• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

5G नेटवर्क से एयरलाइंस इंडस्ट्री पर खतरा? रद्द की गई एयर इंडिया की अमेरिका जाने वाली कई फ्लाइट्स

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली/वॉशिंगटन, जनवरी 19: क्या 5जी नेटवर्क की वजह से फ्लाइटों के संचालन में परेशानी होती है और अगर वास्तव से 5जी रेडिएशन से फ्लाइटों के संचालन में दिक्कतें आती हैं, तो फिर एविएशन इंडस्ट्री और 5जी टेक्नोलॉजी...दोनों को ही बहुत बड़ा झटका लगने वाला है। अमेरिका में 5जी नेटवर्क की लांचिंग से पहले 10 से ज्यादा एयरलाइंस कंपनियों के सीईओ ने चिट्ठी लिखकर कहा है कि, अगर 5जी सेवा को लांच किया गया, तो उनके पायलट विमान नहीं उड़ा पाएगे, जिसके बाद भारत से अमेरिका जाने वाली एयर इंडिया की कई उड़ानो कों रद्द कर दिया गया है।

आज से लांच हो रहा है 5जी इंटरनेट

आज से लांच हो रहा है 5जी इंटरनेट

दरअसल, अमेरिका के एयरपोर्ट्स पर आज यानि बुधवार से 5जी सेवा की शुरूआत हो रही है, जिसको लेकर 10 एयरलाइंस कंपनियों ने व्हाइट हाउस को चिट्ठी लिखकर लांचिंग रोकने की मांग की थी। अमेरिकी कंपनियां एटीएंडटी और वेरिजोन पहले ही कई बार इन चेतावनियों की वजह से लांचिंग को टाल चुकी हैं और अब रिपोर्ट के मुताबिक, 5जी लांचिंग की वजह से एयर इंडिया की उड़ानों पर इसका असर पड़ने वाला है और एयर इंडिया के कई उड़ानों को रद्द कर दिया गया है, जबकि, कई विमानों का वक्त बदल दिया गया है। एयर इंडिया की तरफ से उड़ानों के रद्द होने की जानकारी दी गई है।

Air India की flights नहीं जाएंगी आज America, US एयरपोर्ट्स पर 5G टेक्नोलॉजी | वनइंडिया हिंदी
कई फ्लाइटों पर मंडराया खतरा

कई फ्लाइटों पर मंडराया खतरा

रिपोर्ट के मुताबिक, एयर इंडिया के अलावा Emirates ने भी अपनी कई उड़ानों को फिलहाल सस्पेंड कर दिया है। इन दोनों के अलावा All Nippon Airways, Japan Airlines ने भी अमेरिका जाने वाली कई फ्लाइटों को या तो रद्द कर दिया है, या फिर सस्पेंड कर दिया है। एयर इंडिया ने ट्वीटर हैंडल पर चार उड़ानों के रद्द होने की जानकारी दी है।

क्यों कैंसिल किए जा रहे हैं फ्लाइट्स

क्यों कैंसिल किए जा रहे हैं फ्लाइट्स

दरअसल, अमेरिका में नई सी-बैंड 5जी सर्विस की शुरूआत की गई है और इस नई टेक्नोलॉजी की वजह से कई एयरक्राफ्ट ही पूरी तरह से संचालय योग्य नहीं रहेंगे, यानि बेकार हो जाएंगे। इसको लेकर चेतावनी काफी पहले ही अमेरिकी विमानन नियामक संघीय उड्डयन प्रशासन यानि एफएए दे चुका है और बता चुका है कि, 5जी इंटरनेट की वजह से एयरक्राफ्ट का रेडियो अल्टीमीटर इंजन और ब्रेकिंग सिस्टम पर गंभीर असर पड़ सकता है। और ऐसे में सबसे बड़ी आशंका लैंडिंग के दौरान एयरक्राफ्ट के रनवे पर ना रूकने को लेकर रहती है। यानि, अगर एयरक्राफ्ट रनवे पर नहीं रूका, तो फिर बड़ा हादसा हो सकता है, इसीलिए कई एयरलाइंस कंपनियों ने अपनी अमेरिका जाने वाली उड़ानों को रद्द रना शुरू कर दिया है।

