टैक्स बढ़ाने का विरोध: सैकड़ों छात्राओं ने वित्तमंत्री अरुण जेटली को भेजे सेनिटरी नैपकिंस

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। छात्र संगठन एसएफआई ने जीएसटी के तहत सेनिटरी नैपकिंस पर टैक्स बढ़ाए जाने का विरोध करते हुए वित्तमंत्री अरुण जेटली को डाक से सैनिटरी नैपकिन भेजे हैं और टैक्स को वापस लेने की मांग की है। केरल, दिल्ली और देश के कई राज्यों से स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसएफआई) के सदस्यों ने पैड्स पर 'ब्लीड विदआउट फियर, ब्लीड विदआउट टैक्स' लिखकर इन्हें वित्तमंत्री को भेजा है।

sanitary pads

केरल के त्रिवंतपुरम से 300 से ज्यादा छात्रों ने, तो दिल्ली से भी छात्र-छात्राओं ने वित्त मंत्री को पैड्स भेजे। 1 जुलाई से लागू हुए जीएसटी के तहत सेनिटरी पैड्स पर टैक्स बढ़ाकर 18 फीसदी कर दिया गया है जिसका एसएफआई समेत कई छात्र संगठन विरोध कर रहे हैं। छात्राओं ने प्रदर्शन के दौरान टैक्स बढ़ाने के विरोध में हाथों में 'वित्त मंत्री जी, पैड्स कोई लग्जरी आयटम नहीं है' लिखीं तख्तियां ले रखीं थीं।

जीएसटी में सेनेटरी नैपकिन पर टैक्स बढ़ने की बात का लगातार विरोध हो रहा है। इस पर बॉलीवुड अभिनेत्री भी अपना विरोध जता चुकी हैं। छात्र संगठनों और सामाजिक कार्यकर्ताओं का कहना है कि महंगाई की वजह से सेनेटरी नैपकिन पहले ही महिलाओं की पहुंच से बाहर हैं। ऐसे में और ज्यादा मंहगाई से तो महिलाओं की बड़ी आबादी के लिए इन्हें खरीदना दूभर हो जाएगा।

पीरियड्स के पहले दिन का अनुभव, देखें VIDEO

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
SFI workers sends sanitary napkins to arun jaitley protest aginest tax
Please Wait while comments are loading...