स्वरतंत्र से गुस्से और तनाव पर करें नियंत्रण, आयेगी अच्छी नींद

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

जरा सोचिये... आप उस ट्रैफिक में फंस गये हैं, जो काफी देर से थमा हुआ है। जीपीएस ने आपसे कहा कि अगले 15 मिनट तक आप एक जी जगह खड़े रहिये, अगल-बगल, आगे पीछे से लगातार हॉर्न की आवाजें आपकी कार के शीशे पर कंकड़ों की तरह बरस रही हैं, आप देखते हैं कि इसी ट्रैफिक के बीच एक बैल-गाड़ी फंसी है, जिस पर कई सारे बक्से लदे हैं और उसे एक मजदूर तपती धूप में खींच रहा है। बच्चे सड़क के किनारे भीख मांग रहे हैं और आपका फोन बार-बार बज रहा है, क्योंकि आप मीटिंग के लिये लेट हो रहे हैं, या फिर आप इम्तेहान के लिये लेट हो चुके हैं और हो सकता है आपको मूवी देखने जाना हो और आप उसका पहला सीन छोड़ना नहीं चाहते हैं। यह भी हो सकता है कि ऐसे समय में आपको फ्लाइट पकड़नी है या फिर समय पर घर पहुंचना है... ऐसे समय में अकसर हमारा भेजा पूरी तरह फ्राई हो जाता है।

stress

आठ से दस घंटे तक ऑफिस में काम या छात्रों के कॉलेज में रहने की वजह से उन्‍हें परिवार के लिये कम समय मिल पाता है, आपके पास अपने लिये समय नहीं होता। देर रात तक जागने, जल्‍दी नहीं उठ पाने, आदि के कारण व्यायाम का समय नहीं मिल पाता। स्वच्छ भोजन भी नहीं कर पाते... यह सभी चीजें आपके दिमाग में कहीं एकत्र होकर प्रेशर बनाते हैं और दिन पर दिन आपका तनाव बढ़ता जाता है और एक समय आता है, जब आपका तनाव गुस्से के रूप में फूट पड़ता है। कुछ लोग होते हैं, जो रो पड़ते हैं, कुछ अपनी बातों को अपने तक ही सीमित रखते हैं और घुटते रहते हैं। सच प‍ूछिए तो आधुनिक जीवन हमें अंदर ही अंदर खा रहा है।

stress remedy

तनाव का निवारण:

तनाव हमारे शरीर के लिए हर तरह से हानिकारक होता है। यह हमारे शरीर की प्रतिरक्षण प्रणाली का एक हिस्सा है, जो आपातकाल में सक्रिय होता है। जब हम तनाव में होते हैं, तब हमारे शरीर में स्ट्रेस हार्मोन बनने लगते हैं, लेकिन ये हार्मोन हमारे रक्त तक सीमित रहते हैं वो भी कुछ समय के लिये। लेकिन जब कोई व्यक्ति लगातार तनाव में रहता है, तब यही हार्मोन हमारे शरीर में लंबे समय तब बने रहते हैं।

इन हार्मोन की वजह से ही व्यक्ति चिड़चिड़ा हो जाता है, उसे गुस्सा आने लगता है, डिप्रेशन में जाने लगता है और कमजोर पड़ने लगता है। इस वजह से उसके शरीर के उपापचय पर असर पड़ता है। मांसपेशियों के लगातार सख्‍त रहने की वजह से शरीर में दर्द होता है। इससे बाहर निकलने का एक मात्र तरीका है मन की शांति।

इसी लिये स्वरतंत्र का उत्पाद सिद्धम आपको स्ट्रेस रेमेडी यानी तनाव निवारण की सलाह देता है।

यह बहुत साधारण है, जो शांति प्रदान करने वाला व ध्‍वनि युक्त कंपन (soothing audible vibration) है जो बेहद प्रभावशाली है और आपके दिमाग को शांत रखता है। यह मजह 17 मिनट में आपके अंदर सकारात्मक ऊर्जा पैदा कर देगा और आपकी ध्‍यान केंद्रित करने की क्षमता में इजाफा करेगा। आपको बस इतना करना है कि इसे सुनना है।

energy burst

एनर्जी बर्स्‍ट (यानी ऊर्जा को भर देना):

