• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

यौन उत्‍पीड़न के आरोपों से घिरे ब्रेट कैवनॉघ होंगे अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट के जज, आज होगी आधिकारिक पुष्टि

|

वॉशिंगटन। अमेरिकी सीनेट ने कई मतभेदों के बाद भी सुप्रीम कोर्ट के ज‍ज के तौर पर नामित ब्रेट कैवनॉघ के नाम पर मोहर लगा दी है। राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप की ओर से भी कैवनॉघ के समर्थन में कई बातें कहीं गई थीं और उनके समर्थन की वजह से बंटे हुए सीनेट ने कैवनॉघ के नाम को अपनी मंजूरी दे दी है। कैवनॉघ पर यौन उत्‍पीड़न के गंभीर आरोप लगे हैं। एफबीआई की ओर से उनके खिलाफ जांच की बातें भी कहीं गई थीं लेकिन कुछ नहीं हो सका। अमेरिकी कांग्रेस में रिपब्लिकन पार्टी की सुसान कोलिंस जो मैंने से सीनेटर हैं, एरिजोना से सीनेटर जेफ फ्लेक और डेमोक्रेटिक पार्टी के वेस्‍ट वर्जिनिया से जो मैनशिन थर्ड ने साफ कर दिया है कि वह कैवनॉघ के लिए वोट करेंगे।

us-supreme-court-judge.jpg

जानिए क्या है वो ऐतिहासिक Israel-UAE Peace Deal जिस पर Nobel के लिए हुआ ट्रंप का नामांकन

तीन हफ्ते पहले तक मुश्किल में थे कैवनॉघ

तीन हफ्ते पहले तक कैवनॉघ के नाम पर मोहर लगेगा, इस बात पर भी आशंका थी। एक और सीनेटर लीजा मुरकोव्‍स्‍की जो अलास्‍का से रिपब्लिकन पार्टी की सीनेटर हैं, सिर्फ वह हैं जो कैवनॉघ के विरोध में नजर आईं। उन्‍होंने कहा कैवनॉघ एक अच्‍छे इंसान हैं लेकिन इस कोर्ट के लिए फिलहाल सही व्‍यक्ति नहीं हैं। शनिवार को अब कैवनॉघ के लिए आखिरी बार वोटिंग होगी और इस वोटिंग के साथ ही उनके नाम पर आधिकारिक तौर पर मोहर लग जाएगी। 53 वर्ष के कैवनॉघ रिटायर्ड जस्टिस एंथोनी कैनेडी की जगह लेंगे। कैवनॉघ के नाम पर मोहर लगने का सीधा असर अगले माह होने वाले मध्‍यावधि चुनावों पर भी पड़ेगा। कहा जा रहा है कि महिला मतदाता राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप के खिलाफ वोट कर सकती हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Even after differences Senate has confirmed Brett Kavanaugh nomination for Supreme Court.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X