• search

कौन हैं सेलेब्स को डायमंड से सजाने वाले नीरव मोदी?

Subscribe to Oneindia Hindi
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts
    नीरव मोदी
    Getty Images
    नीरव मोदी

    सेलेब्रिटी ज्वेलर और अरबपति डायमंड मर्चेंट नीरव मोदी करोड़ों के धोखाधड़ी मामले में फंसते नज़र आ रहे हैं.

    समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) के अधिकारियों ने बताया कि पंजाब नेशनल बैंक को नीरव मोदी, उनके भाई, पत्नी और कारोबारी साझेदार ने कथित तौर पर 280 करोड़ रुपए से ज़्यादा की चपत लगाई है.

    CBI ने पंजाब नेशनल बैंक की शिकायत पर कदम उठाया. बैंक का दावा है कि नीरव, उनके भाई निशाल, पत्नी अमी और मेहुल चीनूभाई चोकसी ने बैंक के अधिकारियों के साथ साज़िश रची और उसे नुकसान पहुंचाया. ये सभी डायमंड आर यूएस, सोलर एक्सपोर्ट और स्टेलर डायमंड्स में पार्टनर हैं.

    क्या आरोप लगा है नीरव पर?

    बैंक
    AFP
    बैंक

    इन चारों के ख़िलाफ़ भारतीय दंड संहिता की उन धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है जो आपराधिक साज़िश रचने, धोखाधड़ी से जुड़े हैं. इसके अलावा प्रीवेंशन ऑफ़ करप्शन ऐक्ट के प्रावधानों के तहत भी आरोप तय किए गए हैं.

    आय कर अधिकारियों ने 31 जनवरी को उनके यहां छापा मारा था. दिल्ली, सूरत और जयपुर में उनके दफ्तरों पर आईटी विभाग की नज़र पहले से थी.

    ज्वेलरी डिजाइनर 2.3 अरब डॉलर के फ़ायरस्टार डायमंड के संस्थापक हैं और उनके ग्राहकों में दुनिया के जाने-माने लोग शामिल हैं.

    कहां-कहां हैं उनके स्टोर?

    नीरव मोदी के डिजाइनर ज्वेलरी बूटीक लंदन, न्यूयॉर्क, लास वेगास, हवाई, सिंगापुर, बीजिंग और मकाऊ में हैं. भारत में उनके स्टोर मुंबई और दिल्ली में है.

    नीरव मोदी ने अपने ही नाम से साल 2010 में ग्लोबल डायमंड ज्वेलरी हाउस की नींव रखी थी. कंपनी का मुख्यालय भारत के मुंबई शहर में है.

    नीरव डायमंड का कारोबार करने वाले परिवार से आते हैं और बेल्जियम के एंटवर्प शहर में उनका पालन-पोषण हुआ है.

    कैसे परिवार से ताल्लुक?

    ऐसा बताया जाता है कि युवा उम्र से ही उनकी दिलचस्पी आर्ट और डिजाइन में थी और वो यूरोप के अलग-अलग म्यूज़ियम में आते-जाते थे.

    इसके बाद भारत में जाकर बसने और डायमंड ट्रेडिंग बिज़नेस के सभी पहलुओं की ट्रेनिंग लेने के बाद साल 1999 में उन्होंने फ़ायरस्टार की नींव रखी.

    ये एक डायमंड सोर्सिंग और ट्रेडिंग कंपनी है. साल 2008 में नीरव के एक करीबी दोस्त ने उन्हें ईयररिंग बनाने को कहा.

    कैसे की शुरुआत?

    नीरव मोदी
    Getty Images
    नीरव मोदी

    इसे बनाने के लिए सही हीरे चुनने और डिजाइन करने में उन्होंने कई महीने लगाए और तभी उन्हें अहसास हुआ कि वो ज्वेलरी को लेकर जुनून और कला, दोनों रखते हैं. तभी उन्होंने ब्रांड बनाने की ओर कदम उठाया.

    साल 2010 में वो क्रिस्टी और सॉदबी के कैटालॉग पर जगह बनाने वाले पहले भारतीय ज्वेलर बने. साल 2013 में वो फ़ोर्ब्स लिस्ट ऑफ़ इंडियन बिलिनेयर में आए और तब से अपनी जगह बनाए हुआ हैं.

    नीरव मोदी कंपनी के आभूषण केट विंस्लेट, रोज़ी हंटिंगटन-व्हाटली, नाओमी वॉट्स, कोको रोशा, लीज़ा हेडन और एश्वर्य राय जैसे भारतीय और अंतरराष्ट्रीय स्टाइल आइकन पहनते हैं.

    भारत में स्टोर कहां-कहां?

    नीरव मोदी
    Getty Images
    नीरव मोदी

    साल 2014 में नीरव मोदी ने दिल्ली के डिफ़ेंस कॉलोनी में पहला फ्लैगशिप स्टोर खोला और साल 2015 में मुंबई के काला घोड़ा में स्टोर खुला.

    साल 2015 में नीरव मोदी कंपनी ने न्यूयॉर्क सिटी और हॉन्गकॉन्ग में बूटीक खोले. लंदन की बॉन्ड स्ट्रीट और एमजीएम मकाऊ में उनके बूटीक स्टोर हाल में खुले हैं.

    niravmodi.com के मुताबिक नीरव मोदी का ये झुकाव परिवार की वजह से हुआ क्योंकि रात के भोजन के वक़्त भी उन लोगों की बातचीत इसी पर हुआ करती थी.

    इसके अलावा उन्हें अपनी मां से काफ़ी प्रेरणा मिलती है, जो इंटीरियर डिजाइनर थीं.

    जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

    BBC Hindi
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Who is Sailbes decorating diamond with neerav Modi

    Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
    पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

    X