उत्तराखंड सरकार में मंत्री रेखा आर्य के पति पर आरोप, रक्त दान की आड़ में किडनी निकाली!

Subscribe to Oneindia Hindi

देहरादून। उत्तराखंड सरकार में मंत्री रेखा आर्य एक विवाद में घिरे गई हैं। उन के पति पर है आरोप है कि नौकर की एक किडनी निकालने के बदले उसे घर और पैसा देने का वादा किया था। किडनी के बदले घर और पैसे का आरोप आर्य के घर काम करने वाले उत्तर प्रदेश स्थित बरेली निवासी नरेश गंगवार ने लगाया। गंगवार ने यह आरोप मंत्री के पति गिरधारी लाल साहू पर लगाया। गंगवार उन्हीं के यहां काम करते थे। गंगवार ने पुलिस को दिए एक पत्र में आरोप लगाया कि मंत्री के पति ने उन्हें जून 2015 में श्रीलंका ले लिया और अपनी पहली पत्नी, वैजयंती माला को अपनी किडनी को प्रत्यारोपित कराया। वहीं इन आरोपों पर साहू की पत्नी रेखा आर्य ने कहा कि गंगवार ने जीएल साहू की 13 सदस्यीय कमेटी के समक्ष खुद ही किडनी देने का प्रस्ताव दिया था।

उत्तराखंड सरकार में मंत्री रेखा आर्य के पति पर आरोप, रक्त दान की आड़ में किडनी चुराई नौकर की किडनी

हालांकि गंगवार ने कहा, यह धोखाधड़ी का मामला है। मुझे गुर्दा प्रत्यारोपण के बारे में कभी नहीं बताया गया और मुझे बताया गया कि मुझे वैजंती माला के लिए रक्त देने की जरूरत है।

 गंगावार ने कहा कि मुझे लगा कि केवल खून की बात है लेकिन जब मैं 48 घंटे बाद उठा और दर्द महससू किया तो मुझे पता चला कि मेरे साथ धोखा हुआ है। किडनी दान करने का यह फैसला मेरा स्वैच्छिक निर्णय नहीं था। गंगवार के पत्र के आधार पर, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जानमेज खंडूरी ने हल्द्वानी निरीक्षक के आर पांडे के तहत एक जांच बिठा दी है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Uttarakhand minister Rekha Arya is engulfed in a controversy

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.