• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कनिका कपूर के खिलाफ FIR पर उठे सवाल, अब सीएमओ ने पत्र लिखकर की ये मांग

|

लखनऊ। कोरोना वायरस से संक्रमित सिंगर कनिका कपूर के खिलाफ दायर लापरवाही मामले को लेकर कंट्रोवर्सी बढ़ती ही जा रही है। लखनऊ के मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा लिखित एक कथित पत्र सोशल मीडिया में सामने आया है जिसमें उन्होंने शुक्रवार को दर्ज की गई पहली एफआईआर में सुधार की मांग की है। हालांकि खुद सीएमओ नरेंद्र अग्रवाल ने पत्र पर किसी भी तरह की टिप्पणी करने से इनकार कर दिया और इसे झूठा बताया है। बता दें कि कनिका कपूर के पॉजिटिव पाए जाने के बाद उन्हें आइसोलेशन में रखा गया है।

कनिका कपूर को है कोरोना वायरस

कनिका कपूर को है कोरोना वायरस

बता दें कि कनिका कपूर इसी महीने लंदन से भारत लौटी थीं जिसके बाद वह कई पार्टियों में शामिल हुई थीं। उनके कोरोना पॉजिटिव आने से राजनीतिक जगत में हड़कंप मच गया कई नेताओं ने खुद को आइसोलेशल में भेज दिया था। कनिका कपूर पर यूपी सरकार ने केस भी दर्ज किया है जिसके बाद अब इस मामले ने तूल पकड़ लिया। कनिका पर भारतीय दंड संहिता की धारा 188, 269, और 270 के तहत मामला दर्ज किया गया है। यह शिकायत लखनऊ के मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा दर्ज की गई थी।

लखनऊ हवाई अड्डे जांच की बात कही गई

लखनऊ हवाई अड्डे जांच की बात कही गई

शिकायत में दावा किया गया है कि जब कनिका की 14 मार्च को लखनऊ हवाई अड्डे पर जांच की गई तो उन्हें तेज बुखार था, जिसके बात उन्हें आइसोलेशन में रहने की सलाह दी गई थी लेकिन उन्होंने इसे नजरअंदाज कर दिया। लखनऊ आने के बाद, 41 वर्षीय गायिका में शुक्रवार को कोरोना की पुष्टि हुई थी। पार्टी के अलावा वह एक होटल में भी रुकी थीं जिसके बाद अब उस पांच सितारा होटल को बंद कर दिया गया है।

वायरल चिट्ठी में किया गया ये दावा

वायरल चिट्ठी में किया गया ये दावा

कनिका कपूर ने हालांकि दावा किया है कि वह 11 मार्च को लखनऊ आई थीं। उनका यह भी कहना है कि लंदन से उड़ान भरने के बाद 9 मार्च को वह मुंबई एयरपोर्ट से भारत पहुंची थीं। अब, लखनऊ मुख्य चिकित्सा अधिकारी का एक कथित पत्र सामने आया है जिसमें उन्होंने दर्ज की गई शिकायत में सुधार की मांग की है। पत्र में कहा गया है कि सिंगर 14 मार्च को नहीं बल्कि 11 मार्च को लखनऊ पहुंची थी और उनका परिक्षण मुंबई एयरपोर्ट पर ही किया गया था।

सीएमओ ने वायरल पत्र को बताया फेक

सीएमओ ने वायरल पत्र को बताया फेक

लखनऊ के मुख्य चिकित्सा अधिकारी नरेंद्र अग्रवाल से जब इस पत्र के बारे में पूछा गया तो उन्होंने इसकी पुष्टि करने से अनकार कर दिया और चिट्ठी को झूठा बताया है। लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल विश्वविद्यालय के डॉक्टरों का कहना है कि उन्होंने कनिका कपूर के साथ पार्टी में शामिल हुए 100 से अधिक लोगों का टेस्ट किया है, सभी रिपोर्ट अभी तक नकारात्मक आए हैं। इसमें राज्य के स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह, राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और उनके बेटे दुष्यंत सिंह से लिए गए नमूने भी शामिल हैं।

Janata Curfew : कोरोना से बचने के लिए सलमान ने 'दबंग' अंदाज में की लोगों से अपील, कहा- ये कोई पब्लिक हॉलिडे नहीं है..

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Questions raised on Kanika Kapoor FIR another letter of CMO went viral
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X