• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

नागालैंड का सशस्त्र विद्रोही समूह अलग झंडा और संविधान पर अड़ा, मोदी सरकार की बढ़ी मुश्किलें

|

नई दिल्ली। नागालैंड के सशस्त्र विद्रोही समूह (एनएससीएन-आईएम ) और केंद्र सरकार के बीच शांति वार्ता को लेकर अब नई अड़चनें आ रही हैं। एनएससीएन-आईएम अलग झंडा और संविधान पर अड़ा हुआ है, विद्रोही समूह की मांग है कि वह अलग ध्वज और संविधान के बिना केंद्र सरकार के साथ सम्मानजनक शांति वार्ता नहीं करेगा। बता दें कि शुक्रवार को एनएससीएन-आईएम की एक साझा काउंसिल बैठक हुई जिसमें नागा शांति समझौता को लेकर विचार विमर्श किया गया।

Nagaland Naga rebel organizations insists on separate flag and constitution

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बैठक नागालैंड में दीमापुर के करीब हर्बन के केंद्रीय मुख्यालय में आयोजित की गई थी। बताया जा रहा है कि इस मीटिंग में राजनैतिक और ऐतिहासिक अधिकारों पर और भारत-नागा राजनैतिक वार्ता पर विचार-विमर्श किया गया। रिपोर्ट के मुताबिक शांति वार्ता को लेकर एनएससीएन-आईएम ने ऐसे समय पर कड़ा रुख अख्तियार किया है जब पहले से ही प्रदेश के राज्यपाल और वार्ताकार आरएन रवि के बीच मतभेद चरम पर है। इस संबंध में विद्रोही समूह ने एक प्रेस रिलीज भी जारी किया है।

बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता संजय मिश्रा ने पीएम मोदी की जमकर की तारीफ, कहा- मेरे दादाजी का सपना पूरा हुआ

इसमें कहा गया है कि सभा ने सर्वसम्मित से इस प्रस्ताव को पास किया है कि बिना अगल ध्वज और संविधान के केंद्र सरकार के साथ शांति वार्ता संभव नहीं है। बयान में यह भी कहा गया है कि 'अंतिम समझौते' के लिए एनएससीएन-आईएम और केंद्र सरकार को 3 अगस्त, 2015 में हुए ऐतिहासिक फ्रेमवर्क समझौते के अनुसार ही आगे बढ़ना चाहिए। बता दें कि पिछले महीने एनएससीएन-आईएम ने दावा किया था कि केंद्र ने नागा लोगों की संप्रभुता को मान्यता दी थी। साल 2015 में इस बात पर समझौता हुआ था कि नागा लोग सह-अस्तित्व में रहेंगे लेकिन भारत में विलय नहीं करेंगे। बता दें कि महासचिव थुइलिंगेंग मुइवा सहित एनएससीएन-आईएम के शीर्ष नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल नई दिल्ली में डेरा डाले हुए है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Nagaland Naga rebel organizations insists on separate flag and constitution
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X