जब हम लगातार चिंता में डूबे रहते हैं, बहुत ज्यादा काम करते हैं, और आधुनिक लाइफस्‍टाइल के कारण आपको नींद नहीं आती है, तनाव में होते हैं या फिर चिंता में खोये रहते हैं तो आपका दिमाग कभी भी शांत नहीं रह पायेगा। उसी में और देखें तो हम अपनी नींद के मामले में बहुत अनियमित हैं और हमारे पास व्यायाम के लिये समय नहीं होता है। हम जंक फूड, जैसे चाउमिन, बर्गर, मंचूरियन आदि खाते रहते हैं और कॉफी व चाय के जरिये अपने शरीर में कैफीन भी भरते रहते हैं। हम खुद हर दिशा से अपने ऊपर प्रहार कर रहे हैं। और हमारा दिमाग काम के बोझ तले दब गया है।

इसके परिणामस्वरूप जब हमारे पास आराम का समय होता है, तब बिस्तर से बाहर निकलने की इच्छा नहीं होती, व्यायाम तो बहुत दूर की बात है। हम हमेशा थके हुए होते हैं और जीवन में कई चीजों से दूर हो जाते हैं, या फिर यूं कहिये कि उन तक पहुंच ही नहीं पाते।

हमें सकारात्मक दृष्टिकोण की जरूरत है और कुछ ऐसी चीज की जो आपके शरीर में ऊर्जा भर दे। उसका समाधान ही है स्वरतंत्र के उत्पाद सिद्धम का एनर्जी बर्स्ट

यह आपके मस्तिष्‍क में सकारात्मक ऊर्जा भरता है और आपके मूड को अच्‍छा बना देता है। इस‍ रिवाइवल ऑडिबल वाइब्रेशन के साथ आप उठें और अपनी आत्मा और अपने जीवन को रिचार्ज करें।

blissful sleep

आनंदमय नींद:

किसी भी मीटिंग या इम्तहान से पहले स्मार्टफोन की लाइट या, पढ़ाई के लिये लालटेन का प्रयोग बेहद हानिकारक होता है। जो लोग सोचते हैं कि सोना समय की बर्बादी है, वे असल में जानबूझ कर खुद को पढ़ाई व मनोरंजन से दूर करते हैं। देर रात तक केवल इसलिये कॉफी पीना ताकि नींद नहीं आये, असल में आपके दिमाग पर जोर डालता है। इससे आप तनाव में आते हैं, जिसकी वजह से आगे चलकर आपको नींद नहीं आती। सच पूछिए तो आधुनिक लाइफस्टाइल में यह बहुत लोगों के साथ होता है। लोगों के अंदर आनंदमय नींद लेने की क्षमता समाप्त हो चुकी है।

यद्यपि कभी-कभी नींद में खलल पड़ना या नींद नहीं पूरी होना, सेहत के लिये हानिकारक नहीं है। व्यक्ति के लिये खतरा तो तब बढ़ जाता है जब यह उसकी आदत बन जाती है। इसकी वजह से कई प्रकार की समस्‍याएं उत्पन्न होती हैं, जैसे कि दोपहर में नींद आना, चीजों के प्रति बहुत जल्द इमोश्‍नल हो जाना, नौकरी में अच्‍छा प्रदर्शन नहीं कर पाना, मोटापा, जीवन की गुणवत्ता का लगातार गिरना। जब किसी व्‍यक्ति की नींद पूरी नहीं होती है, तब उसके अंदर "स्लीप डेप्रीवेशन" के लक्षण पाये जाते हैं।

इस तरह से लगातार बार-बार नींद खुलने, देर से सोने, बार-बार रात को देर तक जागने या सुबह जल्दी उठने से आपके अंदर नींद की कमी हो जाती है। इसका केवल एक ही समाधान है, अच्‍छी व देर तक नींद लेना। लेकिन कैसे, जब आपका मस्तिष्‍क पहले ही चिंता से भरा हुआ है और काम के बोझ तले दबा है साथ में आपने उसे शांत रहने का भी समय नहीं दिया। खैर हम आपके सामने इसका समाधान रख रहे हैं। वो है स्वरतंत्र के उत्पाद सिद्धम का ब्लिसफुल स्लीप

