• search

राहुल गांधी की जैकेट क्या वाक़ई 65 हज़ार की है?

By Bbc Hindi
Subscribe to Oneindia Hindi
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts
    राहुल गांधी की जैकेट क्या वाक़ई 65 हज़ार की है?

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ड्रेसिंग सेंस और कपड़ों की चर्चा होती रहती है लेकिन उनके एक सूट ने पूरे देश में सुर्खियां बटोरी थीं. सूट इसलिए ख़ास था क्योंकि इस पर सुनहरे तारों से नरेंद्र मोदी लिखा था जो दूर से स्ट्रिप की तरह दिख रहा था.

    इस सूट की नीलामी हुई और सूरत के हीरा कारोबारी लालजीभाई पटेल ने इसे 4.31 करोड़ रुपए का ख़रीदा.

    मोदी के इस सूट के बाद अब चर्चा एक जैकेट की है, जिसे मोदी ने नहीं बल्कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पहना है.

    नगालैंड में विधानसभा चुनाव होने हैं और इसी सिलसिले में कांग्रेसी नेता राज्य में हैं. वो चुनावी अभियान की शुरुआत करने के लिए शिलॉन्ग में थे. नीली डेनिम जींस और ब्लैक जैकेट पहने राहुल इस इवेंट में युवाओं से मिलते, बात करते दिखे.

    क्या हुआ जैकेट पहनी तो?

    लेकिन उनकी तस्वीर सामने आई तो सबसे ज़्यादा चर्चा जैकेट की होने लगी.

    भाजपा मेघालय ने ये तस्वीर ट्वीट की और साथ ही ई-कॉमर्स कंपनी की वेबसाइट का एक स्क्रीनशॉट भी, जिसमें उससे मेल खाती जैकेट देखी जा सकती है.

    भाजपा ने तस्वीर के साथ लिखा है, ''क्यों राहुल गांधी जी, सूट (तंज़) बूट की सरकार खुले भ्रष्टाचार से मेघालय के सरकारी ख़ज़ाना साफ़ कर रहे है? हमारे तकलीफ़ों पर गीत गाने के बजाय आप मेघालय की अपनी निकम्मी सरकार का रिपोर्ट कार्ड पेश करते तो अच्छा रहता. आपकी ये दोहरा चेहरा हमारा मज़ाक उड़ा रहा है!''

    इस पोस्ट में राहुल की तस्वीर के साथ जो जैकेट की फ़ोटो पोस्ट की गई है, उसमें ऊपर की तरफ़ बरबेरी लिखा है. साथ में लिखा है हार्टले टू-इन-वन जैकेट. और दाम लिखे हैं 995 डॉलर. अगर डॉलर-रुपए का एक्सचेंज रेट 64 मान लिया जाए तो रुपए में ये जैकेट 63 हज़ार से ज़्यादा की बैठती है.

    अब बात बरबरी की. बरबरी एक ब्रिटिश लग्ज़री फ़ैशन हाउस है जिसका मुख्यालय लंदन में है. इस फ़ैशन हाउस को ट्रेंच कोट, रेडी-टू-वियर आउटरवियर, फ़ैशन एक्सेसरीज़, फ़्रैग्नेंस और कॉस्मेटिक के लिए जाना जाता है.

    'फ़टे हुए कुर्ते से 65 हज़ार की जैकेट तक'

    इस जैकेट की तस्वीर वायरल हो गई और सोशल मीडिया पर लोग इसकी चर्चा करने लगे. स्वास्तिक बंटा हैंडल से लिखा गया है, ''राहुल गांधी के अच्छे दिन आए. फ़टे कुर्ते से सीधा 63 हज़ार की जैकेट तक.''

    बींग ह्यूमर हैंडल से तंज़ कसा गया है, ''फ़टे कुर्ते से 60 हज़ार रुपए की जैकेट तक. गरीबी एक मानसिक स्थिति है.''

    श्रीकांत ने नोटबंदी के दौर में राहुल गांधी के बैंक की लाइन में खड़ी हुई तस्वीर और जैकेट का ज़िक्र किया है. उन्होंने लिखा है, ''फ़टे हुए कुर्ते से लेकर सिर्फ़ चार हज़ार रुपए के लिए बैंक की लाइन में ख़ड़ा होना और अब 65 हज़ार रुपए की जैकेट''

    कुछ लोगों ने किया बचाव

    लेकिन दूसरे लोग इस चर्चा पर भी सवाल उठा रहे हैं. कई लोगों का कहना है महंगी जैकेट की नकल स्थानीय बाज़ारों में मिलती है और उनके दाम भी काफ़ी कम होते हैं.

    सुभाष पई ने लिखा है, ''ऐसा लगता है कि कई लोग राहुल गांधी के ये जैकेट पहनने का इंतज़ार ही कर रहे थे, ताकि उन पर पलटवार किया जा सके.''

    प्रिया ने लिखा है, ''आज की ताजा खबर : राहुल का 70 हजारी जैकेट और रोते-बिलखते भक्तगण.''

    कांग्रेस पिछले 15 साल से मेघालय में राज कर रही है. 60 सीटों वाली विधानसभा के लिए चुनाव 27 फ़रवरी को होने हैं. इसी दिन नगालैंड में भी मतदान है. मतगणना 3 मार्च को होनी है.

    जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

    BBC Hindi
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Rahul Gandhis jacket is really 65 thousand rupees

    Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
    पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

    X