• search

ईरान के राष्ट्रपति रुहानी से मिलने को तैयार हैं ट्रंप

Subscribe to Oneindia Hindi
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts
    रुहानी और ट्रंप
    AFP
    रुहानी और ट्रंप

    अमरीका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने ईरान के राष्ट्रपति हसन रुहानी से मुलाक़ात की पेशकश की है.

    अमरीका के ईरान परमाणु संधि से बाहर आ जाने के बाद बीते मई से दोनों देशों के बीच रिश्ते तल्ख़ हुए हैं.

    अब राष्ट्रपति ट्रंप का अहम बयान आया है कि वो 'बिना किसी शर्त' और 'किसी भी वक़्त' ईरान के राष्ट्रपति से मिलने के लिए तैयार हैं.

    व्हाइट हाउस में इटली के प्रधानमंत्री के साथ आयोजित एक प्रेस वार्ता में डोनल्ड ट्रंप ने कहा, "मैं मुलाक़ात में भरोसा रखता हूं. मैं किसी से भी मिल सकता हूं. अगर वो चाहेंगे तो हम मिल सकते हैं."

    ट्रंप ने कहा कि वो पुरानी परमाणु संधि की जगह कुछ बेहतर हल निकालने के लिए बातचीत करना चाहते हैं.

    अमरीकी राष्ट्रपति की इस पेशकश से कुछ घंटे पहले ही ईरान के विदेश मंत्री ने अमरीका के साथ किसी भी तरह की बातचीत की संभावना से इनकार किया था.

    उन्होंने कहा था कि अमरीका भरोसे के लायक नहीं है.

    https://twitter.com/realDonaldTrump/status/1021234525626609666?ref_src=twsrc%5Etfw%7Ctwcamp%5Etweetembed%7Ctwterm%5E1021234525626609666&ref_url=https%3A%2F%2Fwww.bbc.co.uk%2Fnews%2Fworld-us-canada-45013683

    एक दूसरे को दी थी धमकियां

    महीने की शुरुआत में हसन रुहानी ने अमरीका को धमकी भरे लहज़े में कहा था, "अमरीका को पता होना चाहिए कि ईरान के साथ शांति रखेंगे तो पूरी दुनिया में शांति रहेगी और अगर ईरान के साथ युद्ध किया तो जंग बड़ा रूप ले सकती है."

    इसके जवाब में ट्रंप ने भी ईरान के राष्ट्रपति को चेतावनी देते हुए लिखा था कि अमरीका को 'कभी भी' डराने की कोशिश न करें.

    उन्होंने ईरान को ऐसे परिणाम भुगतने की धमकी दी थी जो आज तक किसी ने नहीं भुगते होंगे.

    2015 के समझौते में शामिल दूसरे देशों की आपत्तियों के बावजूद अमरीका ईरान के तेल, विमान निर्यात और बहुमूल्य धातुओं के व्यापार पर प्रतिबंध लगाने जा रहा है.



    ईरान का नतांज़ स्थित न्यूक्लियर प्लांट
    Getty Images
    ईरान का नतांज़ स्थित न्यूक्लियर प्लांट

    दोनों देशों के बीच विवाद का एक और बड़ा कारण है. अमरीका को शक है कि ईरान मध्य-पूर्व में संदिग्ध गतिविधियां कर रहा है.

    इसी वजह से अमरीका ने ईरान के दुश्मन देशों इसराइल और सऊदी अरब से हाथ मिलाया है.

    हालांकि, ईरान का दावा है कि उसका परमाणु कार्यक्रम एकदम शांतिपूर्ण है.


    जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

    BBC Hindi
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Iran ready to meet President Rohani

    Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
    पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

    X