• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

वो 'गुप्ताजी' जिनकी वजह से कट गया कुमार विश्वास का पत्ता

By Bbc Hindi

आम आदमी पार्टी
SAJJAD HUSSAIN/AFP/Getty Images
आम आदमी पार्टी

दिल्ली से राज्यसभा की तीन सीटों के लिए आम आदमी पार्टी ने संजय सिंह, नारायण दास गुप्ता और सुशील गुप्ता को चुना है.

हालांकि इन तीन नामों की घोषणा से पहले तक कई नामों को लेकर कयास चलते रहे.

इनमें पार्टी नेता आशुतोष से लेकर राघव चड्ढा और आशीष खेतान तक के नाम शामिल थे.

पार्टी के संस्थापक सदस्यों में से एक कुमार विश्वास ने तो सार्वजनिक तौर पर राज्यसभा की सीट के लिए दावेदारी पेश की.

आइए एक नज़र डालते हैं, इन तीनों नाम पर जिन्हें अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी ने राज्यसभा भेजने का फ़ैसला किया है.

AAP का ऐलान, विश्वास नहीं जाएंगे राज्यसभा

'आप का विश्वास' क्यों डगमगा रहा है?

संजय सिंह
SAJJAD HUSSAIN/AFP/Getty Images
संजय सिंह

संजय सिंह

संजय सिंह उन लोगों में से हैं जिन्हें पार्टी के संस्थापक सदस्यों में गिना जा सकता है.

आम आदमी पार्टी के गठन से पहले रामलीला मैदान में चले अन्ना आंदोलन के शुरुआती चेहरों में से एक संजय सिंह केजरीवाल के भरोसेमंद लोगों में गिने जाते हैं.

मूलतः उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर ज़िले के रहने वाले संजय सिंह कभी स्ट्रीट हॉकर्स के लिए मुहिम चलाकर सुर्खियों में आए थे.

एक सामाजिक कार्यकर्ता की पहचान रखने वाले संजय सिंह को आम आदमी पार्टी ने पंजाब विधान सभा चुनावों में पार्टी का प्रभारी बनाया था.

'AAP की हत्या होगी या वो आत्महत्या करेगी?'

केजरीवाल की राजनीति में 'मिसफ़िट' हैं विश्वास?

आम आदमी पार्टी
SAJJAD HUSSAIN/AFP/Getty Images
आम आदमी पार्टी

नारायण दास गुप्ता

आम आदमी पार्टी के ट्विटर अकाउंट पर दी गई जानकारी के मुताबिक, नारायण दास गुप्ता अमरीका में स्थित अंतरराष्ट्रीय फेडरेशन ऑफ अकाउंटेंट्स के बोर्ड में चयनित होने वाले पहले भारतीय हैं.

नारायण दास गुप्ता ने दिल्ली के श्री राम कॉलेज ऑफ कामर्स से बी.कॉम (ऑनर्स) किया है.

साल 2001 में आए गुजरात भूकंप के वक्त नारायण ने अपने साथियों के साथ मिलकर उस समय प्रधानमंत्री राष्ट्रीय आपदा फंड में 51 लाख रुपए की मदद पहुंचाई थी.

नारायण दास गुप्ता के नाम की घोषणा करते हुए मनीष सिसोदिया ने बताया कि नारायण दास चार्टर्ड अकाउंटेंड एसोसिएशन के अध्यक्ष रह चुके हैं.

देश की अर्थव्यवस्था पर नज़र रखने वाली कई संस्थाओं से जुड़े रहे हैं. वे नेशनल पेंशन फंड स्कीम एंड डेवलपमेंट ऑथोरिटी के ट्रस्टी भी रहे हैं.

नारायण दास को जीएसटी के विशेषज्ञ के तौर पर भी जाना जाता है और उन्होंने अर्थव्यवस्था पर कई किताबें लिखी हैं.

कुमार विश्वास से कितनी अलग है आप?

क्या करने वाले हैं कुमार विश्वास?

सुशील गुप्ता

सुशील गुप्ता कांग्रेस के नेता रह चुके हैं और साल 2013 में उन्होंने कांग्रेस पार्टी की तरफ़ से मोती नगर विधानसभा सीट से चुनाव भी लड़ा था.

आज आम आदमी पार्टी की तरफ से राज्यसभा जाने वाले सुशील गुप्ता ने उस समय आप के ही उम्मीदवार कुलदीन सिंह चन्ना के ख़िलाफ़ चुनाव लड़ा था.

उस समय इस सीट पर बीजेपी के उम्मीदवार सुभाष सचदेव ने जीत दर्ज की थी. सुशील गुप्ता पिछले 25 साल से दिल्ली के पंजाबी बाग क्लब के चेयनमैन हैं.

इसके अलावा वे पिछले 13 साल से पंजाबी बाग को-ओपरेटिव हाउसिंग सोसाइटी के चेयरमैन भी रह चुके हैं.

सुशील गुप्ता कॉलेज के दिनों में कांग्रेस की छात्र यूनिट एनएसयूआई के सदस्य रह चुके हैं, तीन महीने पहले तक वे कांग्रेस में ही थे.

आम आदमी पार्टी के ट्विटर अकाउंट में दी गई जानकारी के अनुसार सुशील गुप्ता ने स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में काफ़ी काम किया है.

मनीष सिसोदिया ने बताया कि सुशील गुप्ता ने दिल्ली और हरियाणा में कई शैक्षणिक संस्थान शुरू किए जहां 15 हज़ार से ज़्यादा छात्र शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं.

इसके अलावा सुशील गुप्ता के चार बड़े चैरिटी अस्पताल भी चल रहे हैं.

BBC Hindi
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Those Guptaji whose reasons were cut off by Kumars trust
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X