• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

WHO की रिपोर्ट से पहले चीन का माइंडगेम, डिप्लोमेट्स के सामने खुद को बताया बेदाग, पेश की चार नये थ्योरी

|

बीजिंग: कोरोना वायरस की उत्पत्ति को लेकर अभी डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट आना बाकी है, लेकिन चीन ने पहले से ही अपनी चालें चलनी शुरू कर दी है। चीन ने नया चाल चलते हुए अलग अलग देशों के राजनयिकों से खुद को कोरोना वायरस को लेकर बेदाग बताना शुरू कर दिया है, वहीं, डब्ल्यूएचओ की फाइनल रिपोर्ट में हो रही देरी को लेकर भी तमाम सवाल उठ रहे हैं।

चीन का नया पैंतरा

चीन का नया पैंतरा

चीन ने शुक्रवार को अगल अलग देशों के डिप्लोमेट्स के सामने पैंतरेबाजी शुरू कर दी है। शुक्रवार को चीन ने कई देशों के राजनयिकों को इस संबंध में चल रहे एक रिसर्च को लेकर जानकारी दी। माना जा रहा है कि डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट आने से पहले चीन अपनी सफाई पेश कर रहा है। वहीं, डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट में हो रही देरी को लेकर भी कई सवाल उठ रहे हैं। अमेरिका समेत कई देशों ने डब्ल्यूएचओ पर चीन का प्रभाव और जांच में स्वतंत्रता पर सवाल उठाया हुआ है। वहीं, चीन ने खुद को बेदाग बताते हुए कहा है कि वैज्ञानिक रिसर्च का राजनीतिकरण किया जा रहा है। चीनी विदेश मंत्रालय के अधिकारी तांग शो ने कहा है कि ‘हमारा मकसद ये दिखाना है कि हम कितने पारदर्शी और खुले हुए हैं'। उन्होंने कहा है कि ‘चीन ने पारदर्शी तरीके से कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई लड़ी है और उसके पास छिपाने के लिए कुछ भी नहीं है'

चीन की सफाई

चीन की सफाई

चीन के सरकारी चैनल सीसीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक चीन ने 50 से ज्यादा देशों के डिप्लोमेट्स के सामने अपनी सफाई पेश की है। चायना सेन्टर फॉर डिजीज कंट्रोल के डिप्टी डायरेक्टर ने डिप्लोमेट्स से कोरोना वायरस फैलने के अलग अलग तरीकों को लेकर सफाई दी है। सीसीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक चीन की तरफ से पेश की सफाई में कहा गया है कि कोरोना वायरस चार तरहों से फैला होगा। जिसमें पहला शक ये है कि ये चमगादड़ों के जरिए इंसानों में आया हो या फिर कोरोना वायरस फैलने की दूसरी वजह हो सकती है कि चीन अलग अलग देशों से मीट खरीदता है और हो सकता है कि किसी दूसरे देश से कोरोना वायरस चीन तक पहुंचा हो। तीसरी वजह ये हो सकती है कि चमगादड़ से कोरोना वायरस पहले किसी और जानवर में फैला हो और उस जानवर से इंसानों में आया हो। इसके अलावा भी चीन ने अलग अलग दलील देकर कोरोना वायरस अपना पल्ला झाड़ने की कोशिश की है।

डब्ल्यूएचओ की टीम ने की थी जांच

डब्ल्यूएचओ की टीम ने की थी जांच

क्या चीन के वुहान शहर से कोरोना वायरस की उत्पत्ति हुई है या फिर चीन के किसी लैब में कोरोना वायरस बनाया गया है, इसकी जांच के लिए पिछले महीने डब्ल्यूएचओल की जांच टीम चीन के वुहान शहर गई थी। लेकिन, अभी तक डब्ल्यूएचओ की जांच टीम ने अपनी रिपोर्ट नहीं दी है। हालांकि, डब्ल्यूएचओ की टीम के कुछ सदस्यों ने कोरोना वायरस को लेकर चीन की भूमिका संदिग्ध बताया है तो कुछ सदस्यों ने कहा है कि उन्हें नहीं लगता है कि कोरोना वायरस चीन के किसी प्रयोगशाला में तैयार किया गया है। अभी तक कोरोना वायरस से पूरी दुनिया बुरी तरह से प्रभावित है और चीन पर आरोप लगे हैं कि उसने कोरोना वायरस को लेकर पूरी दुनिया को अंधेरे में रखा और सही वक्त पर कोरोना वायरस को लेकर सही जानकारी दुनिया से छिपाई है।

कोरोना को मानते हैं मजाक तो देखिए ब्राजील का हाल, हर दिन 3000 से ज्यादा मौतें, मरने वाले ज्यादातर 30 साल केकोरोना को मानते हैं मजाक तो देखिए ब्राजील का हाल, हर दिन 3000 से ज्यादा मौतें, मरने वाले ज्यादातर 30 साल के

English summary
Before the WHO final report came, China has told diplomats of different countries that China has no hand in spreading the corona virus.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X