• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

नई सरकार में पीएम मोदी का कॉरपोरेट अवतार, हर 3 महीने में देखेंगे मंत्रियों का रिपोर्ट कार्ड

|

नई दिल्ली। बंपर जनादेश के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में नई सरकार ने अपना कार्यभार संभाल लिया है। मंत्रियों के विभागों का बंटवारा भी हो चुका है और लगभग सभी मंत्रालय नई सरकार में अपनी आगे की रणनीति को लेकर जुट चुके हैं। इस बीच बुधवार को केंद्रीय मंत्रिपरिषद की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सभी मंत्रालयों को अपनी प्राथमिकताओं की जानकारी देंगे। इससे पहले सोमवार को सभी मंत्रालयों के सचिवों की एक बैठक हुई, जिसमें सरकार की ओर से मंत्रालयों को दिए गए टारगेट की जानकारी दी गई। जिसके बाद मंत्रालयों में कामकाज को लेकर खास तैयारी शुरू हो गई। इस बार मोदी सरकार में जिन योजनाओं पर खास फोकस किया है उनमें देश के किसानों की आय दोगुनी करना और सबको पक्का घर देने की भी योजना प्रमुख रूप से शामिल है।

पीएम मोदी ने कब-कब जवानों के बीच पहुंचकर सबको चौंकाया ?

मंत्रालयों को दिए गए टारगेट पर होगी नजर

मंत्रालयों को दिए गए टारगेट पर होगी नजर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मंत्रालयों के सचिवों के साथ हुई बैठक के बाद सभी विभागों में आगे की रणनीति को लेकर खास तैयारी शुरू हो गई। कृषि मंत्रालय के अधिकारी अपने विभाग के मंत्रियों को प्रेजेंटेशन देते रहे कि खेती-किसानी को कैसे आसान बनाया जाएगा। किसानों की आय कैसे बढ़ेगी। ऐसे ही दूसरे मंत्रालयों में भी माथापच्ची का दौर चलता रहा। टारगेट तय करके उस पर काम करने का रोडमैप बनता रहा। इसके पीछे मुख्य वजह है कि पीएम मोदी खुद इस बार कॉरपोरेट स्टाइल में काम कर रहे हैं, हर तीन महीने में अपने मंत्रियों के काम की समीक्षा करेंगे। मंत्रियों को रिजल्ट देना है, ऐसा नहीं करने पर उनकी छुट्टी भी हो सकती है।

इसे भी पढ़ें:- मंत्रालय में बदलाव के बाद राहुल-प्रियंका से क्यों मिले नवजोत सिद्धू

PMO तैयार करेगा मंत्रालयों के प्रदर्शन की रिपोर्ट

PMO तैयार करेगा मंत्रालयों के प्रदर्शन की रिपोर्ट

जानकारी के मुताबिक, जहां एक ओर अलग-अलग मंत्रालयों में आगे की रणनीति को लेकर योजनाएं बनाई जा रही हैं, दूसरी ओर प्रधानमंत्री कार्यालय भी रोज के कामकाज के आधार पर मंत्रालयों के प्रदर्शन की रिपोर्ट तैयार करेगा, जिससे ये साफ हो सके कि जनता के लिए जो योजनाएं तैयार की जा रही हैं उसका लाभ क्या जरूरतमंद लोगों तक पहुंच रहा है। यही नहीं खुद प्रधानमंत्री मोदी की नजर उन मंत्रालयों पर है जिन पर 2022 तक अहम योजनाओं को जमीन पर उतारकर जनता को लाभ देने की जिम्मेदारी है।

मिशन 2022 से जुड़े मंत्रालयों पर होगी पीएम मोदी की खास नजर

मिशन 2022 से जुड़े मंत्रालयों पर होगी पीएम मोदी की खास नजर

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कई बड़ी योजनाओं को 2022 तक ही पूरा करने का लक्ष्य रखा है। पीएम मोदी ने जिन योजनाओं को 2022 तक पूरा करने का टारगेट रखा हुआ है, उनमें किसानों की आय दोगुनी करना सबसे अहम है। साथ ही सबको पक्का घर देने की भी योजना शामिल है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वादा किया था कि साल 2022 तक देश में सबको पक्का घर मिल जाएगा। ऊर्जा मंत्रालय के अंतर्गत हर घर में बिजली पहुंचाना भी शामिल है। वहीं मंत्रिपरिषद की बैठक में वो सभी मंत्रालयों को अपनी प्राथमिकताएं बताएंगे। माना जा रहा है कि इस बैठक में प्रधानमंत्री अपनी सरकार के रोडमैप को सामने रखते हुए लघु और दीर्घकालिक एजेंडे पर चर्चा कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें:- आंध्र प्रदेश में 5 डिप्टी सीएम, जानिए और किन राज्यों में हैं कितने उपमुख्यमंत्री

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Narendra Modi Meets union council of ministers govt roadmap for farmers will review work Ministers.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X