यह ऑडिबल वाइब्रेशन और आधुनिक विज्ञान का बेहतरीन जोड़ा है, जो आपको शांतिपूर्ण तरीके से सोने में मदद करता है और इससे आपकी नींद गहरी जो जाती है। यह वाइब्रेशन आपके दिमाग को सपनों की दुनिया में ले जाता है, जिससे आपकी नींद अच्‍छी तरह से पूरी हो पाती है। तो अगली बार जब आपकी घड़ी का अलार्म बजेगा, तब आप बहुत ज्यादा नींद में होने के बजाये फ्रेश महसूस करेंगे। आप खुद के अंदर एक अलग ऊर्जा महसूस करेंगे और अपने दैनिक जीवन से जुड़े हर काम में आपका मन लगेगा। यूं कहिये कि आप अपना दिन जीत लेंगे। ऐसे दिन का इंतजार अब समाप्त हो गया है।

anger control

गुस्से पर नियंत्रण- इससे पहले कि यह आपको नियंत्रित करे

गुस्सा हमेशा बुरा होता है। यह ठीक वैसे ही होता है, जैसा कि बाकी के इमोशन, जहां आप अपनी बात को सामने वाले के सामने रखते हैं। हां यहां पर परिस्थिति कुछ अलग होती है, जिससे आप निराश हो जाते हैं या फिर यूं कहिये कि ऐसी परिस्थिति सही नहीं होती और कुछ हद तक धमकी जैसी लगती है। ऐसा कई बार होता है कि जब आप किसी महत्वपूर्ण कार्य को कर रहे होते हैं, तब तब आपके ही घर पर लोग धीमी आवाज़ में बात नहीं करते हैं। कई बार घर के पास की सड़क के यातायात की आवाजें आपके चैन को छीन लेती हैं। कई बार जब आप किसी मूवी में अपना पसंदीदा सीन देख रहे होते हैं, तभी कोई चिल्ला कर बोलने लगता है। या कभी आपका दोस्त आपके नये कपड़ों पर कॉफी गिरा देता है या कभी बारिश की वजह से आपके घूमने के प्लान चौपट हो जाते हैं। या फिर कभी आप किसी समस्‍या में लंबे समय तक उलझे रहते हैं और उसका समाधान नहीं निकलता है। ऐसे में हमारे दिमाग पर बहुत ज्यादा बोझ पड़ता है। उसे भी करोड़ों दिशाओं में लगातार दौड़ने के लिये थोड़ा आराम चाहिये।

तो फिर ऐसे मौकों पर हम अपनी प्रतिक्रियात्मक प्रणाली के तहत फूट पड़ते हैं, सामने वाले को डांटते हैं, चिल्लाते हैं और कई बाप खुद को हानि पहुंचाते हैं। जब कोई आपके साथ गलत करे या आपके साथ दुर्व्यवहार करे, तो आप उस पर गुस्‍सा हों और उसका विरोध करें। लेकिन ऐसी परिस्थितियों में क्‍या होता है? सबसे पहले आप अपना मुंह बनाते हैं, दांत पीसते हैं और उसी समय आपके सामने खड़े व्‍यक्ति के पसीने छूट पड़ते हैं। शुरुआत में आप गुस्से में तमाम बातें सुनाना शुरू कर देते हैं, चिल्लाते हैं और कई बार हाथा-पाई की नौबत आ जाती है। ऐसे समय में कई बार आपका स्वभाव ऐसा हो जाता है, जिसकी परिकल्‍पना सामने वाले ने शायद ही कभी की हो। गुस्से में ज्यादतर रिश्‍ते टूट जाते हैं, किसी के साथ अन्याय हो जाता है, आप सफलता को छूते-छूते रह जाते हैं और कई प्रकार के अन्‍य प्रभाव भी हैं, जो आपके जीवन पर पड़ते हैं। यदि आप का व्‍यवहार गुस्सैल है, तो आपको कई बार ऐसा प्रतीत होगा कि सब चीजें आपके हाथ से बाहर होती जा रही हैं।

