• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

स्मृति ईरानी बोली- यूपी में लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ने मानी अपनी हार

|

अमेठी: मोदी सरकार में केंद्रीय मंत्री और बीजेपी की तेजतर्रार नेता स्मृति ईरानी पूरे दमखम से कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ अमेठी में ताल ठोक रही है। उन्होंने सोमवार को कांग्रेस पार्टी पर बड़ा निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश में खुद अपनी हार मान ली है। इसके संकेत खुद पार्टी ने दिए हैं। स्मृति ईरानी ने ये बयान अमेठी में दिया। उन्होंने कहा कि इसलिए लोगों को बीजेपी के पक्ष में खड़े होकर वोटिंग करनी चाहिए।

'कांग्रेस ने हार स्वीकार कर ली है'

'कांग्रेस ने हार स्वीकार कर ली है'

अमेठी में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए ईरानी ने कहा कि कांग्रेस उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीट में से करीब 20 सीटों पर चुनाव लड़ रही है। कांग्रेस के नेताओं ने खुद मान लिया है कि उनके पास चुनाव लड़ने की ताकत नहीं और वो सूबे में नहीं जीत सकते हैं। इसलिए आपको कांग्रेस की तरफ खड़ा होना चाहिए, आइए और बीजेपी को वोट दीजिए। उन्होंने लोगों से वादा किया कि वो अगर चुनाव जीतती हैं तो वो राहुल के इतर अमेठी को लोगों के संपर्क में रहने के लिए अपना ठिकाना बना लेंगी और इलाके के मतदाताओं की मदद करेंगी।

राहुल पर साधा निशाना

राहुल पर साधा निशाना

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष और अमेठी से सांसद राहुल पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि वो 15 सालों से अपने संसदीय क्षेत्र से दूर रहे हैं। उन्होंने अमेठी की जनता के लिए संसद में कभी नहीं बोला है। अगर चुनाव में नामांकन पत्र दाखिल करना और चुनावी अभियान आयोजित करना जरुरी नहीं होता तो वो कभी भी यहां अपने कदम नहीं रखते। अपनी लोकसभा सीट से दूर रहने और संसद में खामोश रहने वाले नेता की क्या जरूरत है।

ये भी पढ़ें- अमेठी लोकसभा सीट के बारे में सारी जानकारी एक जगह

अमेठी में 6 मई को है चुनाव

अमेठी में 6 मई को है चुनाव

उत्तरप्रदेश के अमेठी में पांचवे चरण में 6 मई को चुनाव है। नतीजे 23 मई को एक साथ आएंगे। स्मृति ईरानी ने कहा कि यदि आप 6 मई को बीजेपी को वोट देने के लिए घर से बाहर निकलते हैं, तो मैं 24 मई को आपका आर्शीवाद लेने के लिए अमेठी में आऊंगी। मैं अमेठी में एक घर लूंगी और आने वाले समय में आपके बीच रहूंगी। साल 2014 के लोकसभा चुनाव में स्मृति ईरानी ने राहुल को कड़ी टक्कर दी थी। राहुल अपने गढ़ में मात्र 1.70 लाख वोटों से जीते थे। इस चुनाव में आम आदमी पार्टी (आप) के कुमार विश्वास भी यहां से चुनाव लड़े थे। जिनकी जमानत जब्त हो गई थी। यहां अब तक हुए 16 लोकसभा चुनावों और 2 उपचुनाव में कांग्रेस ने 16 बार जीत दर्ज की है। साल 2004 में राहुल ने पहली बार यहां से चुनाव लड़ा था। उनकी मां सोनिया गांधी ने 1999 में यहां से चुनाव जीता। देश के पूर्व पीएम राजीव गांधी चार बार यहां से सांसद रहे।

ये भी पढ़ें- दिल्ली में गठबंधन पर बोले राहुल गांधी- कांग्रेस अभी भी AAP को 4 सीटें देने को तैयार, केजरीवाल ने लिया यू-टर्न

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Smriti Irani says congress gives hint of Defeat in Lok Sabha elections
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X