• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Coronavirus: चीन का कोरोना के खिलाफ जंग जीतने का दावा फेल, कई शहरों फिर लॉकडाउन, गांवों में फैला संक्रमण

|

बीजिंग: China corona update: पिछले साल 11 जनवरी को चीन में कोरोना वायरस से पहली मौत रिपोर्ट की गई थी, और तब दुनिया ने पहली बार कोरोना वायरस के बारे में जाना था। चीन के गैर-जिम्मेदाराना रवैये की वजह से पूरा विश्व पिछले एक साल से परेशान है। हालांकि, चीन पिछले साल जुलाई से ही दावा करता रहा है, कि उसने कोरोना वायरस के खिलाफ जंग जीत ली है, लेकिन चीन के झूठ की कलई खुल गई है। क्योंकि, कोरोना संक्रमण बढ़ने से चीन के कई शहरों में फिर से लॉकडाउन लगाए जा रहे हैं। सबसे नया लंगफंग शहर में चीन सरकार ने एक हफ्ते का लॉकडाउन लगाया है। लंगफंग में रहने वाले 2 करोड़ लोगों को होम क्वारंटाइन कर दिया गया है।

CHINA CORONA

संक्रमण पर काबू पाने में जुटा प्रशासन

मंगलवार को बीजिंग के पास स्थिति लंगफंग शहर में रहने वाले करीब 50 लाख लोगों को होम क्वारंटाइन कर कोरोना संक्रमण को राजधानी में फैलने से रोकने की कोशिश की जा रही है। लंगफंग के लोकल प्रशासन का कहना है, कि शहरवासियों को एक हफ्ते तक घर से बाहर निकलने की इजाजत नहीं है, और कोरोना ग्राफ को डॉउन करने के लिए बड़े पैमाने पर न्यूक्लिक एसिड टेस्टिंग की जा रही है। चीन में कोरोना के नये सर्ज ने चीनी सरकार के माथे की चिंता को फिर से बढ़ा दिया है। वहीं, प्रशासन को आशंका है, कि कोरोना वायरस गांव तक पहुंच गया है, ये आशंका इसलिए है, क्योंकि, हेबेई प्रांत में एक शादी समारोह में 300 से ज्यादा लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गये हैं, जिनमें 200 से ज्यादा लोग गांव में रहने वाले किसान हैं।

कई शहरों में लोगों पर पाबंदियां

लंगफंग शहर के अंदर आने वाले गुआन और सेन्ह की सीमा राजधानी बीजिंग से लगती है। और इन जगहों पर रहने वाले लोगों के लिए सख्ती और ज्यादा है। चीन में कोरोना से बचने के लिए लगाए गये नये प्रोटोकॉल के तहत हेबेई में रहने वाले करीब एक करोड़ और जिंगाती शहर में रहने वाले करीब 70 लाख लोगों को बिना जरूरी घर से बाहर निकलने की इजाजत नहीं दी गई है। स्थानीय मीडिया रिपोर्टों में कहा गया है कि तीन शहरों में सख्त बंदी और नियंत्रण लगाए गये हैं। साथ ही हेबेई और लंगफंग शहरों को जोड़ने वाले राजमार्गों को भी बंद कर दिए गया है।

लगातार मिल रहे हैं कोरोना पॉजिटिव मरीज

चायना नेशनल हेल्थ कमीशन की रिपोर्ट के मुताबिक, मंगलवार को 55 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं, वहीं सोमवार को सौ से ज्यादा कोविड मरीज मिले थे। चीन के लिए सबसे परेशान करने वाली बात ये है, कि हेबेई प्रांत में मिले 42 मरीजों में से 40 मरीज स्थानीय लोगों की वजह से संक्रमित हुए हैं, यानि चीन में ग्रामीण स्तर पर भी कोरोना वायरस संक्रमण फैलने की संभावना जताई जा रही है। वहीं, राजधानी बीजिंग में 95 ऐसे लोगों की पहचान कर उन्हें क्वारंटाइन किया गया है, जो कोरोना संक्रमित लोगों के नजदीकी संपर्क में आये थे।

चायनीज एक्सपर्ट्स की चेतावनी

ग्लोबल टाइम्स ने मंगलवार को रिपोर्ट में कहा कि चीनी स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है, कि गांवों में संक्रमण चीन के लिए एक नई और बड़ी चुनौती बन गया है। उत्तर पश्चिम चीन के झिंजियांग उइगर स्वायत्त क्षेत्र (एक्सयूएआर) कोरोना संक्रमण से पहले ही प्रभावित है। एक्सपर्ट्स का मानना है, की गांवों तक संक्रमण को फैलने से रोकने में स्थानीय प्रशासन ने भारी लापरवाही बरती है। प्रशासन का सर्विलांस और टेस्टिंग प्रक्रिया भी सवालों में है । वहीं, संक्रामक रोग विशेषज्ञों ने चेतावनी जारी करते हुए कहा है, कि कोरोना के सुपर स्प्रेडरों की पहचान करना बेहद जरूरी है, और वक्त रहते अगर इनकी पहचान नहीं की गई, तो ये चीन के अनगिणत लोगों तक कोरोना वायरस पहुंचा सकते हैं।

आपको बता दें, कि चीनी सरकार के आंकड़ों के मुताबिक चीन में अब तक कोरोना वायरस के 87 हजार 591 मरीज मिले हैं। जिनमें 4 हजार 634 लोगों की मौत हुई है। वहीं, चीन लगातार ये दावा करता आ रहा था, कि उसने कोरोना वायरस को कंट्रोल करने में कामयाबी हासिल कर ली है।

बर्ड फ्लू से चिकन और अंडे के कारोबार पर मार, दिल्ली, यूपी समेत कई राज्यों में दामों में भारी गिरावट

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
China's claim to win the war against Corona fails, many cities again in lockdown, infection spread in villages
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X