एक उत्पाद है, जो वाकई में मददगार साबित हो सकता है। उसका नाम है एंगर कंट्रोल। यह स्‍वरतंत्र के उत्पाद सिद्धम का है।

यह ऑडिबल वाइब्रेशन है, जो मन को शांति प्रदान करता है। यह आपको शां‍तचित्त बनने में मदद करता है, आपके स्वभाव में वह परिवर्तन लाता है, जो आपके विचारों को भी बदल देता है साथ में आप अच्‍छा महसूस करते हैं। इसके सही प्रयोग से, आप अपने गुस्से पर और अधिक नियंत्रण कर पायेंगे। लेकिन हां आपको यह सीखना होगा कि दूसरों को बिना ठेस पहुंचाये और बिना अपने नियंत्रण को खोये कैसे अपनी भावनाओं को व्‍यक्त कर सकते हैं। ऐसा करने से न केवल आप अच्‍छा महसूस करेंगे, बल्कि आपकी जरूरतें खुद-ब-खुद पूरी होने लगेंगी। अपने जीवन की जटिल समस्‍याओं को आप आसानी से सुलझा पायेंगे और परिवार के अन्‍य सदस्‍यों से आपके संबंध मजबूत होंगे।

ultimate passion

कार्यों के प्रति जुनून:

आज के परिवेश में नौकरी में हर रोज नई डिमांड होती है, एक जगह से दूसरी जगह जाना। दिन भर की जद्दोजहद में आप अपने अपनों से दूर हो जाते हैं और आपको पता तक नहीं चलता है। तनाव और लगातार काम का दबाव, का प्रभाव आपके यौन जीवन पर भी पड़ता है। इस वजह से आपमें कई प्रकार की यौन कमियां भी पैदा होने लगती हैं।

यह बेहद महत्वपूर्ण है कि आप अपने जीवन में संबंधों को बनाये रखें और अपने पार्टनर के साथ आपका प्रेम और भी ज्‍यादा गहरा हो। इसके लिये स्वरतंत्र का उत्पाद सिद्धम लाया है अल्‍टीमेट पैशन

यह आपकी आपने पार्टनर को संतुष्‍ट करने में मदद करेगा। यह भी एक अलग प्रकार का ऑडिबल वाइब्रेशन है। यह यौन क्रियाओं के दौरान आपके विश्‍वास को बढ़ाता है और आपके संबंधों को मजबूत बनाता है।

think positive

सकारात्मक सोच:

जिस दुनिया में हम रहते हैं वह हमारे लिये ढेर सारी खुशियां लाती है। साथ में कई बार विपत्तियां भी। उनका सामना कैसे करना है, यह बड़ी बात होती है। कुछ चीजें ऐसी होती हैं, जो हमारे अनुकूल नहीं होती हैं, और कुछ कठिन समय के कारण जब आपके धैर्य की परीक्षा होती है या निज एवं भौतिक हानि होती है, तब नकारात्मक विचार आते हैं। हम हर चीज के लिये दुनिया को दोषी ठहराने लगते हैं और लगातार चिड़चिड़ाते हैं, गुस्‍साते हैं और खिन्न हो जाते हैं। यह सब चीजें हमारे स्वास्‍थ्‍य को प्रभावित करती हैं। हमारे संबंधों को, हमारी नौकरी को, हमारी पढ़ाई को और इन सबके परिणामस्वरूप हम और अधिक डिप्रेशन में आ जाते हैं। डिप्रेशन के दौरान कई बार आत्महत्या करने का ख्‍याल भी मन में आता है।

कहा जाता है कि खुशियां आपके खुद के अंदर से आती हैं और उसके लिये सबसे ज्यादा जरूरी है सकारात्मक सोच रखना। लेकिन जब मन तनाव में हो, चिंताग्रस्त हो और दु:खी हो तब उम्मीद की कोई किरण नहीं दिखाई देती है।

