• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

नेपाल में स्वामी रादमेव की कोरोनिल किट के वितरण पर लगाई गई रोक

|

काठमांडू, 09 जून। नेपाल को हाल ही में योग गुरू रामदेव की ओर से कोरोनिल किट बतौर गिफ्ट के तौर पर दी गई थी। लेकिन नेपाल के आयुर्वेद एंड अल्टरनेटिव मेडिसिन्स विभाग ने कोरोनिल के वितरण पर रोक लगा दी है। नेपाल की ओर से कहा गया है कि पतंजलि की ओर से 1500 कोरोनिल किट को लेने के दौरान सही प्रक्रिया का पालन नहीं किया गया था। बता दें कि पतंजलि की ओर से दावा किया गया है कि कोरोनिल कोरोना के मरीजों के लिए काफी कारगर है।

ramdev

दवा के बराबर कारगर नहीं

नेपाल सरकार की ओर से हाल ही में जो निर्देश जारी किया गया है उसके अनुसार कोरोनिल में जो टैबलेट और नाक में डालने वाला तेल है वह कोरोना वायरस के इलाज के लिए दी जाने वाली दवा के समान कारगर नहीं है। इसके अलावा नेपाल के अधिकारियों की ओर से हाल ही में भारतीय मेडिकल असोसिएशन के कोरोनिल के खिलाफ बयान का भी जिक्र किया गया है जिसमे बाबा रामदेव को चुनौती दी गई है कि वह कोरोना के इलाज में कोरोनिल कारगर है,इसे साबित करें।

भूटान पहले ही लगा चुका है रोक

बता दें कि भूटान के बाद नेपाल दूसरा देश है जिसने कोरोनिल किट के वितरण को रोक दिया है। भूटान की ड्रग रेगुलेटरी अथॉरिटी ने पहले ही कोरोनिल की किट के वितरण को रोक दिया था। अहम बात यह है कि नेपाल में पतंजलि बड़ा उत्पादन करता है, लिहाजा नेपाल पतंजलि ग्रुप का करीबी माना जाता है। हालांकि अभी यह साफ नहीं है कि पतंजलि के कोरोनिल वितरण पर लगाया प्रतिबंध कुछ समय के लिए है या अब इसका वितरण नहीं किया जाएगा।

पतंजलि को लेकर विवाद

सोमवार को यह मामला उस वक्त तूल पकड़ गया जब कहा गया कि कोरोनिल की किट को पूर्व स्वास्थ्य मंत्री के हृदयेश त्रिपाठी और महिला एवं बाल विकास मंत्री जूली महतो ने रिसीव किया। ठीक इसके बाद महतो और उनके पति रघुवीर महासेठ कोरोना संक्रमित पाए गए। जिस तरह से ओली सरकार ने कोरोनिल के वितरण पर प्रतिबंध लगाया है माना जा रहा है कि वह पतंजलि से दूरी बनाना चाहते हैं क्योंकि महतो के भाई उपेंद्र महतो बड़े उद्योगपति हैं और देश में पतंजलि के सबसे बड़े पार्टरन हैं।

इसे भी पढ़ें- कोरोनाकाल में ठप पर्यटन-उद्योग पर गुजरात सरकार का फैसला, टैक्स और बिजली बिल से छूट दीइसे भी पढ़ें- कोरोनाकाल में ठप पर्यटन-उद्योग पर गुजरात सरकार का फैसला, टैक्स और बिजली बिल से छूट दी

पिछले हफ्ते नेपाल की कैबिनेट में हुए बदलाव के बाद महासेठ को उपप्रधानमंत्री और विदेश मंत्रालय का जिम्मा सौंपा गया है। शेर बहादुर तमांग ने नए स्वास्थ्य मंत्री का कार्यभार संभाल लिया है। महतो और महासेठ नेपाल में मधेशी परिवार से आते हैं। यही नहीं रामदेव का पतंजलि उत्पादन केंद्र भी अधिकतर मधेश इलाके में है। स्थानीय रिपोर्ट के अनुसार नेपाल का यह फैसला मधेश और भारत के लोगों से जोड़कर देखा जा रहा है।

https://www.filmibeat.com/photos/aditi-rao-hydari-19764.html?src=hi-oiहैदराबाद के शाही परिवार में जन्मीं अदिति राव हैदरी का कैजुअल लुक

English summary
Nepal stopped the distribution of Ramdev Coronil which is said to treat coronavirus.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X