10 अमेरिकी विमान कंपनियों ने दी चेतावनी

10 अमेरिकी विमान कंपनियों ने दी चेतावनी

अमेरिका की 10 सबसे बड़ी विमान कंपनियों, जिनमें कार्गो विमान कंपनियां भी शामिल हैं, उनके सीईओ की तरफ से एक चेतावनी भरी चिट्टी जारी की गई है, जिसमें कहा गया है कि, 5जी सर्विस शुरू होने के 36 घंटे के अंदर विमान सेवा चरमरा सकती है। आपको बता दें कि, अमेरिका में एटीएंडटी और वेरिजोन, जल्द ही 5जी सर्विस की शुरूआत करने वाले हैं और उससे पहले एयरलाइंस कंपनियों की तरफ से एविएशन सेक्टर के लिए गंभीर चेतावनी जारी की गई है। समाचार एजेंसी रॉइटर्स की खबर के मुताबिक, अमेरिकी एयरलाइंस, डेल्टा एयरलाइंस, यूनाइटेड एयरलाइंस, साउथवेस्ट एयरलाइंस समेत 10 विमान कंपनियों ने चेतावनी भरी चिट्ठी लिखी है, जिसमें कहा गया है कि, जब तक 5जी को लेकर विमान कंपनियों से क्लियरेंस नहीं मिल जाते हैं, तब तक 5जी सर्विस शुरू करने की इजाजत नहीं दी जाए।

कितनी दूरी तक है खतरा?

कितनी दूरी तक है खतरा?

विमान कंपनियों का कहना है कि, उन्हें 5जी नेटवर्क से कोई दिक्कत नहीं है और 5जी नेटवर्क को कहीं पर भी लगाया जा सकता है, लेकिन रनवे से 2 मील की दूरी में 5जी इंटरनेट नेटवर्क नहीं होने चाहिए। वहीं, चूकीं एयर इंडिया के अलावा यूनाइटेड एयरलाइंस और अमेरिकन एयरलाइंस की फ्लाइटें भी भारत और अमेरिका के बीच संचालित होती हैं, लिहाजा अमेरिका में 5जी नेटवर्क को लेकर मचे हंगामे का सीधा असर भारत पर पड़ा है। आपको बता दें कि, फेडरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन यानि एफएए ने भी चेतावनी जारी की है, जिसमें कहा गया है कि, 5जी की वजह से एयरलाइंस के कई संवेदनशील उपकरणों पर असर पड़ता है, जिससे पायलट के लिए विमान को कंट्रोल करने में परेशानी होती है, वहीं जिन जगहों पर रोशनी कम होती है, उन क्षेत्रों में विमान उतारने में काफी दिक्कतें हो सकती हैं।

काफी खतरनाक असर

काफी खतरनाक असर

यूनाइटेड एयरलाइंस ने कहा कि अमेरिकी सरकार की वर्तमान 5G इंटरनेट प्लान की वजह से एविएशन इंडस्ट्री पर विनाशकारी प्रभाव पड़ेगा। यूनाइटेड एयरलाइंस ने कहा कि, कम से कम 12 लाख से ज्यादा यात्रियों पर फौरन असर होगा और करीब 15 हजार उड़ानों पर इसका असर पड़ेगा। इसके साथ ही कार्गो फ्लाइट्स कैंसिल होने से जरूरी और आपातकालीन सामानों की आपूर्ति में भी काफी देरी हो सकती है। एयरलाइंस कंपनी ने साफ तौर पर कहा कि, खराब मौसम में 5जी नेटवर्क की वजह से पायलट विमान को सही सलामत रवने पर उतार ही नहीं सकता है और यही सबसे बड़ी दिक्कत है।

Elon Musk बनाम नितिन गडकरी... क्या भारत अब खुद करेगा इलेक्ट्रिक कारों का निर्माण?Elon Musk बनाम नितिन गडकरी... क्या भारत अब खुद करेगा इलेक्ट्रिक कारों का निर्माण?

Comments
English summary
Many flights to the US have been canceled due to the 5G network. Is the aviation industry in danger because of 5G internet?
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X