मानवता की मिसाल: मुस्लिम नौजवानों ने किया हिंदू का दाह संस्कार

Subscribe to Oneindia Hindi

ठाणे। मुंबई में कुछ मुस्लिम नौजवानों ने एक हिंदू का धार्मिक रीति से दाह संस्कार कर हिंदू-मुस्लिम भाईचारे की मिसाल पेश की है। घटना मुंबई के मुंब्रा इलाके की है। यहां एक बुजुर्ग के निधन के बाद उनका अंतिम संस्कार करने के लिए उनकी बीवी के अलावा कोई नहीं था। ऐसी परिस्थिति में कुछ मुस्लिम युवक आगे आए और बुजुर्ग की अर्थी बनाकर उनसे श्मशान ले गए और वहां दाह संस्कार किया।

READ ALSO: मुस्लिम बच्चों को कुरान पढ़ा रही है 18 साल की हिंदू लड़की

hindu muslim1

आधी रात को दाह संस्कार के लिए ले गए मुस्लिम युवक

मुंब्रा के कौसी इलाके के महमूद अपार्टमेंट में 65 साल के बुजुर्ग वामन कदम का अचानक निधन हो गया। उनके पास उनकी पत्नी के सिवा कोई नहीं था। रात हो जाने के बावजूद दाह संस्कार के लिए बुजुर्ग की लाश को श्मशान ले जाने वाला कोई नहीं मिला।

hindu muslim4

जब यह बात कुछ मुस्लिम युवकों ने जानी तो वे खुद आकर बुजर्ग के अंतिम संस्कार करने के काम में लग गए।

hindu muslim3

बनाई अर्थी, ले गए श्मशान

मुस्लिम युवकों ने अर्थी और अंतिम संस्कार के लिए अन्य सामान खुद जुटाए। उन्होंने बांस और रस्सी से अर्थी बनाई। फिर मटका, अगरबत्ती आदि सामानों के साथ अर्थी पर लाश को उठाकर रात के तीन बजे श्मशान घाट ले गए और वहां दाह संस्कार किया।

hindu muslim2

युवकों की इलाके में हो रही सराहना

मुस्लिम युवकों के इस काम की इलाके में सराहना हो रही है। सोशल मीडिया पर भी इस घटना और इसकी तस्वीरें वायरल हो रही हैं। मुंब्रा कलवा के विधायक जितेंद्र ने भी फेसबुक पर पोस्ट लिखकर युवकों की प्रशंसा की।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
In Mumbai, some muslim youths performed last rites of a hindu who was dead in his apartment. A human story indeed.
Please Wait while comments are loading...