इसका हल भी है। वो है थिंक पॉजिटिव, सिद्धम की ओर से है, जोकि स्वरतंत्र का उत्‍पाद है।

यह आपके अंदर से नकारात्मक विचारों का नाश करता है और सकारात्मक विचारों को भरता है। इसके ऑडिबल वाइब्रेशन आपके अंदर गजब का उत्साह भरते हैं और मन को शांतचित्त बनाते हैं।

skin cell booster

त्वचा रोग:

अस्वस्‍थ्‍य, तनावग्रस्त, काम के बोझ तले दबे या फिर तनावग्रस्त मन के कारण त्वचा रोग भी होते हैं। इसकी वजह से मुंहासे होते हैं। इसकी वजह से बाल झड़ते हैं, शरीर पर सफेद दाग पड़ने लगते हैं। इसकी वजह से त्वचा रूखी होने लगती है और फुंसियां व फोड़े निकलने लगते हैं।

यह बेहद जरूरी है कि आप अपने मन को शांत रखें और इसी के तहत हम आपको देते हैं स्वरतंत्र के उत्पाद सिद्धम के द्वारा प्रस्‍तुत स्किन सेल बूस्‍टर की।

इसके ऑडिबल वाइब्रेशन आपके अंदर त्वचा की नई कोशिकाएं यानी सेल पैदा करने में मदद करते हैं। इसलिये बस शांत होकर बैठ जायें और इन वाइब्रेशन को ध्‍यान से सुनें। इसके प्रभाव आपको जल्‍द दिखने लगेंगे।

focus booster

बेहतर चीजों पर फोकस:

ई-मेल, ट्विटर, इंस्‍टाग्राम, फेसबुक, स्‍काइप, स्‍नैपचैट, आदि के जमाने में हम एक साथ कई कार्य करते हैं। लेकिन मल्‍टी-‍टास्किंग होना हमारे दिमाग के लिये अच्‍छा नहीं है। यह दिमाग पर नकारात्‍मक प्रभाव डालता है। इस प्रभाव के चलते हम केवल एक चीज पर फोकस कर पाते हैं। हम उस जैनरेशन में हैं, जहां हम बैठ नहीं सकते। हम दोपहर का भोजन करते वक्त सोशल मीडिया चेक करते हैं, चलते वक्‍त एसएमएस करते हैं, लाइन में खड़े होने के वक्‍त हम ई-मेल भेजते हैं, अपने दोस्‍तों से बातें करते समय हम रोज के समाचार पढ़ते हैं, मीटिंग के दौरान यह जानने के लिये इच्‍छुक रहते हैं कि आगे क्या होने वाला है। जब हम अपना पसंदीदा मैच देखते तब हमें अपने उन कार्यों की चिंता होती है, जो हम नहीं कर पाये हैं। हम अपने जीवन में एक डर के साथ जी रहे हैं। डर है कुछ छूट जाने का और इसकी वजह से हम वर्तमान को अच्‍छी तरह नहीं जी पाते हैं।

हमारा मन एक साथ कई चीजों पर इधर-उधर भटकता है। इसकी वजह से हमारे स्वास्‍थ्‍य पर प्रभाव पड़ता है और हम कई महत्‍वपूर्ण चीजें भूलने लगते हैं। इसकी वजह से हमारी पाचन क्रिया प्रभावित होती है, हम तनाव में आते हैं और हम चिंताग्रस्‍त, डरे हुए और ज्यादातर समय दु:खी रहते हैं। साथ ही थके-थके से भी। दिन के अंत में हम पाते हैं कि हमारे अंदर जरा भी ऊर्जा नहीं बचती है, क्‍योंकि हम लगातार कार्य करते रहते हैं।

अगर आप इन सबके बीच एक सकारात्‍मक रास्‍ते को तलाश रहे हैं, तो हम आपको सुझाव देंगे स्‍वरतंत्र के उत्‍पाद सिद्धम द्वारा प्रस्‍तुत फोकस बूस्‍टर की।

improve body shape

बॉडी शेप को बदलें:

