• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Coronavirus: अब तक 1 लाख से ज्‍यादा मरीज ठीक, जानिए कैसे और कब डॉक्‍टर मान लेते हैं मरीज को स्‍वस्‍थ

|

नई दिल्‍ली। इटली, ईरान, अमेरिका, यूनाइटेड किंगडम (यूके), फ्रांस, जर्मनी और स्‍पेन से आए दिन कोरोना वायरस की वजह से होने वाली मौतों की खबर के बीच एक ऐसी खबर है जो दिल का सुकून देने वाली है। पूरी दुनिया में इस महामारी से अब तक एक लाख से ज्‍यादा लोग पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं। अब तक यह वायरस 192 देशों में फैल चुका है। हालांकि कोरोना वायरस की वजह से 381,63 लोग संक्रमित हैं और 16,558 लोगों की मौत हो चुकी है।

यह भी पढ़ें-Fake है हवा के जरिए Corona के फैलने वाली खबर

भारत में 33 लोग हुए स्‍वस्‍थ

भारत में 33 लोग हुए स्‍वस्‍थ

भारत में भी मरीजों का ठीक होना जारी है। केरल में वायरस के तीन मरीज फरवरी माह में ठीक हुए थे। वहीं, चार मार्च को गुरुग्राम के मेदांता अस्‍पताल में भर्ती हुए 14 में से 11 इटैलियन नागरिकों को कोरोना वायरस की पुष्टि हुई थी। ये मरीज भी ठीक हो चुके हैं। अब देश में 33 मरीज ऐसे हैं जो रिकवर हो चुके हैं। कोरोना वायरस के दो टेस्‍ट होते हैं और दो बार टेस्टिंग काफी जरूरी है क्‍योंकि लक्षण न नजर आने के बाद भी वायरस शरीर में जिंदा रह सकता है।

कैसे पता लगता है ठीक हो गया है मरीज

कैसे पता लगता है ठीक हो गया है मरीज

मेदांता हॉस्पिटल के चेयरमैन डॉक्‍टर यतीन मेहता ने बताया है कि मरीजों को उस समय रिकवर घोषित किया जाता है जब उन्‍हें तीन दिनो तक बुखार न हो और उन्‍हें कोई दवाई भी न दी जाए। डॉक्‍टर यह देखते हैं कि में खांसी और सांस की समस्या जैसे लक्षण भी एक हफ्ते तक नजर नहीं आने चाहिए। अगर मरीज इस पैमाने पर खरे उतरते हैं तो उन्‍हें आइसोलेशन से जाने की अनुमति दी जाती है और वह दूसरे लोगों से कॉन्‍टेक्‍ट कर सकते हैं।

37 दिन तक रहा एक मरीज के शरीर में वायरस

37 दिन तक रहा एक मरीज के शरीर में वायरस

कोविड-19 की वजह से जिन मरीजों की हालत नाजुक बनी है उनमें 24 दिनों बाद तक कोरोना के लक्षण नजर आए थे। चीन में चार डॉक्‍टरों को दो हफ्तों के बाद भी मरीज के शरीर में वायरस मिला था। जर्मनी में हुई एक रिसर्च में पता लगा था कि ऐसे लोग जिनमें लक्षण हल्‍के हैं वे अगर संक्रमित हो जाएं तो 10 दिन बाद प्रभावशाली नहीं रहते है। चीन में डॉक्‍टरों ने मरीज की सांस की नली में 37 दिन बाद कोविड-19 के होने का पता लगाया था। यह पहला मामला था जब कोरोना वायरस के इतने दिनों तक जिंदा रहने की पुष्टि हुई थी ।

ठीक होने में लगते हैं दो से तीन हफ्ते

ठीक होने में लगते हैं दो से तीन हफ्ते

जिस तरह से दुनियाभर में कोरोना वायरस के केसेज में इजाफा हो रहा है उससे इसके मृत्‍यु दर के करीब 4.3 प्रतिशत होने का अनुमान लगाया जा रहा है। वहीं कुछ विशेषज्ञ मान रहे हैं कि मृतकों का आंकड़ा इससे कहीं ज्‍यादा हो सकता है। पांच में से चार लोग जो कोरोना वायरस से संक्रमित हैं अगर उनमें लक्षण हल्‍के हैं तो वो दो हफ्तों के अंदर ठीक हो जाते हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Some good news: 100,000 Coronavirus infecte patients recover across the world.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X