• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कोरोवायरस का कहर झेलने वाले ईरान में अब भूकंप, ज्‍वालामुखी के करीब आए झटके से लोग दहशत में

|

तेहरान। कोरोना वायरस से बुरी तरह प्रभावित ईरान में भूकंप ने लोगों के बीच डर और दहशत का माहौल पैदा कर दिया है। शुक्रवार को ईरान की सबसे ऊंची पहाड़ी दमावंद के करीब आए इस भूकंप में एक की मौत हो गई है। दमावंद में आए भूकंप से राजधानी तेहरान में इमारतें इतनी तेजी हिलने लगीं कि लोग अपने घरों से निकलकर भागने लगे। यूएस जियोलॉजिकल सर्वे (यूएसजीएस) की तरफ से दी गई जानकारी के मुताबिक स्‍थानीय समयानुसार रात करीब 12 बजकर 48 मिनट पर 4.6 की तीव्रता वाला भूकंप आया है।

यह भी पढ़ें- डोनाल्‍ड ट्रंप ने पुलित्‍जर अवॉर्ड जीतने वाले अखबारों को कहा चोर

डरे हुए लोग घरों से निकले बाहर

डरे हुए लोग घरों से निकले बाहर

दमावंद और तेहरान की दूरी करीब 55 किलोमीटर है। न्‍यूज एजेंसी एएफपी के मुताबिक भूकंप की वजह से तेहरान में लोग इतना डर गए कि जान बचाने के लिए रात को ही अपने घरों से निकल सड़कों और पार्क में आ गए। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के प्रवक्‍ता कियानुश जहानपुर में ट्विटर पर बताया कि भूकंप के झटके में एक व्‍यक्ति की जान चली गई तो वहीं सात और लोग घायल हो गए हैं। उन्‍होंने लोगों से शांत रहने और सुरक्षा के लिए जरूरी निर्देशों का पालन करें।

अक्‍सर आते रहते हैं ईरान में झटके

अक्‍सर आते रहते हैं ईरान में झटके

यूएसजीएस ने अपनी वेबसाइट पर बताया है कि भूकंप करीब 10 किलोमीटर की गहराई तक था। इसका केंद्र दक्षिण में माउंट दमावंद था। यह एक ज्वालामुखी पर्वत है जिसकी ऊंचाई 5,671 मीटर है और ईरान का सबसे ऊंचा पहाड़ है। ईरान, टेटोनिक प्‍लेट्स के टॉप पर है और अक्‍सर यहां पर झटके आते रहते हैं। 23 फरवरी को यहां के गांव हबाश-ए-ओलाया में आए भूकंप में 23 लोगों की मौत हो गई थी। इसके झटके ईरान से सटी टर्की में भी महसूस किए गए थे।

भूकंप में हो चुकी है 40,000 लोगों की मौत

भूकंप में हो चुकी है 40,000 लोगों की मौत

नवंबर 2017 में ईरान के पश्चिमी प्रांत खेरमानशाह में 7.3 की तीव्रता वाला भूकंप आया था। उस भूकंप में 620 लोगों की मौत हो गई थी। साल 2003 में 6.6 की तीव्रता का भूकंप दक्षिणी-पूर्वी हिस्‍से में स्थित बाम सिटी में आया था। उस भूकंप में 31,000 लोगों की मौत हो गई थी। ईरान में सबसे खतरनाक भूकंप साल 1990 में आया था। 7.4 की तीव्रता वाले उस भूकंप में उत्‍तरी ईरान में 40,000 लोगों की मौत हो गई थी और 30 लाख लोग घायल हो गए थे। करीब पांच लाख लोग बेघर हो गए थे।

 भूकंप की वजह से न्‍यूक्लियर प्‍लांट पर खतरा

भूकंप की वजह से न्‍यूक्लियर प्‍लांट पर खतरा

दिसंबर 2019 और इस वर्ष जनवरी में ईरान के बुशेहर न्‍यूक्लियर पावर प्‍लांट के करीब दो भूकंप आए थे। ईरान के पड़ोखी खाड़ी देशों की तरफ से देश के इस इकलौते न्‍यूक्लियर पवार प्‍लांट की विश्‍वसनीयता पर चिंता जताई है। यह प्‍लांट करीब 1,000 मेगावॉट बिजली का उत्‍पादन करता है। अगर कोई बड़ा भूकंप आता है तो फिर यहां से रेडियोएक्टिव लीक में लाखों लोगों की जान जाने का खतरा है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Earthquake near Iran's highest volcanic mountain Damavand jolts Tehran causes panic.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X