• search

डोनल्ड ट्रंप ने किया बंदूक रखने के नियमों में सुधार का समर्थन

By Bbc Hindi
Subscribe to Oneindia Hindi
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts
    डोनल्ड ट्रंप
    Getty Images
    डोनल्ड ट्रंप

    किसी को बंदूक रखने की इजाज़त देने से पहले उसकी पृष्ठभूमि की बेहतर ढंग से जांच करना ज़रूरी बनाने के प्रयासों का अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने 'समर्थन' किया है. यह जानकारी व्हाइट हाउस ने दी है.

    ट्रंप ने रिपब्लिकन सीनेटर जॉन कॉर्निग से द्विदलीय विधेयक पर बात की है. इस विधेयक में किसी को भी बंदूक ख़रीदने की इजाज़त देने से पहले की जाने वाली जांच प्रक्रिया को सुधारने का प्रस्ताव रखा गया है.

    इस मामले में ताज़ा प्रगति फ़्लोरिडा के एक स्कूल में हुई फ़ायरिंग के बाद हुई है. पिछले बुधवार को स्कूल में गोलीबारी करके 17 लोगों की जान लेने वाले संदिग्ध ने कानूनी रूप से बंदूक खरीदी थी.

    इस घटना के संदिग्ध निकोलस क्रूज़ ने पिछले साल सात राइफ़ल खरीदी थीं, जबकि 2016 में फ़्लोरिडा मेंटल हेल्थ वर्कर्स उनके मानसिक स्वास्थ्य की जांच कर रहे थे. इन्हीं में से एक राइफ़ल से बुधवार की घटना को अंजाम दिया गया.

    अमरीका: गन कंट्रोल को लेकर वॉशिंगटन की सड़कों पर उतरेंगे छात्र

    अमरीका: स्कूल में गोलीबारी, 17 की मौत

    फ़्लोरिडा फ़ायरिंग के संदिग्ध क्रूज़ को सोमवार को अदालत में पेश किया गया
    EPA
    फ़्लोरिडा फ़ायरिंग के संदिग्ध क्रूज़ को सोमवार को अदालत में पेश किया गया

    इस स्कूल के छात्रों ने हथियारों पर नियंत्रण के लिए सख़्त नियम बनाने की मांग की है.

    व्हाइट हाउस की प्रेस सेक्रेटरी सारा सैंडर्स ने राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप के रुख़ पर कहा, "अभी चर्चा चल रही है और सुधारों पर विचार चल रहा है. राष्ट्रपति फ़ेडरल बैकग्राउंड चेक सिस्टम को बेहतर बनाए जाने के प्रयासों के प्रति समर्थन भरा रवैया रखते हैं."

    वाइट हाउस
    CHIP SOMODEVILLA/GETTY IMAGES
    वाइट हाउस

    अभी क्या चेक किया जाता है?

    अगर अमरीका में कोई भी शख़्स बंदूक खरीदना चाहता है तो लाइसेंस धारी फ़ेडरल डीलरों को उसकी पृष्ठभूमि की जांच करनी होती है.

    बंदूक खरीदना चाह रहे लोगों को एक फॉर्म में अपने बारे में जानकारी देनी होती है और बताना होता है कि उनकी आपराधिक पृष्ठभूमि तो नहीं है.

    इसके बाद इस जानकारी को एफ़बीआई के नैशनल इंस्टेंट क्रिमिनल बैकग्राउंड चेक सिस्टम (एनआईसीएस) को दिया जाता है. एनआईसीएस ने पिछले साल ऐसे 2 करोड़ 25 लाख आवेदनों की जांच की थी.

    लेकिन इस सिस्टम में कुछ ख़ामियां हैं क्योंकि इसमें वही जानकारियां दर्ज होती हैं, जो किसी शख़्स के अपराध में दोषी पाए जाने या उसका मानसिक स्वास्थ्य ठीक न होने पर संघीय अधिकारियों की तरफ़ से मुहैया करवाई गई होती हैं.

    इस प्रणाली की नाकामी उस समय भी सामने आई थी, जब अमरीकी एयर फ़ोर्स ने स्वीकार किया था कि टेक्सस में 26 लोगों को मारने वाला शख़्स पहले भी घरेलू हिंसा के मामले में दोषी पाया गया था और एयर फ़ोर्स इसकी जानकारी एनआईसीएस को देने में नाक़ाम रही थी.

    बंदूक
    Getty Images
    बंदूक

    क्या बदलाव हो सकते हैं?

    टेक्सस शूटिंग के बाद रिपब्लिकन सीनेटर कॉर्निन और डेमोक्रैटिक सीनेटर क्रिस मर्फ़ी ने द्विदलीय बिल पेश किया था.

    इस बिल में प्रस्ताव रखा गया है कि केंद्रीय एजेसियों को बैकग्राउंड रिपोर्ट गंभीरता से और सटीकता से तैयार करनी होगी.

    अभी तक यह प्रस्ताव मात्र है और कांग्रेस ने इसे पास नहीं किया है.

    सोमवार को मर्फ़ी ने कहा कि राष्ट्रपति की तरफ से इस बिल को समर्थन मिलना दिखाता है कि बंदूकों से संबंधित हिंसा पर होने वाली राजनीति तेज़ी से बदल रही है. मगर उन्होंने यह भी कहा कि किसी को यह नहीं समझना चाहिए कि इस बिल से ही समस्या सुलझ जाएगी.

    गोलीबारी के बाद शूटर ने क्या-क्या किया

    बंदूकों के ख़िलाफ़ प्रदर्शन
    Getty Images
    बंदूकों के ख़िलाफ़ प्रदर्शन

    गन कंट्रोल पर क्या सोचते हैं ट्रंप

    समय के साथ गन कंट्रोल पर ट्रंप के नज़रिये में बदलाव आया है. अभी वह नियमों में बदलाव को लेकर समर्थन भरा रुख़ दिखा रहे हैं लेकिन 2016 में राष्ट्रपति पद की दौड़ के दौरान उन्होंने गन कंट्रोल का विरोध किया था.

    पिछले साल नैशनल राइफ़ल असोसिएशन के अधिवेशन में उन्होंने कहा था कि वह हथियार रखने के संवैधानिक अधिकार में कभी भी दख़ल नहीं देंगे.

    जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

    BBC Hindi
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Donald Trump did the support for improving the law of keeping guns

    Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
    पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

    X