चीन ने भारत को बताया धोखेबाज, THINK TANK ने दी युद्ध की चेतावनी

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

बीजिंग। चीन ने सिक्किम सीमा पर भारत के रुख को 'धोखा' करार दिया है। सोमवार को चीन ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि दोनों देशों के बीच सीमा को निर्धारण को पहले ही तय किया जा चुका था। चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता गेंग शुआंग ने मीडिया ब्रीफिंग में कहा, 'सिक्किम में भारत-चीन सीमा को बहुत से स्‍पष्‍ट तरीके से निर्धारित किया जा चुका है। सिक्किम में भारत सरकार ने जो पोजिशन ली है वह भारत की ओर से दिया गया धोखा है।' 

भारत ही नहीं चीन भी काफी बदल गया

भारत ही नहीं चीन भी काफी बदल गया

चीन के विदेश मंत्रालय की ओर से रक्षा मंत्री अरुण जेटली के उस बयान पर भी प्रतिक्रिया दी गई है जिसमें उन्‍होंने कहा था कि वर्ष 2017 का भारत वर्ष 1962 के भारत से काफी अलग है। जेटली की ही तर्ज पर चीन ने कहा है, 'जेटली सही हैं कि 2017 का भारत 1962 से अलग है। बिल्‍कुल वैसे ही जैसे आज का चीन 1962 के चीन से अलग है।'

भारत अपनी सेनाओं को बुलाए वापस

भारत अपनी सेनाओं को बुलाए वापस

उन्‍होंने कहा कहा कि चीन अपनी सीमाओं को सुरक्षित करने के लिए सभी जरूरी उपाय करेगा। वह भारत से क‍हेगा कि वह वर्ष 1890 की संधि का सम्‍मान करे और तुरंत अपनी सेनाओं को वापस बुलाए। चीन ने भारत से अपनी सेना को वापस बुलाने के लिए कहा था और धमकी देते हुए कहा था कि भारत को 62 की जंग याद कर लेनी चाहिए। साथ ही उस जंग से कुछ सबक लेने की बात भी चीन ने कहा था।

भूटान का प्रयोग कर रहा भारत

भूटान का प्रयोग कर रहा भारत

चीन ने भारत पर आरोप लगाया कि वह भूटान का प्रयोग डोकलाम इलाके में गैरकानूनी प्रवेश को ढंकने के लिए कर रहा है। इस घटना के बाद भूटान की ओर से चीनी सरकार के सामने विरोध दर्ज कराया गया था। चीन के विदेश मंत्रालय ने कहा था, 'भारतीय सैनिकों के गैर-कानूनी प्रवेश के कृत्‍य को छिपाने के लिए और सच से मुंह मोड़ने के लिए भूटान की आजादी और संप्रभुता को भी ताक पर रखा जा रहा है। भारत सही और गलत के मुद्दे पर लोगों को भ्रमित करने की कोशिशें कर रहा हैं। '

जंग के लिए भी तैयार है चीन

जंग के लिए भी तैयार है चीन

इसके साथ ही चीन ने फिर से भारत को धमकी दी है। सिक्किम और भूटान में सीमा विवाद को लेकर ही चीन के सरकारी अखबार ग्‍लोबल टाइम्‍स की ओर से युद्ध की धमकी दी गई है। ग्‍लोबल टाइम्‍स के एक आर्टिकल में विशेषज्ञ झोओ गांचेंग ने के हवाले से आर्टिकल में लिखा है, 'चीन किसी भी हद तक जाकर अपनी सीमा की रक्षा करेगा। भारतीय सेना के साथ हितों के टकराव के बीच अगर जंग की जरूरत पड़ी तो वो भी मंजूर है।'

 लेकिन कूटनीतिक रिश्‍ते सामान्‍य

लेकिन कूटनीतिक रिश्‍ते सामान्‍य

गेंग शुहांग ने कहा कि दोनों पक्षों की तरफ से हर तरह का कूटनीतिक संवाद जारी है और इस पर तनाव को कोई असर नहीं पड़ा है। भारत और चीन की सेनाएं सिक्किम बॉर्डर के पास डोका ला इलाके में पिछले एक माह से आमने-सामने हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
China has said that actions at Sikkim border are like a betrayal by India of the position taken by Indian government.
Please Wait while comments are loading...