दबाव, तनाव और दिन भर के कार्यों को पूरा करने की जद्दोजहद, कई प्रकार के कार्याक्रमों में शिरकत करने, अपने हर संबंध को अच्‍छा बनाने, लोगों के लिये आगे से आगे रहने के चक्कर में आप कई बार बेचैनी महसूस करते हैं, आप पर दबाव होता है। कई बार समाज के दिये सोशल मीडिया पर आप अपने अस्तित्‍व को लेकर जद्दोजहद करते हैं। ये सभी चीजें छोटी हैं, लेकिन यही छोटे-छोटे झगड़े हमारे दिमाग पर बुरा असर डालते हैं। क्‍योंकि जरूरी कार्यों के अतिरिक्त आपको इन सब चीजों की चिंता भी करनी पड़ती है। जब आप जरूरत से अधिक चिंता करने लगते हैं, तब उसका नकारात्‍मक प्रभाव आपकी पाचन क्रिया पर पड़ता है।

मन के पूरी तरह अव्‍यवस्थित होने पर शरीर में हार्मोन का संतुलन बिगड़ने लगता है। इसका असर आपके खाने पर पड़ता है। या तो आपको बहुत भूख लगती है या फिर भूख मर जाती है। यह निर्भर करता है कि आपका शरीर इमोश्‍नल होने पर कैसी प्रतिक्रिया करता है। कुछ लोग जब बहुत ज्‍यादा तनाव में होते है, तब बहुत ज्‍यादा खाते हैं ताकि वे अच्‍छा महसूस करें। कुछ लोगों की भूख मर जाती है। कुल मिलाकर तनाव का असर आपके शरीर पर बुरी तरह पड़ता है। लंबे समय में देखें तो या तो उनका वजन घट जाता है, या फिर वे बहुत मोटे हो जाते हैं।

हम आपके लिये उपाय लाये हैं। वो है स्‍वरतंत्र के उत्‍पाद सिद्धम के द्वारा इंप्रूव बॉडी शेप

यह दिमाग और शरीर के बीच के कनेक्‍शन को बेहतर बनाता है। इसके ऑडिबल वाइब्रेशन भावनात्‍मक असंतुलन को दूर कर शरीर को बेहद शांत अवस्‍था में ले आता है। जब आप दुनिया भर की चिंता से मुक्‍त होते हैं, तब आपके अंदर एक शांत वातावरण उत्‍पन्‍न होता है। इसके चलते आपका शरीर और बेहतर बनता है।

moksha

स्वरतंत्र ही क्‍यों?

स्वरतंत्र- नये जमाने की नई तकनीक है, जो सुनने योग्‍य कंपन (अंग्रेजी में ऑडिबल वाइब्रेशन) के साथ आपके जीवन को बदल कर रख देती है। यह असल में वैदिक ज्ञान और तकनीक का संगम है।

ऐसे समय में जब हमारा जीवन लगातार तकनीक पर निर्भर करता जा रहा है, हमारे पास ध्‍यान या योग या फिर व्‍यायाम करने का समय नहीं रहता। और यही कारण है कि हमारे शरीर पर कई प्रकार के नकारात्‍मक प्रभाव दिखाई दे रहे हैं और करोड़ों बीमारियां पैदा हो रही हैं। हमारा जीवन लगातार खतरे के मुहाने पर बैठा है बस यूं समझ लीजिये कि किसी भी बड़े मानसिक आघात से एक कदम दूर खड़े हैं हम। क्‍या आप इससे छुटकारा पाना चाहते हैं?

रोजाना स्‍वरतंत्र को सुनिये। यह आपके दृष्टिकोण को बदल कर रख देगा। आप अपने दैनिक जीवन में सही समय पर सही निर्णय लेने में सक्षम होंगे। हर कार्य को बेहतर ढंग से कर पायेंगे। तो देर किस बात की है। अपने तनाव पर नियंत्रण स्‍थापित कीजिये इससे पहले कि तनाव आप पर नियंत्रण स्‍थापित करे। अपने साथ पॉजिटिव वाइब्रेशन को हमेशा रखें।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Go ahead with Swatantra and take control of your stress instead of letting stress control you. May the positive vibrations be with you.
Please Wait while comments are loading...