• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

मेट्रो के दरवाजे में फंसा साड़ी का पल्लू और चल पड़ी ट्रेन, महिला का हुआ ऐसा हाल

|

नई दिल्ली। दिल्ली मेट्रो में एक दर्दनाक घटना में एक महिला की जान जाते जाते बची। दरअसल 40 साल की एक महिला की साड़ी मेट्रो के दरवाजे में दब गई, महिला बाहर खड़ी थी और मेट्रो चल दी। साड़ी खिंचने के चलते महिला जमीन में गिरी और ट्रेन के साथ घिसट गई। घटना दिल्ली के मोती नगर मेट्रो स्टेशन की है।

मेट्रो के दरवाजे में अटक गया पल्लू

मेट्रो के दरवाजे में अटक गया पल्लू

पीड़ित महिला गीता के पति जगदीश प्रसाद ने बताया कि वह अपनी बेटी के साथ नवादा की ओर जाने के लिए मेट्रो स्टेशन पहुंची थी। यहां एक मेट्रो के बंद होते दरवाजे में गीता का पल्लू जा अटका। जिसके चलते वह मेट्रो ट्रेन के साथ प्लेटफार्म पर दूर तक घिसट गई। सौभाग्य से किसी यात्री ने इमरजेंसी बटन दबाया तो ट्रेन रुकी, वरना गीता की जान भी जा सकती थी। गीता को सिर में गंभीर चोट आई हैं।

 डीएमआरसी ने ट्वीट कर की दुर्घटना की पुष्टी

डीएमआरसी ने ट्वीट कर की दुर्घटना की पुष्टी

दिल्ली मेट्रो के एक वरिष्ठ अधिकारी ने इस दुर्घटना की पुष्टी की है। इसके अलावा दिल्ली मेट्रो ने ट्वीट के जरिए भी इसकी जानकारी दी है। ट्वीट में मेट्रो सेवा के बाधित होने के बारे में भी बताया गया है। गीता शास्त्री नगर की रहने वाली है। बता दें कि मेट्रो रेल के आगे आत्महत्या करने के कई मामले भी सामने आते रहे हैं।

नोएडा सेक्टर 16 मेट्रो स्टेशन पर ट्रेन के आगे कूदकर महिला ने दी जान



मेट्रो ट्रेन के आगे कूदकर की आत्महत्या

मेट्रो ट्रेन के आगे कूदकर की आत्महत्या

नोएडा के सेक्टर 16 मेट्रो स्टेशन पर एक महिला ने मेट्रो के आगे कूदकर जान दे दी है। इसकी वजह से कुछ देर के लिए मेट्रो सेवा प्रभावित रही। पुलिस ने महिला के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। महिला का नाम शीतल श्रीवास्तव बताया गया। चश्मदीदों के मुताबिक महिला पहले से मेट्रो प्लेटफॉर्म पर ट्रेन ने आने का इंतजार कर रही थी। जैसे ही ट्रेन आई उसने छलांग लगा दी। फिर ड्राइवर ने इमरजेंसी ब्रेक लगाकर ट्रेन को रोकने का प्रयास किया लेकिन सब कुछ इतनी जल्दी में हुआ कि महिला को बचा पाना संभव नहीं था।

जानिए बिहार की आरा लोकसभा सीट के बारे में विस्तार से

जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

दक्षिण दिल्ली की जंग, आंकड़ों की जुबानी
वर्ष
प्रत्याशी का नाम पार्टी स्‍थान वोट वोट दर मार्जिन
2014
रमेश बिधुरी भाजपा विजेता 4,97,980 45% 1,07,000
कर्नल देवेंद्र सहरावत आप उपविजेता 3,90,980 36% 0
2009
रमेश कुमार कांग्रेस विजेता 3,60,278 49% 93,219
रमेश बिधुरी भाजपा उपविजेता 2,67,059 37% 0
2004
विजय कुमार मल्होत्रा भाजपा विजेता 2,40,654 50% 16,005
आर के आनंद कांग्रेस उपविजेता 2,24,649 47% 0
1999
विजय कुमार मल्होत्रा भाजपा विजेता 2,61,230 52% 29,999
डॉ मनमोहन सिंह कांग्रेस उपविजेता 2,31,231 46% 0
1998
सुषमा स्वराज भाजपा विजेता 3,31,756 59% 1,16,713
अजय माकन कांग्रेस उपविजेता 2,15,043 38% 0
1996
सुषमा स्वराज भाजपा विजेता 2,94,570 56% 1,14,006
कपिल सिब्बल कांग्रेस उपविजेता 1,80,564 34% 0
1991
मदन लाल खुराना भाजपा विजेता 2,08,728 50% 50,723
रोमेश भंडारी कांग्रेस उपविजेता 1,58,005 38% 0
1989
मदन लाल खुराना भाजपा विजेता 2,82,904 59% 1,04,994
सुभाष चोपड़ा कांग्रेस उपविजेता 1,77,910 37% 0
1984
ललित माकन कांग्रेस विजेता 2,15,898 61% 85,051
विजय कुमार मल्होत्रा भाजपा उपविजेता 1,30,847 37% 0
1980
चरंजीत सिंह (पश्चिम मित्र कॉलोनी) कांग्रेस(आई) विजेता 1,50,513 48% 4,100
विजय कुमार मल्होत्रा जेएनपी उपविजेता 1,46,413 46% 0
1977
विजय कुमार मल्होत्रा बीएलडी विजेता 1,83,947 70% 1,07,557
चरणजीत सिंह कांग्रेस उपविजेता 76,390 29% 0
1971
शशि भूषण कांग्रेस विजेता 1,68,406 62% 71,590
बालराज मढोक BJS उपविजेता 96,816 36% 0
1967
बी मढोक BJS विजेता 1,05,611 55% 36,321
आर सिंह कांग्रेस उपविजेता 69,290 36% 0

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
saree of woman got stuck in metro train door made her dragged on the platform
For Daily Alerts

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more