• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

लोकसभा चुनाव 2019: अनंतनाग लोकसभा सीट के बारे में जानिए

|

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर की अनंतनाग लोकसभा सीट 4 जुलाई 2016 में तत्कालीन सांसद महबूबा मुफ्ती के इस्तीफे से रिक्त हुई थी। अपने पिता पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय मुफ्ती मुहम्मद सईद के निधन के बाद महबूबा ने अनंतनाग विधानसभा सीट का चुनाव लड़ा था और जीता था। इसके बाद उन्होंने अनंतनाग की संसदीय सीट से इस्तीफा दे दिया था। हिंसा के चलते यह सीट दो वर्षों से भी अधिक समय खली पड़ी है । यहाँ दो बार उपचुनाव टालने पड़े और अब 2019 के लोकसभा चुनाव के समय ही इस सीट पर भी चुनाव होगा ।

profile of Anantnag lok sabha constituency

कश्मीर यूनिवर्सिटी से लॉ ग्रेजुएट महबूबा मुफ्ती ने 2014 का लोकसभा चुनाव अनंतनाग सीट पर लड़ा था और निकटतम प्रतिद्वंद्वी जेकेएनपीपी के मिर्जा महबूब बेग को 65,417 मतों से हराया था । सामान्य कटेगरी की इस सीट पर 2014 में कुल मतदाताओं की संख्या 1,301,023 थी । इनमे पुरुष मतदाता की संख्या 684,820 और महिलाओं की संख्या 616,203 थी । 2014 में यहाँ कुल 375,279 लोगों ने मतदान किया । जिसमें 211,582 पुरुषों और 163,697 महिलाओं ने वोट डाले । मतदान का प्रतिशत 29 था । महबूबा को 200,429 वोट और जेकेएनपीपी के मिर्जा महबूब बेग को 135,012 वोट मिले थे।

कश्मीर में बने हालात के चलते अनंतनाग लोकसभा सीट पर दो बार उपचुनाव टालना पड़ा । अनंतनाग संसदीय सीट देश में एक मात्र ऐसा लोकसभा क्षेत्र है, जहां हालात के चलते उपचुनाव तक नहीं हो पाया। इस वजह से क्षेत्र के विकास को भी काफी बाधा पहुंची है। चुनाव आयोग ने नौ अप्रैल 2017 को श्रीनगर लोकसभा उप चुनाव करवाया गया था। इसमें भारी तादाद में हिंसक वारदातें हुईं और आठ लोगों की जान गई थी। केवल 7.14 फीसदी मतदान हुआ था। इसके बाद आयोग ने राज्य सरकार के आग्रह पर 12 अप्रैल 2017 को होने वाले अनंतनाग लोकसभा सीट पर उपचुनाव को 25 मई 2017 तक स्थगित कर दिया था लेकिन 25 मई को भी हालात दुरुस्त न होने के चलते इसे अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया। अब 2019 के लोकसभा आम चुनाव के साथ ही यह सीट भरी जाएगी। लेकिन सेना के आपरेशन आल आउट के बावजूद अनंत नाग में हालात में बहुत सुधार नहीं है।

पिछले साल जून में अनंतनाग में सीआरपीएफ कैंप पर हमला हुआ था । सुबह करीब 3 बजे आतंकियों के हमले में सीआरपीएफ के 8 जवान घायल हो गए थे ।अनंतनाग संसदीय सीट देश में एक मात्र ऐसा लोकसभा क्षेत्र है, जहां हालात के चलते उपचुनाव तक नहीं हो पाया। इस वजह से लोकसभा में इस क्षेत्र की आवाज तो मौन रही ही, विकास को भी काफी बाधा पहुंची है।अनंतनाग संसदीय क्षेत्र में16 विधानसभा क्षेत्र हैं, जिनके नाम त्राल, पांपोर, पुलवामा, राजपोरा, वाची, पहलगाम, बिजबिहाड़ा, शोपियां, नूराबाद, कुलगाम, होमशलीबाग, अनंतनाग, देवसर, डुरू, कोकरनाग और शंगस हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
profile of Anantnag lok sabha constituency
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X