर पर गिना गया है जबकि अफगानिस्तान में अल्पसंख्यकों के मानवाधिकर हनन को लेकर दोनों देशों के बीच बातचीत हुई है। दरअसल, अमेरिकी संस्था 'फ्रीडम हाउस' ने भारत के फ्रीडम इंडेक्स को कम कर दिया है और भारत को 'आंशिक मुक्त' की श्रेणी में रख दिया है और 'फ्रीडम हाउस' को अमेरिका सरकार की तरफ से ही दुनिया के मानवाधिकर पर नजर रखने के लिए फंड दिए जाते हैं। लिहाजा कई मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया था कि अमेरिका भारत के सामने मानवाधिकार का मुद्दा उठा सकता है, जिसे अब शीर्ष सरकारी सूत्रों ने खारिज कर दिया है। भारत पहले ही 'फ्रीडम हाउस' की रिपोर्ट को खारिज कर चुका है।

    भारत की सुरक्षा पर बात

    भारतीय सूत्रों के मुताबिक अमेरिकी रक्षामंत्री लॉयड ऑस्टिन से मुलाकात के दौरान भारतीय विदेश मंत्री एस. जयशंकर इंडो-पैसिफिक के अलावा पूर्वी एशिया के मुद्दों पर बात हुई। वहीं, भारत की सुरक्षा और सीमा पर बने खतरे को लेकर भी दोनों देशों के बीच बातचीत की गई। दोनों देशों के बीच बदलते वैश्विक हालात में बीच यूरोप और वेस्ट एशिया पर भी बातचीत की गई है।

    आपको बता दें कि अमेरिका के रक्षामंत्री लॉयड ऑस्टिन तीन दिनों के भारत दौरे पर हैं। सबसे पहले अमेरिकी रक्षामंत्री की मुलाकात भारतीय प्रधानमंत्री से हुई थी वहीं कल उनकी मुलाकात भारतीय एनएसए अजित डोवाल और भारतीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह से हुई थी। अमेरिकी रक्षामंत्री के दौरे में दोनों देशों के बीच डिफेंस कॉर्डिनेशन बढ़ाने से लेकर मिलिट्री टू मिलिट्री इंगेजमेंट को और बढ़ाने पर सहमति जताई गई है।

    भारत-अमेरिका रक्षामंत्रियों की बैठक, बनेंगे 21वीं सदी के सबसे मजबूत साझेदार, चीन को सीमा में रहने की नसीहत!भारत-अमेरिका रक्षामंत्रियों की बैठक, बनेंगे 21वीं सदी के सबसे मजबूत साझेदार, चीन को सीमा में रहने की नसीहत!

    Comments
    English summary
    There has been no discussion on the human rights issue between India and the United States. It was claimed in several media reports that the US has raised the human rights issue in front of India.
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X