जी-20 सम्मेलन में कुछ इस तरह से अलग-थलग हो गया अमेरिका

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

हैमबर्ग। हाल ही में पीएम मोदी जी20 सम्मेलन के लिए जर्मनी गए हुए थे। वहां पर पेरिस जलवायु समझौते पर भी बात हुई। जी20 शिखर सम्मेलन में शनिवार को जहां एक ओर भारत के साथ-साथ 18 अन्य सदस्य देशों ने पेरिस जलवायु समझौते को न बदला जा सकने वाला समझौता करार दिया, वहीं दूसरी ओर अमेरिका अलग-थलग सा पड़ गया।

जी-20 सम्मेलन में कुछ इस तरह से अलग-थलग हो गया अमेरिका

आपको बता दें कि वॉशिंगटन ने यह फैसला किया है कि वह इस समझौते से अलग होगा। इस सम्मेलन के दौरान ही शहर में हिंसक प्रदर्शन भी हुए जहां हजारों पूंजीवाद प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच संघर्ष हुआ। एंजेला मार्केल ने कहा कि अमेरिका पेरिस समझौते के खिलाफ रहा, जबकि अन्य सभी सदस्यों ने इस समझौते का समर्थन किया है। आखिरकार जी-20 की आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा गया कि पेरिस समझौते में परिवर्तन नहीं किया जा सकता है।

ये भी पढ़ें- जी-20: वर्ल्ड की लेडी लीडर्स से मिले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

जी-20 सम्मेलन के दौरान पीएम मोदी ने इटली के प्रधानमंत्री पाओली जेंटीलोनी, दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जेन-इन और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ मुलाकात की। इसके अलावा उन्होंने मेक्सिको, अर्जेंटीना, ब्रिटने और वियतनाम के नेताओं से भी मुलाकात की। फिलहाल पीएम मोदी इस दो दिवसीय जी-20 शिखर सम्मेलन में भाग लेकर वापस भारत लौट चुके हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
eighteen countries support paris climate pact, US isolated
Please Wait while comments are loading...