• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

सोशल: क्या ये बच्चा वाकई 'भारतीय सेना के शहीद' का बेटा है?

By BBC News हिन्दी

सोशल: क्या ये बच्चा वाकई भारतीय सेना के शहीद का बेटा है?

अपनों को खोने का दर्द सभी को होता है. दर्द से लोगों की भावनाएं अपेक्षाकृत ज़्यादा जुड़ी भी होती हैं. फिर चाहे कोई आम इंसान हो या सेना में रहते हुए जान गंवाने वाले जवान.

अगर आप बीते कुछ वक्त पर ग़ौर करें तो सेना से जुड़ी भावनाएं सोशल मीडिया पर जमकर तर्कों की तरह परोसी जाती हैं.

'सेना के जवान सरहद पर हैं और तुम..'

'..कभी शहीदों के परिवार का सोचा है.'

ऐसी बातें अक्सर आपने सोशल मीडिया पर आपकी नज़रों के सामने से गुज़री होंगी. ऐसी ही एक पोस्ट सोशल मीडिया पर अब चर्चा में आई है.

ये वीडियो पोस्ट तीन महीने पहले 'इंडियन आर्मी-सर्विस बिफोर्स सेल्फ' फ़ेसबुक पेज से एक वीडियो शेयर किया गया था.

सोशल: क्या ये बच्चा वाकई भारतीय सेना के शहीद का बेटा है?

इस वीडियो में ऐसा क्या है?

इस वीडियो में एक बच्चा गाना गा रहा है. गाने के बोल हैं, 'बाबा मेरे प्यारे बाबा, मुझको भी तुम याद आते हो.'

'इंडियन आर्मी-सर्विस बिफोर्स सेल्फ' फ़ेसबुक पेज से इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा गया, ''ये एक आर्मी अफसर का बेटा है. इस बच्चे के पिता की आतंकियों से लड़ते हुए मौत हो गई थी. इस ख़बर को सुनकर बच्चे की मां भी मर गईं. ये बच्चा आर्मी पब्लिक स्कूल में पढ़ रहा है. बच्चे के आत्मविश्वास को देखिए.''

ख़बर को लिखे जाने तक वीडियो को 83 लाख लोग देख चुके हैं और क़रीब तीन लाख लोग वीडियो शेयर कर चुके हैं.

इस पोस्ट पर हज़ारों कमेंट भी हैं. इन्हीं कमेंट्स में से एक कमेंट उस आदमी का है, जो वीडियो पर दिए कैप्शन की असल सच्चाई बयां करता है.

'ये मेरा बेटा है और मैं ज़िंदा हूं'

ये कमेंट वीडियो में गाना गाने वाले बच्चे के पिता नदीम अब्बास ने लिखा है.

वो लिखते हैं, ''ये मेरा बेटा है. मेरे बच्चे का नाम गुलाम मुर्तज़ा है. मैं ज़िंदा हूं. मैं तो इस वीडियो के आख़िर में अपने बच्चे के साथ खड़ा हूं. मेरे पिता भी स्टेज पर वायलिन बजा रहे हैं. तीन पीढ़ियों से हम संगीत से जुड़े हुए हैं. और हां मैं एक प्राउड पाकिस्तानी हूं.''

दरअसल जिस बच्चे को 'एक शहीद का बेटा' बताया जा रहा है, वो पाकिस्तानी सिंगर नदीम अब्बास के बेटे गुलाम मुर्तज़ा हैं.

साल 2014 में पाकिस्तान के आर्मी पब्लिक स्कूल में चरमपंथी हमला हुआ था, जिसमें 131 बच्चे मारे गए थे. 2015 में इस हमले की पहली सालगिरह पर एक कार्यक्रम आयोजित हुआ था.

इसी कार्यक्रम में मुर्तज़ा और उनके पिता नदीम ने गाना गाया था. ये वीडियो तभी का है, जिसे कुछ वक्त पहले नदीम अब्बास ने फेसबुक पर पोस्ट किया था.

नदीम अब्बास ने ये जवाब कुछ हफ्ते पहले इस पोस्ट पर लिखा था. लेकिन लोगों की नज़र में ये हाल ही में आया है.

सोशल मीडिया पर लोग नदीम के जवाब का स्क्रीनशॉट शेयर कर रहे हैं.

फ़ेसबुक पर आचार्य राम पलटदास नाम के यूज़र लिखते हैं, ''देशभक्ति ढेर चोकरती है तो ऐसे ही फ्रॉड करवाती है.''

कमल लिखते हैं, ''अच्छा भला कुछ लोगों ने इंडियन फ़ौजी का बेटा सिद्ध किया था. शुद्ध इमोशनल कार्ड खेलकर कि फौजी का बेटा है. लेकिन कौन है ये आदमी जो नीचे आकर सच लिख गया.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

BBC Hindi
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Viral: Is this child really the son of 'Indian Army's martyr'?
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X